कोरोना के RT-PCR टेस्ट की कीमत घटाने को लेकर SC ने केंद्र और राज्यों से मांगा जवाब

याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया है कि देशभर में कोरोना टेस्ट के लिए अलग-अलग दरें ली जा रही हैं, जबकि टेस्ट की लागत वास्तव में सिर्फ 200 रुपये है.

कोरोना के RT-PCR टेस्ट की कीमत घटाने को लेकर SC ने केंद्र और राज्यों से मांगा जवाब

केंद्र सरकार और राज्यों को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

देश में कोरोना वायरस के मामले 91 लाख के पार पहुंच गए हैं. कोरोना वायरस (Coronavirus) महामारी के बीच टेस्टिंग किट की कीमत (Covid Test Cost) को लेकर मामला सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में पहुंचा.  देशभर में RT-PCR टेस्ट की कीमत 400 रुपये करने की मांग वाली याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को केंद्र, राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा. कोर्ट ने यह आदेश वकील अजय अग्रवाल की याचिका पर दिया. 

याचिकाकर्ता ने आरोप लगाया है कि देशभर में कोरोना टेस्ट के लिए अलग-अलग दरें ली जा रही हैं, जबकि टेस्ट की लागत वास्तव में सिर्फ 200 रुपये है. सुप्रीम कोर्ट ने मामले को अन्य याचिकाओं के साथ टैग किया. याचिका में केन्द्र और राज्य सरकारों को यह निर्देश देने का अनुरोध किया गया है कि आरटी-पीसीआर टेस्ट के लिए देशभर में समान रूप से अधिकतम 400 रुपये की दर निर्धारित की जाए. 

बता दें कि देश में एक दिन में कोविड-19 के 37,975 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 91.77 लाख के पार चली गई है, जिनमें से 86 लाख से अधिक लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे अद्यतन किये गये आंकड़ों के अनुसार देश में संक्रमण के कुल 91,77,840 मामले सामने आ चुके हैं. वहीं 480 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,34,218 हो गई. इसमें कहा गया है कि देश में लगातार 14 दिन से उपचाराधीन मामलों की संख्या पांच लाख से कम है.

वीडियो: कोविड-19: राज्य सरकारें लगातार घटा रही हैं RT-PCR टेस्ट की कीमतें


Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com