NDTV Khabar

कठुआ रेप केस : राम माधव बोले- BJP मंत्रियों के इस्तीफे महबूबा मुफ्ती को सौंपे जाएंगे

माधव राज्य के भाजपा विधायकों और विधानपरिषद सदस्यों की बैठक में शामिल हुए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कठुआ रेप केस : राम माधव बोले- BJP मंत्रियों के इस्तीफे महबूबा मुफ्ती को सौंपे जाएंगे

राम माधव (फाइल फोटो)

जम्मू: कठुआ में 8 साल की मासूम बच्ची से गैंगरेप और हत्या के मामले में आरोपियों का समर्थन करने वाले बीजेपी के दो मंत्रियों ने गुरुवार को इस्तीफे दे दिया. जिसके बाद भाजपा के वरिष्ठ नेता राम माधव ने शनिवार को कहा कि भाजपा के दो मंत्रियों के इस्तीफे आगे की कार्रवाई के लिए जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती को सौंपे जाएंगे. इन दोनों मंत्रियों ने कठुआ में बच्ची से बलात्कार और उसकी हत्या के आरोपियों के समर्थन में एक रैली में शामिल होकर विवाद उत्पन्न कर दिया था. राम माधव ने कहा कि मंत्रियों के इस्तीफे न केवल उसकी सहयोगी पीडीपी और जम्मू कश्मीर के लोगों बल्कि पूरे देश के लोगों की आशंकाएं दूर करने के लिए है.

माधव पार्टी के महासचिव एवं राज्य के पार्टी मामलों के प्रभारी भी हैं. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार से वन भूमि पर खानाबदोशों द्वारा अतिक्रमण पर आदिवासी विभाग के निर्देश को वापस लेने के लिए कहा गया था. माधव राज्य के भाजपा विधायकों और विधानपरिषद सदस्यों की बैठक में शामिल हुए.

यह भी पढ़ें : यूपी के मुजफ्फरनगर में 23 साल की महिला के साथ गैंगरेप, आरोपी फरार

टिप्पणियां
उन्होंने कहा कि प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सत शर्मा इस्तीफों को मुख्यमंत्री को भेजेंगे. उन्होंने कहा कि वन मंत्री लाल सिंह और उद्योग मंत्री चंद्र प्रकाश गंगा ने निर्मित की जा रही अवधारणों के मद्देनजर इस्तीफ दे दिया. उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि वह मुद्दे का राजनीतिकरण करने का प्रयास कर रही है जो कि नहीं किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘हम, भाजपा सहित जो कि सरकार में हैं, सुनिश्चित करेंगे कि लड़की को न्याय मिले और दोषियों को सजा हो.’ घटना की सीबीआई जांच की मांग के बारे में पूछे जाने पर भाजपा नेता ने कहा, ‘पुलिस ने जांच पूरी कर ली है और मामला अब अदालत में है. अब निर्णय अदालत को करना है.’

VIDEO : कश्‍मीर पर बोले राम माधव, पत्थर छोड़ो तो होगी बात​
यह सवाल करते हुए कि जांच सीबीआई को क्यों नहीं सौंपी जा रही है, लाल सिंह ने कहा था, ‘हम भी चाहते हैं कि असली आरोपियों को सजा मिले. हमने आपको सुना. हम यह जंगलराज नहीं चलने देंगे. वे किस तरह की जांच कर रहे हैं.’ हिंदू एकता मंच ने भी अपनी मांग को लेकर तिरंगे के साथ एक रैली निकाली थी. हालांकि भाजपा ने हिंदू एकता मंच से दूरी बना ली है. घटना और तिरंगे के इस्तेमाल पर महबूबा ने तीखी प्रतिक्रिया जतायी थी.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement