NDTV Khabar

सलमान खान ने याकूब की फांसी पर किए अपने ट्वीट हटाए, माफी मांगी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सलमान खान ने याकूब की फांसी पर किए अपने ट्वीट हटाए, माफी मांगी

सलमान खान (फाइल फोटो)

मुंबई:

बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान ने याक़ूब मेमन पर अपने वो ट्वीट्स वापस ले लिए हैं जिनमें उन्होने टाइगर मेमन को फांसी देने की बात की थी, भाई याक़ूब को नहीं। सलमान ने ताज़ा ट्वीट्स कर कहा है कि ऐसा वे अपने पिता के कहने पर कर रहे हैं।
 

6 ट्वीट्स की ताज़ा कड़ी में सलमान ने लिखा है कि मैंने टाइगर मेमन को फांसी देने की बात कही थी जिस पर मैं क़ायम हूं। मैंने ये भी कहा था कि याक़ूब मेमन को फांसी नहीं मिलनी चाहिए। मैं ये नहीं कहा है कि याक़ूब निर्दोष है। मुझे देश की न्याय व्यवस्था में पूरा भरोसा है।

सलमान आगे लिखते हैं कि मुंबई धमाकों में बहुत लोग मारे गए थे। और मैं ये लगातार कहता रहा हूं कि एक भी बेक़सूर की जान का जाना पूरी मावनता का नुक्सान है। मेरे पिताजी ने मुझे बुलाया और कहा कि मुझे अपने ट्वीट्स वापस ले लेने चाहिए क्योंकि इससे ग़लतफ़हमी पैदा होने का ख़तरा है। इसलिए मैं उन्हें वापस लेता हूं। अनजाने में मैंने अगर कोई ग़लतफ़हमी पैदा की है तो मैं बिना शर्त माफ़ी मांगता हूं।


इस कड़ी के अंतिम ट्वीट में सलमान ने लिखा है कि मैं उनकी कठोर निंदा करता हूं जो ये दावा कर रहे हैं कि मेरे ट्वीट्स धर्म विरोधी हैं। मैंने हमेशा कहा है कि मैं सभी धर्मों की इज्ज़त करता हूं और हमेशा करता रहूंगा।

इससे पहले सलमान ने कल देर रात कई ट्वीट्स कर ये कहा था कि मैं पिछले तीन दिनों से ये ट्वीट करना चाह रहा था लेकिन डर रहा था। लेकिन ये एक इंसान के परिवार से जुड़ा मामला है। भाई को नहीं लटकाओ बल्कि उस लोमड़ी को लटकाओ जो भाग गया। उसे कभी किसी ने टाइगर कह कर नहीं बुलाया। वो इसके लायक भी नहीं है। उसे लटका दो। टाइगर मेमन को लटका दो।

सलमान के इन ट्वीट्स को लेकर कई लोगों ने कड़ा एतराज़ जताया है। सरकारी वकील उज्जवल निकम ने तो यहां तक कह दिया कि अगर सलमान ट्वीट वापस नहीं लेते हैं तो वे कानूनी रास्ता अख़्तियार करेंगे। इसके बाद सलमान खान के पिता सलीम खान ने एक बयान जारी कर सलमान की बातों को गंभीरत से नहीं लेने की अपील की। उसके बाद सलमान ने भी अपने ट्वीट्स वापस ले लिए।

वहीं इस बीच, मुंबई के उपनगरीय बांद्रा इलाके में स्थित सलमान के घर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई। पुलिस उपायुक्त (डिटेक्शन) धनंजय कुलकर्णी ने कहा, 'हमने किसी तरह की अप्रिय घटना को रोकने के लिए सलमान खान के घर के बाहर सुरक्षा कड़ी कर दी है।'

इससे पहले सलमान ने शनिवार देर रात कई सारे ट्वीट करके याकूब का समर्थन किया था और कहा था कि याकूब की जगह टाइगर मेमन की परेड कराई जानी चाहिए और फांसी पर लटकाया जाना चाहिए।

उन्होंने पहला ट्वीट देर रात 1:52 बजे किया और लिखा टाइगर को लटकाओ। और उन्होंने आखिरी ट्वीट 2:41 बजे किया, जिसमें उन्होंने लिखा, 'किसी ने उसे अभी तक टाइगर नहीं कहा। वह इसका हकदार नहीं है। हैंग दैट.... फिल इन द ब्लैंक्स।' सलमान ने याकूब को फांसी दिए जाने के खिलाफ ट्वीट करके कहा कि एक बेगुनाह की मौत इंसानियत का कत्ल है। टाइगर मेमन के गुनाह की सजा उसके भाई याकूब को नहीं मिलनी चाहिए। 'दबंग' खान ने एक ट्वीट में लिखा 'टाइगर मेमन को पकड़ो, जो बिल्ली की तरह छुपा है और हम एक बिल्ली को नहीं पकड़ पा रहे...।' सलमान ने एक ट्वीट में कहा, भारत में टाइगर की ही तो कमी है। उन्होंने एक ट्वीट में लिखा कौन सा टाइगर, किधर है टाइगर, समझ रहा है टाइगर। क्या सोचकर नाम दिया था और क्या मायने निकाल लिया उसका।   सलमान ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से भी अपील करते हुए एक ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा, 'शरीफ साहब आपसे एक दरख्वास्त है कि अगर टाइगर आपके मुल्क में है तो प्लीज बता दीजिए।' सलमान का कहना है कि वो पिछले तीन दिन से इस बारे में ट्वीट करना चाह रहे थे, लेकिन डर रहे थे। ये है सलमान का अंतिम ट्वीट.. किसी ने उसे अभी तक टाइगर नहीं कहा। वह इसका हकदार नहीं है। हैंग दैट.... फिल इन द ब्लैंक्स हालांकि सलमान ख़ान के पिता सलीम ख़ान ने एक बयान जारी कर लोगों से सलमान की बातों को संजीदगी से न लेने को कहा है। सलीम खान ने कहा, मैं अपने बेटे की राय से पूरी तरह असहमत हूं और उसे बिना जानकारी ऐसे संजीदा मसलों के बारे में कुछ नहीं कहना चाहिए। उसे ऐसा बयान नहीं देना चाहिए था। सलमान इस मुद्दे से अनभिज्ञ है और लोगों को उसे संजीदगी से नहीं लेना चाहिए।

सलमान को अपने बयान वापस लेने चाहिए : उज्ज्वल निकम
सलमान के ट्वीट के बाद मुंबई में 1993 में हुए विस्फोटों के मामले में विशेष अभियोजक उज्ज्वल निकम ने मामले में दोषी याकूब मेमन के बचाव में किये गये अभिनेता सलमान खान के ट्वीटों पर कड़ा ऐतराज जताते हुए कहा था कि सलमान को बयान वापस लेना चाहिए।

निकम ने कहा था, ‘‘सलमान के ट्वीट बहुत आपत्तिजनक हैं और भारतीय न्यायपालिका की छवि को कमजोर करने की कोशिश हैं।’’ वरिष्ठ वकील ने कहा, ‘‘मैं उनसे पूछना चाहूंगा कि क्या वह आपराधिक साजिशकर्ताओं के बारे में जानते हैं या उन्होंने अपनी व्यक्तिगत जानकारी से याकूब मेमन को बेगुनाह कहा है।’’ इस मामले में इतने साल तक चले मुकदमे में वकील रहे निकम ने कहा, ‘‘क्या इसका यह मतलब नहीं है कि इस तरह के बयान देकर वह 257 लोगों की आत्माओं का अपमान कर रहे हैं जिन्होंने शहर में हुए विस्फोटों में अपनी जान गंवा दी और क्या उन्हें नहीं पता कि अदालत ने ऐसे आतंकवादी षड्यंत्र के लिए याकूब को दोषी ठहराया?’’

निकम ने कहा था कि सलमान सेलिब्रिटी हैं और उन्हें अपने प्रशंसकों को गुमराह नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘मैं सलमान से बिना देरी के बयान वापस लेने की अपेक्षा करता हूं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘देश की स्थिरता व्यापक रूप से दो मुख्य कारकों पर निर्भर करती है। पहला तो आम आदमी को देश की मुद्रा में आस्था होती है और उसी आम आदमी की आस्था न्यायपालिका में होती है।’’

टिप्पणियां

निकम ने कहा, ‘‘इसलिए किसी दोषी के बारे में उनकी अवांछित टिप्पणी ने न्यायपालिका में आम आदमी के विश्वास को डिगाया है।’’

सलमान ने सिलसिलेवार ट्वीट कर कहा था कि 1993 के विस्फोटों के लिए याकूब को नहीं बल्कि उसके भगोड़े भाई टाइगर मेमन को फांसी पर लटकाया जाना चाहिए जो पाकिस्तान में छिपा हुआ माना जा रहा है।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement