CAA Protest: कानून के विरोध में उतरी शिवसेना ने कहा: महाराष्ट्र का सबक है ‘डरो मत’

संजय राउत ने कहा कि उनकी पार्टी CAA के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों का समर्थन करती है और देश के लिए महाराष्ट्र का ‘सबक’ है कि ‘भयभीत मत होइए.’

CAA Protest: कानून के विरोध में उतरी शिवसेना ने कहा: महाराष्ट्र का सबक है ‘डरो मत’

शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत (फाइल फोटो)

खास बातें

  • नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ शिवसेना खुलकर उतर आई है
  • पार्टी नेता संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र का सबक है डरो मत
  • कहा, ‘मेरी पार्टी CAA के खिलाफ चल रहे प्रदर्शनों के पक्ष में है.’
मुंबई:

शिवसेना (Shivsena) नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में खुलकर उतर गई है. कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों से पार्टी नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा कि वे इन प्रदर्शनों का समर्थन करते हैं. राउत ने कहा कि उनकी पार्टी CAA के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों का समर्थन करती है और देश के लिए महाराष्ट्र का ‘सबक' है कि ‘भयभीत मत होइए.' बता दें, राउत विवादास्पद कानून पर आयोजित एक बैठक में बोल रहे थे जिसका आयोजन जमात-ए-इस्लामिक हिंद और एसोसिएशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ सिविल राइट्स ने किया था.

उन्होंने कहा, ‘मेरी पार्टी CAA के खिलाफ चल रहे प्रदर्शनों के पक्ष में है.' उन्होंने दावा किया कि महाराष्ट्र में हार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अब भी नहीं पचा पा रही है. राउत ने कहा, ‘वे अब तक दुख में हैं और हमें उन्हें और दुख देना चाहिए.' उन्होंने कहा, ‘महाराष्ट्र ने देश को सबक दिया है कि डरो मत.' उनका इशारा संभवत: भाजपा से संबंध तोड़कर राज्य में कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बनाने की तरफ था. उन्होंने कहा, ‘महाराष्ट्र ने देश को रास्ता दिखाया है. देश हमारा धर्म है. हम सबको एकजुट होना चाहिए और इसी से वे (भाजपा) डरे हुए हैं.'

नागरिकता कानून पर अभिजीत बनर्जी : "एक बात जो मुझे चिंतित करती है..."

बता दें, महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी (105) बनकर उभरने के बाद भी भाजपा वहां सरकार नहीं बना पाई थी, क्योंकि उसकी सहयोगी पार्टी शिवसेना ढाई साल के लिए मुख्यमंत्री पद की मांग की थी जिसे बीजेपी ने मानने से इंकार कर दिया था. इसके बाद शिवसेना ने भाजपा से रिश्ता तोड़कर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बना ली थी. 

VIDEO: बीजेपी सांसद उदय प्रताप सिंह का बयान, जो राज्य CAA को इनकार करेंगे वहां लगेगा राष्ट्रपति शासन

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com