NDTV Khabar

RTI में खुलासा - साल 2016 में दिल्ली में हर रोज 11 महिलाओं के अपहरण हुए

एक गैर-सरकारी संगठन की ओर से सूचना का अधिकार (आरटीआई) के तहत दायर अर्जी पर मिले जवाब से खुलासा हुआ है कि पिछले साल राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हर रोज औसतन 11 महिलाओं के अपहरण हुए.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
RTI में खुलासा - साल 2016 में दिल्ली में हर रोज 11 महिलाओं के अपहरण हुए

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. 2016 में हर दिन औसतन 11 महिलाओं के अपहरण हुए.
  2. एक एनजीओ ने आरटीआई के माध्यम से किया खुलासा.
  3. 2016 में दर्ज अपहरण के 699 मामलों में से 524 में महिलाएं पीड़ित थीं.
नई दिल्ली:

साल 2016 दिल्ली महिलाओं की सुरक्षा के लिहाज से काफी बुरा साल रहा है. उस साल का एक ऐसा आंकड़ा सामने आया है, जिसे जानकर आप हैरान रह जाएंगे. दरअसल, एक गैर-सरकारी संगठन की ओर से सूचना का अधिकार (आरटीआई) के तहत दायर अर्जी पर मिले जवाब से खुलासा हुआ है कि पिछले साल राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हर रोज औसतन 11 महिलाओं के अपहरण हुए.

दिल्ली में 'अपराध एवं पुलिसिंग की स्थिति' पर अपनी रिपोर्ट में प्रजा फाउंडेशन ने कहा कि 2016 में शहर में दर्ज अपहरण के 50 फीसदी से ज्यादा मामले महिलाओं से जुड़े हुए थे. एनजीओ ने कहा कि पिछले साल दर्ज अपहरण के 6,707 मामलों में से 4,101 मामलों में महिलाएं पीड़ित थीं. इसके अलावा, अपहरण के 75 फीसदी से ज्यादा मामले महिलाओं से जुड़े हुए थे.

यह भी पढ़ें - दिल्ली में 11वीं के छात्र की हत्या, आरोपियों को टीवी सीरियल क्राइम पेट्रोल देखकर आया था आइडिया
 
रिपोर्ट के मुताबिक, 'पिछले साल दर्ज अपहरण के 699 मामलों में से 524 में महिलाएं पीड़ित थीं.  साल 2015 में दिल्ली में 7,937 मामले दर्ज किए गए थे. इनमें से 792 मामले बालिग लोगों के अपहरण से जुड़े हुए थे और कुल मामलों के 52.78 फीसदी में महिलाएं पीड़ित शामिल थीं. एनजीओ की रिपोर्ट से यह भी खुलासा हुआ कि पिछले साल राष्ट्रीय राजधानी में हर रोज औसतन दो बच्चों का यौन उत्पीड़न हुआ.


प्रजा फाउंडेशन ने कहा कि यह आंकड़ा दिखाता है कि इस शहर में बच्चे कितने असुरक्षित हैं. एनजीओ ने कहा कि पिछले साल बलात्कार के कुल 2,181 मामले दाखिल किए गए थे, उनमें से 977 मामले यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण कानून (पॉक्सो) के तहत दर्ज किए गए थे. पिछले साल की तुलना में 2015 में बलात्कार के 2,338 मामले दर्ज किए गए थे जिनमें से 1,149 में पीड़ित नाबालिग थे. एनजीओ ने अपनी रिपोर्ट में यह भी कहा कि दिल्ली में पिछले साल महिलाओं से छेड़खानी की सबसे ज्यादा घटनाएं हुईं. 

यह भी पढ़ें - दिल्ली : महिला पत्रकार से रेप का आरोप, फेसबुक के जरिए हुई थी दोस्ती

टिप्पणियां

प्रजा फाउंडेशन ने अपने श्वेत-पत्र में कहा कि पिछले साल छेड़खानी के 3,969 मामले दर्ज किए गए जिनमें 590 मामले दक्षिण दिल्ली में सामने आए. साल 2015 में दक्षिण जिला में छेड़खानी के 485 मामले सामने आए थे. साल 2014 में यह संख्या 862 थी. साल 2015 की तुलना में पिछले साल मध्य, बाहरी, नई दिल्ली, उत्तर, दक्षिण, दक्षिण-पूर्व जिलों में छेड़खानी की घटनाएं बढ़ीं. साल 2016 में 11 ऐसे मामले दिल्ली हवाई अड्डे पर दर्ज किए गए थे.

VIDEO: रेप की शिकार 6 बच्चियों की माओं द्वारा इंसाफ की गुहार, पहुंची हाई कोर्ट


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement