SC Verdict on Maharashtra: कांग्रेस ने कहा- सुप्रीम कोर्ट का फैसला नाजायज सरकार पर तमाचा

कांग्रेस पार्टी ने आरोप लगाया कि भाजपा ने लोकतंत्र को "कलंकित" किया जबकि उच्चतम न्यायालय ने संविधान दिवस के मौके पर आदेश देकर राष्ट्र को भेंट दी.

SC Verdict on Maharashtra: कांग्रेस ने कहा- सुप्रीम कोर्ट का फैसला नाजायज सरकार पर तमाचा

कोर्ट के फैसले का कांग्रेस ने किया स्वागत (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

कांग्रेस ने महाराष्ट्र में शक्ति परीक्षण कराने के उच्चतम न्यायालय के आदेश का स्वागत किया है.  पार्टी ने फैसले को  "लोकतंत्र की जीत" बताते हुए इसकी प्रशंसा की और कहा कि यह "भाजपा-अजित पवार की अवैध" सरकार पर एक "तमाचा" है. पार्टी ने यह भी आरोप लगाया कि भाजपा ने लोकतंत्र को "कलंकित" किया जबकि उच्चतम न्यायालय ने संविधान दिवस के मौके पर आदेश देकर राष्ट्र को भेंट दी. कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया, "उच्चतम न्यायालय का फैसला भाजपा-अजित पवार की नाजायज सरकार पर तमाचा है, जिसने 'जनादेश' को बंधक बना लिया था. फर्जीवाड़े की नींव पर बनी सरकार को संविधान दिवस के मौके पर शिकस्त मिली."


शीर्ष अदालत के आदेश के बाद संवाददाताओं से बात करते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पृथ्वीराज चव्हाण ने महाराष्ट्र विधानसभा में बुधवार को शक्ति परीक्षण कराए जाने के अदालत के फैसले पर संतुष्टि प्रकट की और कहा कि कांग्रेस, शिवसेना और राकांपा गठबंधन को सदन में बहुमत हासिल है.

SC Verdict on Maharashtra: BJP ने कहा- सुप्रीम कोर्ट का फैसला हमारे लिए झटका नहीं, बल्कि...


गौरतलब है कि महाराष्ट्र में सरकार गठन पर सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को बड़ा फैसला सुनाते हुए कहा कि बुधवार शाम पांच बजे से पहले फ्लोर टेस्ट करवाया जाए. कोर्ट ने कहा कि लोकतांत्रिक मूल्य स्थापित करने के लिए कोर्ट हैं और कोर्ट और संसदीय कार्यवाही के बीच बाउंड्री की जरूरत है. कोर्ट ने कहा कि फ्लोर टेस्ट की वीडियो रिकॉर्डिंग और लाइव टेलीकास्ट हो और यह सीक्रेट बैलेट से नहीं होगा. कोर्ट ने प्रोटेम स्पीकर की नियुक्ति के भी आदेश दिए.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: भाजपा और अजित पवार को फ्लोर टेस्ट पर मिलेगा करार जवाब: कांग्रेस