NDTV Khabar

RSS के 'सैनिक स्कूल' खोलने पर सपा ने कसा तंज, कहा- सिखाएंगे मॉब लिंचिंग और सांप्रदायिकता

समाजवादी पार्टी ने यूपी के बुलंदशहर जिले के शिकारपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के 'आर्मी स्कूल' बनाए जाने को लेकर निशाना साधा है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
RSS के 'सैनिक स्कूल' खोलने पर सपा ने कसा तंज, कहा- सिखाएंगे मॉब लिंचिंग और सांप्रदायिकता

समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. RSS बुलंदशहर में एक सैनिक स्कूल बनाने जा रही
  2. इसे संचालित करेगा संघ का शिक्षा विभाग विद्या भारती
  3. समाजवादी पार्टी ने साधा निशाना
उत्तर प्रदेश:

समाजवादी पार्टी ने यूपी के बुलंदशहर जिले के शिकारपुर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के 'आर्मी स्कूल' बनाए जाने को लेकर निशाना साधा है. सपा ने कहा, ''राज्य में आरएसएस द्वारा अलग से आर्मी स्कूल खोले जाने की क्या जरूरत हैं? यह संदेह पैदा करता है. अब वह राष्ट्रीय स्तर पर षड्यंत्र करना चाहते हैं, यह संविधान की अवहेलना है.'' समाजवादी पार्टी (सपा) ने कहा, ''आरएसएस विभाजन के विचारधारा का अनुसरण कर रही है. आजादी की लड़ाई के दौरान भी इनकी भूमिका नकारात्मक रही थी और आज भी वही है. इनका स्वतंत्रता संग्राम के आदर्शों से कोई लेना-देना नहीं है. आरएसएस अपने राजनीतिक लाभ के लिए ऐसे संस्थान खोलेगा जहां मॉब लिंचिंग और सांप्रदायिकता सिखाई जाएगी.''

कांग्रेस व सहयोगी दलों ने लोकसभा में उठाया उन्नाव रेप पीड़िता की दुर्घटना का मामला, किया वॉकआउट


राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ एक सैनिक स्कूल बनाने जा रहा है. संघ का शिक्षा विभाग विद्या भारती इसे संचालित करेगा. उत्तरप्रदेश के बुलन्दशहर में इस स्कूल के निर्माण के लिए भूमि पूजन 24 अगस्त 2018 को हुआ था और साल भर में इसके भवन का स्ट्रक्चर तैयार हो चुका है. दिन रात मजदूर काम पर लगे हुए हैं. खेतों के बीच बन रही ये इमारत दूर से ही दिखने लगती है. अगले साल अप्रैल में इस स्कूल में बच्चों के पहले बैच का एडमिशन होगा. 

पाकिस्तान पीएम इमरान खान का गरीबों को तोहफा, नान और रोटी के दाम कम करने का दिया हुक्म

टिप्पणियां

कहा जा रहा है कि ये देश का संघ द्वारा संचालित पहला स्कूल होगा, जहां शिक्षा ग्रहण करने वाले छात्रों को सेना में जाने योग्य बनाने के लिए तैयार किया जायेगा. ये एक आवासीय हॉस्टल जैसा होगा, जिसमें सीबीएससी का पाठ्यक्रम होगा. छठी से बाहरवीं तक शिक्षा होगी. माना जा रहा है कि इस स्कूल में अगले सत्र में पढ़ाई शुरु हो जायेगी. 16 बीघा जमीन पर इमारत बनाई जा रही है और 16 बीघा पर अलग से बाद में सैन्य प्रशिक्षण समेत तमाम तैयारियां छात्रों को कराई जायेगी.

Video: प्राइम टाइम: सेना के लिए छात्रों को तैयार करने की संघ को क्या जरूरत है?



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement