NDTV Khabar

आदरणीय पासवान जी, अगर इतना पर्याप्त स्टॉक है तो फिर पटना में प्याज़ 80 रुपये किलो क्यों बिक रहा है? बीच में कौन कमीशन खा रहा है : RJD

 देश में प्याज के बढ़ते दामों के बीच केंद्रीय खाद्य और उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने कहा है कि हम अभी स्टॉक लिमिट नहीं लगा सकते, क्योंकि अभी महाराष्ट्र में चुनाव है, ऐसे में हमें किसान विरोधी कहा जाएगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
आदरणीय पासवान जी, अगर इतना पर्याप्त स्टॉक है तो फिर पटना में प्याज़ 80 रुपये किलो क्यों बिक रहा है? बीच में कौन कमीशन खा रहा है : RJD

प्याज की कीमतें इस समय आसमान छू रही हैं

नई दिल्ली:

प्याज की कीमतें आसमान छू रही हैं. हालांकि केन्द्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान का कहना है कि प्याज का पर्याप्त स्टॉक है. उनके इस बयान पर आरजेडी ने कहा है कि अगर इतना ही पर्याप्त स्टॉक है तो पटना में प्याज 80 रुपये किलो क्यों बिक रहा है? आरजेडी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा गया, 'आदरणीय पासवान जी, अगर इतना पर्याप्त स्टॉक है तो फिर पटना में प्याज़ 80₹ किलो क्यों बिक रहा है? बीच में कौन कमीशन खा रहा है? नीतीश कुमार या सुशील मोदी बतायें?  इससे पहले पासवान ने अपने ट्विटर हैंडल पर जानकारी दी. ' केन्द्र के पास प्याज का पर्याप्त स्टॉक मौजूद है और अभी तक त्रिपुरा को 1850 टन, हरियाणा को 2000 टन और आंध्रप्रदेश को 960 टन प्याज हमने तत्काल 15.59 रु./किलो की दर से मुहैया करा दिया है. ये अधिकतम 23.90 रु./किलो की दर से उपभोक्ता को मुहैया कराएंगे.' वहीं मंगलवार को पासवान ने कहा था , 'अभी स्टॉक लिमिट नहीं लगा सकते, क्योंकि अभी महाराष्ट्र में चुनाव है, ऐसे में हमें किसान विरोधी कहा जाएगा. पासवान ने कहा, 'मैं खाद्य मंत्री और उपभोक्ता मामलों का मंत्री भी हूं. मुझे किसानों के बारे में भी सोचना है. महाराष्ट्र में चुनाव हैं. अगर अभी स्टॉक लिमिट लगाएंगे तो कहा जाएगा कि ये किसान विरोधी कदम है.'


टिप्पणियां

साथ ही उन्होंने कहा, 'जमाखोरों से कहेंगे कि हमारे पास सारे हथियार हैं. हमारे पास 35 हजार टन प्याज का स्टॉक है. जो भी राज्य NAFED से प्याज का स्टॉक लेना चाहते हैं, वो सस्ते दाम पर ले सकते हैं. सितंबर से नवंबर का महीना खतरनाक होता है. कई राज्यों में बाढ़ है, जिस वजह से प्याज का ट्रांसपोर्ट प्रभावित हो रहा. बता दें, राष्ट्रीय राजधानी और देश के अन्य हिस्सों में प्याज का खुदरा भाव 70 से 80 रुपये प्रति किलोग्राम की ऊंचाई पर पहुंच चुका है. रविवार को खबर आई थी कि केंद्र सरकार प्याज व्यापारियों के भंडारण की सीमा तय करने पर विचार कर रही है. सूत्रों का कहना है कि प्रमुख प्याज उत्पादक राज्यों में मानसून की भारी बारिश से आपूर्ति प्रभावित हुई है जिसकी वजह से इसकी कीमतों में उछाल आया है.

वहीं, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि उनकी सरकार राशन की दुकानों और मोबाइल वैनों के जरिये सस्ती दर पर प्याज बेचेगी. उन्होंने कहा कि सरकार प्याज की खरीद कर रही है और उसे सस्ते दामों पर बेचेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि आप सरकार प्याज की ऊंची कीमतों से परेशान उपभोक्ताओं को राहत देगी. केजरीवाल ने कहा, ‘‘सरकार प्याज की खरीद कर रही है. इसकी बिक्री दस दिन में शुरू होने की उम्मीद है. इस प्याज का दाम 24 रुपये किलो होगा. सरकार प्याज की बिक्री उचित दर दुकानों और मोबाइल वैन के जरिये करेगी.'



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement