NDTV Khabar

सुप्रीम कोर्ट ने शेल्टर होम की खराब स्थिति पर केंद्र व राज्य सरकारों को लगाई फटकार

देशभर के शेल्टर होम की खराब हालात पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्यों को फटकार लगाई है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सुप्रीम कोर्ट ने शेल्टर होम की खराब स्थिति पर केंद्र व राज्य सरकारों को लगाई फटकार

शेल्टर होम की खराब हालात पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्यों को फटकार लगाई है.

नई दिल्ली :

देशभर के शेल्टर होम की खराब हालात पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्यों को फटकार लगाई है. कोर्ट ने कहा कि इससे साफ है कि शेल्टर होम के लिए कोई कुछ नहीं करना चाहता है और अदालत आदेश देती है तो ज्यूडिशियल एक्टिविज़्म का मसला खड़ा कर कर दिया जाता है. सुप्रीम कोर्ट ने NCPCR की सोशल ऑडिट रिपोर्ट को रिकॉर्ड पर लिया. NCPCR ने रिपोर्ट में कहा है कि इस समय देश में 3540 जुवेनाइल इंस्टीट्यूट हैं, जिसमें से 2874 चिल्ड्रेन होम हैं. केवल 54 होम का पॉजीटिव रेस्पॉन्स है. दूसरी तरफ, 185 शेल्टर होम जिनका अभी ऑडिट हुआ है उसमें 19 में ही रिकॉर्ड मेंटेन किया गया है.

शेल्टर होम मामला: सुप्रीम कोर्ट ने जेजे एक्ट पर उठाए सवाल, कहा- सही से नहीं लागू हुआ कानून  


NCPCR ने कहा कि सोशल ऑडिट अभी भी चल रही है और यह अक्टूबर 2018 तक चलेगाी. WCD ने कोर्ट में कहा कि उन्होंने सभी राज्य के मुख्य सचिव को शेल्टर होम के निरीक्षण को लेकर निर्देश दिया है. 15 सितंबर तक अपनी रिपोर्ट भी देने को कहा है. इस मामले में 18 सितंबर को मीटिंग करेंगे. सुप्रीम कोर्ट में 20 सितंबर को मामले की अगली सुनवाई होगी. आपको बता दें कि पिछले दिनों बिहार के मुजफ्फरपुर के शेल्टर होम में कई बच्चियों से रेप का मामला सामने आने के बाद देशभर में भूचाल आ गया था. मुजफ्फरपुर का मामला थमा भी नहीं था कि उत्तर प्रदेश में भी इसी तरह का मामला सामने आया. यहां देवरियां में भी बच्चियों के साथ कुछ ऐसा ही हुआ. 

टिप्पणियां

मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड: पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा, उनके पति पर आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज 

VIDEO : बिहार की समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा का इस्तीफा 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement