अयोध्या केस में फैसले से पहले RSS ने बनाई अग्रिम रणनीति, BJP के संगठन मंत्री बीएल संतोष भी बैठक में पहुंचे

अयोध्या जमीन विवाद पर 17 नवंबर से पहले सुप्रीम कोर्ट के संभावित फैसले के मद्देनजर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) अग्रिम रणनीति बनाने में जुटा है.

अयोध्या केस में फैसले से पहले RSS ने बनाई अग्रिम रणनीति, BJP के संगठन मंत्री बीएल संतोष भी बैठक में पहुंचे

बैठक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत की अध्यक्षता में शुरू हुई. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • 17 नवंबर से पहले आ सकता है फैसला
  • अयोध्या पर फैसले से पहले आरएसएस की बैठक
  • संघ प्रमुख मोहन भागवत भी बैठक में शामिल हुए
नई दिल्ली :

अयोध्या जमीन विवाद पर 17 नवंबर से पहले सुप्रीम कोर्ट के संभावित फैसले के मद्देनजर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) अग्रिम रणनीति बनाने में जुटा है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद संघ व उसके सहयोगी संगठनों को क्या कदम उठाना चाहिए, इसको लेकर शीर्ष पदाधिकारियों के बीच मंथन हुआ. छतरपुर में शुरू हुई बैठक का शुक्रवार को समापन होगा. संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत की अध्यक्षता में बुधवार से शुरू हुई इस बैठक में संघ के सभी 36 अनुषांगिक संगठनों के शीर्ष पदाधिकारी भाग ले रहे हैं. संघ के प्रमुख नेताओं में सरकार्यवाह सुरेश भैय्याजी जोशी, सहसरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले की प्रमुख मौजूदगी है. सूत्रों ने बताया कि भाजपा की तरफ से समन्वय के लिए संगठन महामंत्री बी.एल. संतोष ने भी बैठक में भाग लिया. 

VHP का दावा, अयोध्या में आधा से ज्यादा बन चुका है राममंदिर

राम मंदिर पर आने वाले फैसले के बाद देश में शांति-व्यवस्था बरकरार रखने को लेकर एहतियातन किए जाने वाले उपायों पर भी इस बैठक में चर्चा हुई. संघ ने दिल्ली में बुधवार से बैठक शुरू होने से पहले एक बयान जारी कर कहा था, "आगामी दिनों में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के केस पर सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय आने की संभावना है. निर्णय जो भी आए उसे सभी को खुले मन से स्वीकार करना चाहिए. निर्णय के पश्चात देश भर में वातावरण सौहार्दपूर्ण रहे, यह सबका दायित्व है। इस विषय पर भी बैठक में विचार हो रहा है." 

Ayodhya Case: जमीन देने में सुन्नी वक्फ़ बोर्ड को ऐतराज नहीं- सूत्र​



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com