NDTV Khabar

पुलिस-वकील विवाद: SC ने याचिका पर सुनवाई से पहले मामले में उच्च न्यायालय के आदेश मांगे

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस मामले पर दिल्ली हाईकोर्ट पहले से ही प्रभावी तरीके से सुनवाई कर रहा है. ऐसे में सुप्रीम कोर्ट को हाई कोर्ट के मामले में दखल नहीं देना चाहिए. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुलिस-वकील विवाद: SC ने याचिका पर सुनवाई से पहले मामले में उच्च न्यायालय के आदेश मांगे

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस मामले पर दिल्ली हाईकोर्ट पहले से ही प्रभावी तरीके से सुनवाई कर रहा है.

खास बातें

  1. पुलिस और वकील विवाद पर सुप्रीम कोर्ट ने याचिका पर सुनवाई से किया इंकार
  2. सुप्रीम कोर्ट ने कहा- हाई कोर्ट के मामले में नहीं देंगे दखल
  3. SC ने कहा- हम फिलहाल हाईकोर्ट के रास्ते में नहीं आना चाहते
नई दिल्ली:

तीस हजारी कोर्ट में दिल्ली पुलिस और वकीलों के बीच हुई झड़प मामले में उच्चतम न्यायालय ने पुलिस मुख्यालय पर पुलिसकर्मियों के प्रदर्शन से संबंधित दिल्ली उच्च न्यायालय के आदेश पेश करने का सोमवार को निर्देश दिया. न्यायमूर्ति अरूण मिश्रा और न्यायमूर्ति इन्दिरा बनर्जी की पीठ ने कहा कि चूंकि उच्च न्यायालय पहले से ही इस पर विचार कर रहा है, इसलिए वह समानांतर कार्यवाही नहीं करना चाहती. सुप्रीम कोर्ट ने वकील और पुलिस के बीच हुई झड़प मामले में पुलिस मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाी के लिए कुछ वकीलों की याचिका पर सुनवाई के दौरान यह बात कही.

यह भी पढ़ें: CCTV फुटेज में आग लगाते दिखे वकील, महिला IPS के साथ भी की मारपीट


पीठ ने याचिका दायर करने वाले अधिवक्ता जी एस मणि से कहा कि वह पहले इस मामले की सुनवाई कर रहे उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेशों को देखना चाहती है. मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने कहा, ''हम आपकी याचिका को अभी खारिज नहीं कर रहे हैं. पहले आप उच्च न्यायलय की आदेश अदालत में पेश करें. हम देखना चाहते हैं कि उच्च न्यायालय ने क्या किया है और क्या इसमें कुछ और करने की जरूरत है''. अब इस मामले में पीठ 16 दिसंबर को सुनवाई करेगी. 

टिप्पणियां

क्या है मामला
तीस हजारी कोर्ट परिसर में 2 नवंबर को पार्किंग को लेकर हुए विवाद में वकीलों और पुलिस के बीच संघर्ष हो गया था. इस संघर्ष में करीब 20 पुलिसकर्मी और अनेक वकील जख्मी हो गए थे जबकि 17 वाहन क्षतिग्रस्त हुए थे. इस घटना के दो दिन बाद सभी छह जिला अदालतों के वकीलों ने हड़ताल कर दी थी. यह हड़ताल 15 नवंबर तक चली थी. इसी बीच, पांच नवंबर को हजारों पुलिसकर्मियों ने अपने सहयोगियों पर वकीलों के कथित दो हमलों के खिलाफ आक्रोश व्यक्त करते हुए 11 घंटे तक दिल्ली पुलिस के मुख्यालय पर अभूतपूर्व विरोध प्रदर्शन किया था.

Video: खबरों की खबर : अयोध्या पर बंटा मुस्लिम पक्ष



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें. India News की ज्यादा जानकारी के लिए Hindi News App डाउनलोड करें और हमें Google समाचार पर फॉलो करें


 Share
(यह भी पढ़ें)... नागरिकता कानून को लेकर लोकसभा स्पीकर ने EU को लिखा खत,  कहा- CAA के खिलाफ प्रस्ताव गलत नजीर होगा

Advertisement