NDTV Khabar

रॉबर्ट वाड्रा से पूछताछ का पहला दिन: 5 घंटे, 40 सवालों की बौछार, फिर भी आरोपों से इनकार, आज फिर बुलाया गया

Robert Vadra: रॉबर्ट वाड्रा से ईडी दफ्तर में मनी लॉन्डरिंग से जुड़े मामले (Money Laundering Case) में बुधवार को लगभग 5 घंटे की लंबी पूछताछ चली. सूत्रों के मुताबिक इस दौरान उनसे क़रीब 40 सवाल पूछे गए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. मनी लॉन्डरिंग मामले में हुई पूछताछ
  2. लंदन में संपत्ति खरीद का है मामला
  3. लगभग 5 घंटे तक चली पूछताछ
नई दिल्ली:

कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के दामादरॉबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) से ईडी दफ्तर में मनी लॉन्डरिंग से जुड़े मामले (Money Laundering Case) में बुधवार को लगभग 5 घंटे की लंबी पूछताछ चली. सूत्रों के मुताबिक इस दौरान उनसे क़रीब 40 सवाल पूछे गए. पूछताछ के दौरान रॉबर्ट वाड्रा (Robert Vadra) ने लंदन में किसी भी तरह की संपत्ति होने से इनकार किया. वहीं, वाड्रा ने यह भी कहा कि उनका संजय भंडारी से कोई लेना-देना नहीं है. प्रवर्तन निदेशालय गुरुवार को भी वाड्रा से पूछताछ करेगा. वाड्रा को गुरुवार सुबह 10:30 बजे बुलाया गया है. बता दें कि इससे पहले रॉबर्ट वाड्रा को उनकी पत्नी और कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ईडी दफ्तर छोड़ने गईं थीं. इस बीच प्रियंका गांधी ED दफ्तर से कांग्रेस दफ्तर पहुंचीं. प्रियंका ने NDTV से बात करते हुए कहा कि 'मैं अपने पति के साथ हूं.' वाड्रा की पत्नी प्रियंका गांधी सफेद टोयोटा लैंड क्रूजर गाड़ी में उनके साथ थीं और उनके पीछे एसपीजी के सुरक्षाकर्मियों की गाड़ियां थीं. उन्होंने वाड्रा को मध्य दिल्ली के जामनगर हाउस स्थित ED के दफ्तर के सामने छोड़ा और वहां से फौरन अपनी गाड़ियों के काफिले के साथ रवाना हो गईं. वाड्रा करीब तीन बजकर 47 मिनट पर ईडी के दफ्तर पहुंचे. उनके वकीलों का एक दल पहले ही वहां पहुंच चुका था.

 


 

बता दें कि यह पहला मौका है जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के जीजा वाड्रा संदिग्ध वित्तीय लेन-देन के आपराधिक आरोपों के सिलसिले में किसी जांच एजेंसी के समक्ष पेश हुए हैं. वाड्रा ने पहले इन आरोपों से इनकार किया था और कहा था कि राजनीतिक बदले के लिए उनके खिलाफ यह कार्रवाई की जा रही है. 

रॉबर्ट वाड्रा से प्रवर्तन निदेशालय (ED) पूछताछ करेगा. यह मामला कथित रूप से गैरकानूनी तरीके से विदेशों में संपत्तियां रखने से संबंधित है. रॉबर्ट वाड्रा ने इस मामले में अग्रिम जमानत के लिए दिल्ली की अदालत की दरवाजा खटखटाया था. अदालत ने उन्हें निर्देश दिया था कि वह केंद्रीय जांच एजेंसी से जांच में सहयोग करें. सूत्रों ने कहा कि जब वाड्रा एजेंसी के समक्ष पेश होंगे तो उनसे लंदन में कुछ अचल संपत्तियों की खरीद और स्वामित्व से संबंधित सौदों के बारे में पूछा जाएगा. उनका बयान मनी लांड्रिंग रोधक कानून के तहत दर्ज किया जाएगा.

Money laundering case: रॉबर्ट वाड्रा को राहत, कोर्ट ने दी 16 फरवरी तक अंतरिम जमानत

बता दें कि दिल्ली की एक अदालत ने वाड्रा को 16 फरवरी तक अंतरिम जमानत दी है. अदालन ने उन्हें निर्देश दिया है कि वह छह फरवरी को स्वयं उपस्थित होकर जांच में शामिल हों. यह मामला लंदन में 12 ब्रायनस्टन स्कावयर पर 19 लाख पाउंड की संपत्ति की खरीद में कथित रूप से मनी लांड्रिंग जांच से संबंधित है. 

मनी लांड्रिंग मामले में राबर्ट वाड्रा ने अग्रिम जमानत के लिए अदालत का रूख किया 

टिप्पणियां

यह मामला लंदन के 12 ब्रायंस्टन स्क्वायर पर स्थित एक संपत्ति की खरीद में धन शोधन के आरोपों से संबंधित है. इसे 19 लाख पाउंड में खरीदा गया था और इसका स्वामित्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई वाड्रा के पास है. 

VIDEO- रॉबर्ट वाड्रा की एक कंपनी और करीबियों पर प्रवर्तन निदेशालय की छापेमारी


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement