NDTV Khabar

सबरीमाला मंदिर: देर रात CM के घर के बाहर प्रदर्शन, 70 लोग हिरासत में, केंद्रीय मंत्री बोले- आपातकाल से बुरे हालात

मंदिर में तैनात पुलिसबल को हटाने और पुलिस की पाबंदियों के खिलाफ श्रद्धालु देर रात प्रदर्शन कर रहे थे, तभी उन्हें हिरासत में ले लिया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सबरीमाला मंदिर: देर रात CM के घर के बाहर प्रदर्शन, 70 लोग हिरासत में, केंद्रीय मंत्री बोले- आपातकाल से बुरे हालात

पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे करीब 70 लोगों को अपनी हिरासत में लिया है.

खास बातें

  1. सीएम आवास के बाहर कर रहे थे प्रदर्शन
  2. रात में मंदिर परिसर में रुकने की कर रहे थे मांग
  3. क्षेत्र में लगी है धारा-144
केरल:

सबरीमाला मंदिर को लेकर केरल मुख्यमंत्री के घर के बाहर और राज्य के कई हिस्सों में प्रदर्शन कर रहे 70 लोगों को हिरासत में लिया गया है. मंदिर में तैनात पुलिसबल को हटाने और पुलिस की पाबंदियों के खिलाफ श्रद्धालु देर रात प्रदर्शन कर रहे थे, तभी उन्हें हिरासत में ले लिया गया. प्रदर्शनकारी मंदिर परिसर में पूरी रात रुकने पर लगी पाबंदी हटाने की भी मांग कर रहे थे. तिरुवनंतपुरम में मुख्यमंत्री पिनराई विजयन के घर के बाहर रविवार देर रात  बड़ी संख्या में दक्षिणपंथी समूहों के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया. भाजपा कार्यकर्ताओं ने कोच्चि, कोझिकोड, मलप्पुरम, अरनमुला, कोल्लाम, अलाप्पुझा और राज्यों के कई हिस्सों में प्रदर्शन किया.

पहले हिंसा की हुई घटनाओं के बाद पुलिस ने श्रद्धालुओं पर पाबंदियां लगा दी थी. अब लोगों को रात में मंदिर परिसर में रुकने की अनुमति नहीं है. मंदिर प्रबंधन सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करने जा रहा है, जिसमें सभी उम्र की महिलाओं के प्रवेश के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश को लागू करने के लिए और वक्त की मांग की जाएगी.


सबरीमाला मंदिर : कड़ी सुरक्षा के बीच भक्तों ने भगवान अयप्पा के दर्शन किए, BJP नेता हिरासत में

भारतीय जनता पार्टी अपनी यूथ विंग के साथ 'पुलिस की सख्ती' के खिलाफ पूरे राज्य में प्रदर्शन करेगी. रविवार को भाजपा कार्यकर्ताओं ने अपने पार्टी नेता के सुरेंद्रन की गिरफ्तारी के खिलाफ राज्य में कई जगह सड़क और हाइवे ब्लॉक कर दिए थे. के सुरेंद्रन को उस वक्त गिरफ्तार कर लिया गया था, जब वह पुलिस के रोकने के बावजूद भी मंदिर में घुसने की कोशिश कर रहे थे.

सबरीमाला विवाद : केरल HC ने सामाजिक कार्यकर्ता रेहाना फातिमा की अग्रिम जमानत याचिका खारिज की

केंद्रीय मंत्री केजे अल्फोन्स ने बताया, 'यहां स्थिति आपातकाल से भी खराब है. श्रद्धालुओं को ऊपर नहीं जाने दिया जा रहा. बिना किसी वजह से धारा-144 लगा दी गई. श्रद्धालु आतंकी नहीं हैं. ऐसे में उनके लिए 15 हजार पुलिसकर्मी वहां क्या कर रहे हैं?' वहीं विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहीं दक्षिणपंथी नेता केपी शशिकला को शनिवार को रिहा कर दिया गया. उन्हें पिछले सप्ताह पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था. पुलिस अधिकारी प्रतीश कुमार ने बताया, 'क्षेत्र में धारा-144 लागू है.' साथ ही उन्होंने बताया कि पुलिस वहां प्रार्थना करने वाले श्रद्धालुओं के खिलाफ नहीं है. 

टिप्पणियां

सबरीमाला मंदिर विवाद : हिन्दूवादी महिला नेता की गिरफ्तारी के विरोध में केरल में हड़ताल 

2019 का सेमीफाइनल : सबरीमाला पर SC पुनर्विचार को तैयार  


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement