रेजिडेंट डॉक्टरों ने महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री तावड़े को चिट्ठी लिखकर दी चेतावनी

रेजिडेंट डॉक्टरों ने महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री तावड़े को चिट्ठी लिखकर दी चेतावनी

मुंबई:

मंगलवार को यवतमाल में एक मेडिकल इंटर्न पर हमले के बाद सेन्ट्रल मार्ड (मेडिकल एसोसिएशन ऑफ़ रेज़िडेंट डॉक्टर्स) ने शिक्षा मंत्री विनोद तावड़े को चिट्ठी लिखकर चेतावनी दी है।

जुलाई में महाराष्ट्र मार्ड ने रेज़िडेंट डॉक्टरों की सुरक्षा समेत कई अन्य मुद्दों को लेकर हड़ताल की थी। सरकार और विनोद तावड़े के आश्वासन के बाद हड़ताल वापस ले ली गई थी। इसके बाद डायरेक्टर ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च ने राज्य के 14 मेडिकल कॉलेजों को 25 जुलाई तक सिक्योरिटी  ऑडिट रिपोर्ट देने को कहा था, लेकिन आखिरी तारीख के एक महीने बाद भी 14 में से केवल 3 मेडिकल कॉलेजों ने ही रिपोर्ट दी है।

तावड़े को चिट्ठी राज्य भर में डॉक्टरों पर हुए हमलों के 5 मामलों के संदर्भ में लिखी गई है। मार्ड का कहना है कि ऐसा लग रहा है कि जब तक हड़ताल जैसे कड़े कदम उठाने की बात न कही जाए, तब तक सरकार कोई कदम नहीं उठाती। सेन्ट्रल मार्ड ने कहा कि अगर 30 अगस्त तक सभी मेडिकल कॉलेजों ने सिक्योरिटी ऑडिट रिपोर्ट नहीं दी तो मार्ड अपनी ओर से कड़े कदम उठाएगा।  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मंगलवार को देर रात यवतमाल गवर्नमेंट कॉलेज में बाइक पर सवार तीन लोगों ने एक मेडिकल इंटर्न पर हमला कर दिया था। डॉक्टर रात में अस्पताल के केजुअल्टी विभाग के बाहर खड़ा था। इस दौरान बाइक पर सवार तीन लोग आए। उन्होंने उसका मोबाइल छीनने की कोशिश की और उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया। पीड़ित ऑपरेशन थिएटर में है और पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है।

मेडिकल एसोसिएशन ऑफ़ रेज़िडेंट डॉक्टर्स लंबे समय से अस्पताल परिसर में डॉक्टरों की सुरक्षा की मांग कर रहा है। जुलाई में महाराष्ट्र मार्ड ने रेज़िडेंट डॉक्टरों की सुरक्षा समेत कई अन्य मुद्दों पर हड़ताल भी की थी।