बुजुर्ग महिला का वीडियो शेयर करते ही संबित पात्रा हो गए ट्रोल, लोगों ने कहा- खुल गई उज्ज्वला योजना की पोल

लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर चुनावी अभियान के दौरान बीजेपी उम्मीदवार और पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक ऐसी 'गलती' कर दी, जिसकी वजह से उनकी सरकार की एक योजना की सफलता पर ही लोग सवाल उठा रहे हैं.

खास बातें

  • संबित पात्रा ने बुजुर्ग महिला का वीडियो शेयर किया.
  • वीडियो में महिला चूल्हे पर खाना पका रही है.
  • इसके बाद लोगोंने उज्ज्वला योजना पर सवाल खड़े कर दिए.
नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर चुनावी अभियान के दौरान बीजेपी उम्मीदवार और पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने एक ऐसी 'गलती' कर दी, जिसकी वजह से उनकी सरकार की एक योजना की सफलता पर ही लोग सवाल उठा रहे हैं. रविवार को ओडिशा के पुरी में चुनाव प्रचार के दौरान संबित पात्रा एक गरीब महिला के घर खाना खाने पहुंचे थे, जिसका वीडियो उन्होंने अपने ट्विटर पर शेयर किया, जिसमें महिला चूल्हे पर खाना पकाती दिखी. जैसे ही यह वीडियो डाला गया, सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और सभी मोदी सरकार की सबसे सफल योजनाओं में से एक उज्ज्वला योजना की सफलता पर ही सवाल करने लगे. संबित पात्रा के इस वीडियो पर कांग्रेस ने भी हमला बोला और उज्ज्वला योजना को लेकर सरकार को घेरा. 

संबित पात्रा ने ये वीडियो शेयर कर खुद ही खोली मोदी सरकार की उज्ज्वला योजना की 'पोल'?

कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने संबिता पात्रा का वीडियो अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया और उन्होंने उज्ज्वला योजना को लेकर सवाल भी दागे. उन्होंने लिखा कि उज्ज्वला योजना का क्रेडिट लेने वाले शख्स यानी धर्मेंद्र प्रधान जी भी तो ओडिशा से ही हैं?. बता दें कि धर्मेंद्र प्रधान पेट्रोलियम तथा प्राकृतिक गैस के राज्य मंत्री हैं और उज्ज्वला योजना के लिए उन्होंने काफी काम होने का दावा भी किया है. 

BJP उम्मीदवार संबित पात्रा के लिए आखिर क्यों पुरी से चुनाव जीतना है मुश्किल, आंकड़ों से समझें

दरअसल, ओडिशा के पुरी से भारतीय जनता पार्टी से उम्मीदवार और बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा रविवार को (Sambit Patra) गरीब के घर खाना खाने गए थे, जिसका वीडियो उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया.  मगर संबित पात्रा (Sambit Patra) जिन वीडियो के जरिए अपने चुनावी अभियान की झलक लोगों को बता रहे थे, उससे खुद मोदी सरकार की सबसे बड़ी योजना की पोल खुलती दिखी. संबित पात्रा (Sambit Patra) ने जो वीडियो शेयर किये हैं, उससे साफ प्रतीत हो रहा है कि वे वीडियो मोदी सरकार की योजना उज्ज्वला योजना (Ujjwala Yojana) की सफलता पर सवाल खड़े कर रहे हैं और असली तस्वीर भी दिखा रहे हैं. 

रविवार को संबित पात्रा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो जारी किया और लिखा- पुरी के एक छोटे से गांव में में रहने वाली एक बूढ़ी विधवा मां, उसकी तीन बेटियां, जिनमें 2 दिव्यांग व बेटा मजदूरी करता है. ऐसी मां का घर बनाने का काम नरेंद्र मोदी ने किया है.' संबित पात्रा अपने इस ट्वीट से यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि इस गरीब महिला का घर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बना है. मगर इस दौरान वह यहह ध्यान नहीं रखपाते कि जिनके यहां वह भोजन कर रहे हैं, वहां वीडियो में दिख रहा है कि खाना चूल्हे पर पका है न कि गैस सिलेंडर पर. 

जैसे ही यह वीडियो सबके सामने आया, सोशल मीडिया यूजर्स मोदी सरकार की उज्ज्ववला योजना को लेकर संबित पात्रा और सरकार पर टूट पड़े. यूजर्स ने भी मोदी सरकार की आलोचना की और सवाल पूछ रहे हैं कि आखिर कहां हैं सरकार द्वारा दिए गए गैस कनेक्शन और चूल्हे? 

ट्विटर पर एक यूजर 'नाना' ने लिखा- ये मां आज भी चूल्हे पर खाना पकाने को मज़बूर है. ये विधवा हैं और उनकी 2 बेटियां दिव्यांग हैं. उज्ज्वला योजना का क्या हुआ? विधवा पेंशन और दिव्यांग पेंशन का क्या हुआ? तुम जैसे चौकीदारों के रहते किसने चोरी कर लिया इनका हक़?'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

एक और यूजर ने संबित पात्रा से सवाल किया...

दरअसल, इस वीडियो के सामने आने के बाद यह सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर उज्जवला योजना के तहत इन गरीबों को गैस सिलेंडर क्यों नहीं मिले और अगर मिले भी तो उसका इंप्लीमेंटेशन का क्या हुआ. क्योंकि हर चुनावी रैलियों में मोदी सरकार इस योजना को फायदे के रूप में भुनाने की कोशिश करती है. इतना ही नहीं, यह वीडियो ओडिशा से आई है इसलिए सवाल उठाना और भी ज्यादा अहम हो जाता है क्योंकि अभी पेट्रोलियम तथा प्राकृतिक गैस के राज्य मंत्री धर्मेंद्र प्रधान हैं और वह ओडिशा से ही राज्यसभा सांसद हैं.