NDTV Khabar

TOP 5 NEWS: महालक्ष्मी एक्सप्रेस का बचाव कार्य पूरा, जम्मू-कश्मीर में तैनात किए गए और 10 हजार जवान

सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच शनिवार को जम्मू-कश्मीर के शोपियां में हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी मार गिराए गए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
TOP 5 NEWS: महालक्ष्मी एक्सप्रेस का बचाव कार्य पूरा, जम्मू-कश्मीर में तैनात किए गए और 10 हजार जवान
नई दिल्ली:

महाराष्ट्र के बदलापुर स्टेशन से पहले शुक्रवार रात से बाढ़ी में फंसी महालक्ष्मी एक्सप्रेस में सवार सभी यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया गया. बताया गया है ट्रेन क़रीब 900 यात्री सवार थे. भारतीय वायुसेना, नौसेना, सेना और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) ने यात्रियों को बचाने के लिए बड़े पैमाने पर हवाई और सतही अभियान शुरू किया था. महालक्ष्मी एक्सप्रेस शुक्रवार सुबह 8 बजे मुंबई से कोल्हापुर के लिए रवाना हुई थी. उधर जम्मू-कश्मीर के शोपियां में शनिवार को सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी मार गिराए गए. इनमें एक जैश का टॉप कमांडर है, जिसकी पहचान मुन्ना लाहौरी के रूप में हुई है. जम्मू-कश्मीर से ही एक अन्य खबर ये है कि यहां आतंवाद विरोधी कार्रवाई को और मजबूती देने के लिए केंद्र सरकार ने राज्य में 10 हजार अतिरिक्त जवानों की तैनाती की है. अतिरिक्त जवानों की तैनाती का यह फैसला राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के जम्मू-कश्मीर के दो दिन के दौरे से लौटने के बाद लिया गया है.  वहीं सपा नेता और रामपुर सांसद आजम खान को एक बार फिर करारा झटका लगा है इस बार आजम खान के जौहर ट्रस्ट को लीज पर दी गई 7.135 हेक्टेयर (150 बीघा लगभग) जमीन के पट्टे को रद्द कर दिया गया है. पट्टा रद्द किए जाने की कार्रवाई एसडीएम सदर कोर्ट से की गई है. दूसरी ओर कांग्रेस ने पिछले पांच वर्षों में पेड़ काटे जाने के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि मोदी सरकार ने एक करोड़ से अधिक पेड़ कटवा कर देश के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है. 

बचाए गए महालक्ष्मी एक्सप्रेस में फंसे सभी यात्री


महाराष्ट्र के बदलापुर स्टेशन से पहले शुक्रवार रात से बाढ़ी में फंसी महालक्ष्मी एक्सप्रेस में सवार सभी यात्रियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया गया. बताया गया है ट्रेन क़रीब 900 यात्री सवार थे. भारतीय वायुसेना, नौसेना, सेना और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) ने यात्रियों को बचाने के लिए बड़े पैमाने पर हवाई और सतही अभियान शुरू किया था. महालक्ष्मी एक्सप्रेस शुक्रवार सुबह 8 बजे मुंबई से कोल्हापुर के लिए रवाना हुई थी.

iacl3jco

ता दें कि भारी बारिश की वजह से उल्लास नदी का पानी रेलवे ट्रैक पर आने से ट्रेन के दोनों तरफ पायदान तक जलभराव होने के बाद ट्रेन को रोक दिया गया. एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और रेलवे की टीमें मौके पर मुसाफिरों को रेस्क्यू करने में जुटी हैं. यही नहीं जल,थल,वायु तीनों सेनाओं की मदद ली गई है. आज सुबह से ट्रेन में फंसे इन यात्रियों को ख़ासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. पटरियों पर घुटने भर पानी भरा है जिससे कोई ट्रेन आगे नहीं बढ़ पा रही है. हालांकि देर से ही सही पर लोगों को ट्रेन में खाने-पीने की चीजें मुहैया कराई गईं.


अजीत डोभाल के लौटते ही केंद्र ने जम्मू-कश्मीर से में की 10 हजार अतिरिक्त जवानों की तैनाती

जम्मू-कश्मीर में आतंवाद विरोधी कार्रवाई को और मजबूती देने के लिए केंद्र सरकार ने राज्य में 10 हजार अतिरिक्त जवानों की तैनाती की है. बता दें कि अतिरिक्त जवानों की तैनाती का फैसला राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल के जम्मू-कश्मीर के दो दिन के दौरे से लौटने के बाद लिया गया है. सूत्रों के अनुसार अपने दौरे के दौरान अजीत डोभाल ने राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कानून व्यवस्था को लेकर बैठक की थी. वहीं, जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजी दिलबाग सिंह ने बताया कि वह पहले से ही उत्तरी कश्मीर में अतिरिक्त सैनिकों की तैनाती की मांग करते रहे हैं. अतिरिक्त जवानों की तैनाती उनके आग्रह के बाद ही हुई है. उधर, गृहमंत्रालय द्वारा जारी किए गए ऑर्डर में कहा गया है कि अतिरिक्त जवानों की तैनाती इसलिए की जा रही है ताकि राज्य में कानून-व्यवस्था बेहतर की जा सके. 

vhntu12g

दिलबाग सिंह ने बताया  कि उत्तरी कश्मीर में जवानों की संख्या जरूरत से भी कम है. इसलिए हमें यहां अतिरिक्त जवानों की जरूरत थी.  100 कंपनियों को हवाई मार्ग से उत्तरी कश्मीर भेजा गया है. हमनें पहले ही इसकी मांग की थी. उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में जवानों की अतिरिक्त तैनाती को लेकर किए जाने वाले अन्य दावे तथ्यों से दूर हैं. सूत्रों के अनुसार जम्मू-कश्मीर भेजे गए जवानों को देश के अलग-अलग इलाकों से चुना गया है.

शोपियां में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ मे जैश का टॉप कमांडर मुन्ना लाहौरी समेत दो आतंकी ढेर

सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच शनिवार को जम्मू-कश्मीर के शोपियां में हुई मुठभेड़ में दो आतंकवादी मार गिराए गए. पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने शनिवार तड़के शोपियां शहर के बोनबाजार इलाके में घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया. पुलिस अधिकारी ने कहा कि जैसे ही छिपे हुए आतंकवादियों के चारों ओर घेराबंदी कड़ी की गई, उन्होंने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी करनी शुरू कर दी और जवाबी कार्रवाई में दो आतंकवादी मारे गए थे.

indian army


सेना के साथ मुठभेड़ में जैश का टॉप कमांडर मारा गया है. सेना ने आतंकी की पहचान मुन्ना लाहौरी के रूप में की है. मुन्ना लाहौरी आईईडी बनाने के लिए जाना जाता था. मुन्ना लाहौरी पर बेनिहाल में किए गए कार ब्लॉस्ट का भी आरोप था. लाहौरी ने कई बार सेना के काफिले को भी निशाना बनाने की कोशिश की थी. गौरतलब है कि सेना के साथ मुठभेड़ की यह कोई पहली घटना नहीं है. इससे पहले सोपोर कस्बे में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में एक आतंकवादी मारा गया था. पुलिस ने यह जानकारी दी थी.


आजम खान को लीज पर दी गई 150 बीघा जमीन का पट्टा हुआ रद्द

सपा नेता और रामपुर सांसद आजम खान को एक बार फिर करारा झटका लगा है इस बार आजम खान के जौहर ट्रस्ट को लीज पर दी गई 7.135 हेक्टेयर(150 बीघा लगभग) जमीन के पट्टे को रद्द करने की कार्रवाई की गई है. पट्टा रद्द किए जाने की कार्रवाई एसडीएम सदर कोर्ट से की गई है. इस के संबंध में सरकारी अधिवक्ता अजय तिवारी ने बताया कि यह जमीन शासन द्वारा मोहम्मद जौहर अली ट्रस्ट के संयुक्त सचिव नसीर खान को 24 जून 2013 को गवर्नमेंट ग्रांट एक्ट के तहत पट्टे पर दी गई थी. यह पट्टा 30 साल के लिए हुआ था जबकि इस जमीन की मूल श्रेणी रेत में दर्ज थी. चूंकि रेत की जमीन का पट्टा नहीं होना चाहिए था फिर ऐसा कर दिया गया. इस संबंध में तहसीलदार द्वारा रिपोर्ट की गई. अब उपजिलाधिकारी सदर ने इस जमीन की मूल श्रेणी यानी रेत में दर्ज करने के आदेश दे दिए. जिसके चलते यह पट्टा निरस्त कर दिया गया है और जमीन को मूल श्रेणी रेत में दर्ज करने के आदेश किए गए हैं.

vkib5vgo


दरअसल उत्तर प्रदेश में सपा सरकार के दौरान साल 2013 में आजम खान ने उस जमीन का लैंड यूज बदलवा दिया और सरकारी अनुदान दी जाने वाली जमीन में शामिल करा दिया था. अब सरकार बदलने से जब आजम खान के खिलाफ तमाम तरह की जांच पड़ताल शुरु हुई तो राजस्व विभाग ने इसकी भी जांच कर इसके भू उपयोग के बदलने को गैर कानूनी बताया है और कहा है कि नदी के किनारे रेत की जमीन पट्टे पर देना गैर कानूनी है. इसलिए इसका पट्टा निरस्त किया जाता है. 

कांग्रेस ने केंद्र पर लगाया 5 साल में 1 करोड़ पेड़ कटवाने का आरोप

टिप्पणियां

 कांग्रेस ने पिछले पांच वर्षों में पेड़ काटे जाने के प्रश्न पर पर्यावरण राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो की ओर से लोकसभा में दिए एक लिखित उत्तर का हवाला देते हुए शनिवार को आरोप लगाया है. कांग्रेस ने कहा कि मोदी सरकार ने एक करोड़ से अधिक पेड़ कटवा कर देश के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है. पार्टी के मुख्य प्रवक्त रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि पेड़ जीवन है. पेड़ ऑक्सीजन देते हैं.

trees


पेड़ कार्बन डाइऑक्साइड सोखते हैं. पेड़ पर्यावरण के रक्षक हैं. लेकिन  मोदी सरकार ने 5 साल में 1,09,75,844 पेड़ कटवा डाले. उन्होंने सवाल किया कि क्या मोदी सरकार भविष्य से खिलवाड़ कर रही है? गौरतलब है कि शुक्रवार को लोकसभा में कुछ पूरक प्रश्नों के उत्तर में सुप्रियो ने कहा था कि विकास कार्यों के लिए एक पेड़ काटे जाने की स्थिति में उसके बदले कई पौधे लगाए जाते हैं.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement