दलितों के घर खाना खाने पर मोहन भागवत के किसी निर्देश की खबरों का संघ और वीएचपी ने किया खंडन

आरएसएस के संपर्क प्रमुख अरुण कुमार ने भी इस खबर का खंडन किया है. उन्होंने कहा कि न तो कोई ऐसी बैठक हुई और न भागवतजी ऐसा कुछ बोले हैं.

दलितों के घर खाना खाने पर मोहन भागवत के किसी निर्देश की खबरों का संघ और वीएचपी ने किया खंडन

बीजेपी के नेता आजकल दलितों के घर खाना खा रहे है

नई दिल्ली:

बीजेपी नेताओं  का दलितों के घर पर खाना खाने के कार्यक्रम पर संघ प्रमुख मोहन भागवत की ओर से दिये गये निर्देश की खबर का आरएसएस और वीएचपी की ओर से खंडन किया गया है. वीएचपी के कार्यकारी अध्यक्ष आलोक कुमार मीडिया में आई उन खबरों को नकारते हुये कहा कि  संघ प्रमुख मोहन भागवत के बारे में उनके हवाले से दिया गया बयान गलत है. दरअसल कुछ अख़बारों ने लिखा है कि संघ प्रमुख ने दलितों के घर जाकर बीजेपी के नेताओं के खाना खाने से उनका सशक्तिकरण नहीं होगा बल्कि उन्हें अपने घर भी बुलाना होगा. आलोक कुमार के मुताबिक उनकी जानकारी में ऐसा कोई बयान नहीं है. 

योगी सरकार के मंत्री बोले, 'दलितों के घर जाने वाले बीजेपी नेता भगवान राम की तरह हैं'

हालांकि खुद आलोक कुमार का मानना है कि दलितों के घर खाना खाने के साथ समाज को उनकी आर्थिक प्रगति और सम्मान के लिए भी काम करना चाहिये.  आरएसएस के संपर्क प्रमुख अरुण कुमार ने भी इस खबर का खंडन किया है. उन्होंने कहा कि न तो कोई ऐसी बैठक हुई और न भागवतजी ऐसा कुछ बोले हैं. यह मनगढ़ंत समाचार है.  उन्होंने कहा कि बीजेपी के अपने कार्यक्रम हैं जो वह अपने हिसाब से कर रही है. जहां तक संघ का सवाल है, संघ सामाजिक समरसता बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है.

वीडियो : दलितों के घर खाने का दिखावा
 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com