NDTV Khabar

RV, MRV या साहब... क्या कहा जाता रहा रॉबर्ट वाड्रा को? ED इस गुत्थी को लेकर हाईकोर्ट जाएगा

रॉबर्ट वाड्रा के बयान और उनसे जुड़े लोगों के बयानों में विरोधाभास होने को आधार बनाकर अग्रिम जमानत रद्द करवाने की तैयारी में प्रवर्तन निदेशालय

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
RV, MRV या साहब... क्या कहा जाता रहा रॉबर्ट वाड्रा को? ED इस गुत्थी को लेकर हाईकोर्ट जाएगा

रॉबर्ट वाड्रा और उनसे जुड़े लोगों के बयानों में विरोधाभास को आधार बनाकर ED हाईकोर्ट में जाएगा.

खास बातें

  1. जिसके बारे में कहा था नहीं जानते, वह कह रहा वाड्रा उसके काफी करीबी
  2. जिससे फ्लाइट में मिलने की बात कही, उसने कहा सोनिया के पीए ने मिलवाया
  3. कई बयानों, सबूतों के आधार पर तैयार दस्तावेज के जरिए ED बढ़ाएगा कदम
नई दिल्ली:

प्रवर्तन निदेशालय (ED) जिस दस्तावेज के आधार पर रॉबर्ट वाड्रा की हाईकोर्ट में जमानत रद्द करवाने की तैयारी कर रही है, उस दस्तावेज में लिखी बातों के हिसाब से रॉबर्ट वाड्रा ने इस मामले से जुड़ी पूजा चड्ढा, सुमित चड्डा, विपुल बेरीवाला, संजीव वर्मा और जगदीश शर्मा के बारे में कहा है कि वे उन्हें नहीं जानते. जबकि जांच से पता चला है कि वाड्रा सुमित चड्ढा को संजय भंडारी के जरिए जानते हैं.

वाड्रा के सहयोगी मनोज अरोरा ने पूछताछ में कहा कि वे मोबाइल पर बातचीत के जरिए वाड्रा से संपर्क में थे. संजय वर्मा के बारे के मनोज अरोड़ा ने कहा कि वे उसे नहीं जानते. वहीं जगदीश शर्मा ने ED को बताया कि वे रॉबर्ट वाड्रा के काफी करीब हैं.

रॉबर्ट वाड्रा ने पूछताछ में कहा कि वे सीसी थंपी से एमिरेट्स की फ्लाइट में मिले थे. जबकि थंपी ने पूछताछ में बताया कि वे सोनिया गांधी के पीए माधवन के जरिए रॉबर्ट वाड्रा से मिले थे. रॉबर्ट वाड्रा ने पूछताछ में कहा कि लंदन में जिस संपत्ति का जिक्र हो रहा है वहां वे कभी नही रुके. जबकि थंपी ने पूछताछ के दौरान बताया कि रॉबर्ट वाड्रा वहां रुक चुके हैं.


कोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा को विदेश जाने की दी अनुमति, इलाज के लिए जा सकेंगे US और नीदरलैंड

वाड्रा ने पूछताछ में बताया कि जिस ईमेल आईडी पर सुमित चड्ढा और पूजा चड्ढा ने मेल किए वह वाड्रा का ही है, लेकिन वे मेल वाड्रा को नहीं लिखे गए थे. वहीं वाड्रा के करीबी मनोज अरोरा ने कहा कि रॉबर्ट वाड्रा को मेल तो आए थे, जिनके बारे में वही बता सकते हैं.

रॉबर्ट वाड्रा ने पूछताछ के लिए ईडी जाने से पहले फेसबुक पर लिखी पोस्ट, बयां किया दर्द

जब रॉबर्ट वाड्रा से पूछा गए कि क्या लोग रॉबर्ट वाड्रा को RV के नाम से जानते हैं तो वाड्रा ने मना कर दिया. जबकि वाड्रा के सहयोगी मनोज अरोरा ने कहा कि MRV का मतलब है मिस्टर रॉबर्ट वाड्रा. ED ने वाड्रा से पूछा कि क्या लोग उन्हें साहब या रॉबर्ट साहब के नाम से पुकारते हैं तो वाड्रा ने जवाब दिया कि उनके सहयोगी उन्हें बॉस बुलाते हैं. वहीं वाड्रा के करीबी जगदीश शर्मा, अनुज नौटियाल और मनोज अरोरा ने कहा कि उन्हें रॉबर्ट साहब, RV, boss और साहब नाम से पुकारते हैं.

VIDEO : मनी लॉन्ड्रिंग मामले  में ED ने रॉबर्ट वाड्रा को समन जारी किया

टिप्पणियां

इसी दस्तावेज को आधार बनाकर जिनमें रॉबर्ट वाड्रा और उनके सहयोगियों के बीच विरोधाभासी बयान हैं,  ED रॉबर्ट वाड्रा की अग्रिम जमानत खारिज करवाने के लिए हाईकोर्ट गई है. यह दस्तावेज इसी साल 18 मार्च का है, जिसे कई बयानों और सबूतों के आधार पर तैयार किया गया था.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement