NDTV Khabar

अयोध्या पर फैसले से ठीक पहले RSS की हरिद्वार में बैठक, राम मंदिर पर पारित हो सकता है प्रस्ताव

रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद (Ayodhya Land Dispute) विवाद पर सुनवाई अब पूरी होने वाली है. राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) का ध्यान अब 'अगले कदम' पर केंद्रित है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अयोध्या पर फैसले से ठीक पहले RSS की हरिद्वार में बैठक, राम मंदिर पर पारित हो सकता है प्रस्ताव

बैठक में संघ प्रमुख मोहन भागवत समेत शीर्ष पदाधिकारी मौजूद रहेंगे.

नई दिल्ली :
टिप्पणियां

रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद (Ayodhya Land Dispute) विवाद पर सुनवाई अब पूरी होने वाली है. राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) का ध्यान अब 'अगले कदम' पर केंद्रित है. आरएसएस के वैचारिक परामर्शदाताओं ने हरिद्वार में मुख्यत: इस बाबत और अन्य मुद्दों पर चर्चा के लिए एक बैठक बुलाई है, जो 31 अक्टूबर से शुरू होगी. उच्चस्तरीय बैठक एक आम बैठक की तरह नहीं है. यह प्रत्येक पांच वर्षो में एक बार होती है. संघ ने हालांकि इस बारे में कुछ स्पष्ट नहीं कहा है, लेकिन सूत्रों का कहना है कि संघ प्रमुख मोहन भागवत जब भैयाजी जोशी, दत्तात्रेय हसबोले और कृष्ण गोपाल समेत अपने शीर्ष स्तर के कनिष्ठ पदाधिकारियों से मुलाकात करेंगे तो राम मंदिर उनका शीर्ष एजेंडा होगा.

बैठक की महत्ता का अंदाज इसी से लगाया जा सकता है कि संघ से जुड़े सभी संगठनों के प्रचारक चार नवंबर तक चलने वाली इस बैठक में उपस्थित रहेंगे. एक सूत्र ने कहा कि बैठक के दौरान राम मंदिर पर एक प्रस्ताव पारित किए जाने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है. सूत्रों के अनुसार, यहां तक कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) भी सभी महत्वपूर्ण बैठकों में भाग लेगी. पार्टी को सम्मेलन की व्यापक 'भावनाओं' के प्रति एक समझ विकसित करने के लिए बैठक में शामिल होने के लिए कहा गया है. पांच दिवसीय बैठक का आयोजन 17 नवंबर को प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई के सेवानिवृत्ति से एक पखवाड़ा पहले और बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी से एक महीना पहले आयोजित की जा रही है. 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement