1978 बैच के IAS अफसर संजय कोठारी बने केंद्रीय सतर्कता आयुक्त, रह चुके हैं राष्ट्रपति के सचिव

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) के सचिव संजय कोठारी (Sanjay Kothari) को शनिवार को केंद्रीय सतर्कता आयुक्त नियुक्त किया गया.

1978 बैच के IAS अफसर संजय कोठारी बने केंद्रीय सतर्कता आयुक्त, रह चुके हैं राष्ट्रपति के सचिव

संजय कोठारी को केंद्रीय सतर्कता आयुक्त नियुक्त किया गया है. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • संजय कोठारी बने केंद्रीय सतर्कता आयुक्त
  • राष्ट्रपति के सचिव रह चुके हैं संजय कोठारी
  • पिछले साल जून से खाली था CVC का पद
नई दिल्ली:

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) के सचिव संजय कोठारी (Sanjay Kothari) को शनिवार को केंद्रीय सतर्कता आयुक्त नियुक्त किया गया. राष्ट्रपति भवन से जारी एक विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई. देश की भ्रष्टाचार रोधी सर्वोच्च संस्था केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) के प्रमुख का पद के. वी. चौधरी का कार्यकाल पूरा होने के बाद पिछले साल जून से रिक्त था. विज्ञप्ति के अनुसार, ‘‘राष्ट्रपति भवन में सुबह साढ़े दस बजे आयोजित एक समारोह में संजय कोठारी ने केंद्रीय सतर्कता आयुक्त के तौर पर शपथ ली.'' विज्ञप्ति में बताया गया कि उन्होंने राष्ट्रपति के समक्ष पद की शपथ ली.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के नेतृत्व में एक उच्च स्तरीय चयन समिति ने फरवरी में कोठारी के नाम की अनुशंसा की थी. उस समय कांग्रेस ने इसका विरोध करते हुए केंद्रीय सतर्कता आयुक्त की नियुक्ति के लिए अपनाई प्रक्रिया को ‘‘गैरकानूनी और असंवैधानिक'' बताया था और फैसले को तत्काल वापस लेने की मांग की थी. कोठारी की नियुक्ति से सत्तारूढ़ भाजपा और विपक्षी दल कांग्रेस के बीच अब वाकयुद्ध बढ़ सकता है. उनकी नियुक्ति पर प्रतिक्रिया देते हुए फरवरी में कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने केंद्रीय सतर्कता आयुक्त की नियुक्ति के लिए फिर से आवेदन आमंत्रित करते हुए नए सिरे से प्रक्रिया शुरू करने की मांग की थी.

हरियाणा कैडर के 1978 बैच के आईएएस अधिकारी कोठारी कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग के सचिव पद से जून 2016 में सेवानिवृत्त हुए थे. उन्हें नवंबर 2016 में लोक उद्यम चयन बोर्ड (पीईएसबी) का प्रमुख नियुक्त किया गया था. कोठारी को जुलाई 2017 में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के सचिव पद पर नामित किया गया. इस बीच, केंद्र सरकार ने सोमवार को राष्ट्रपति के सचिव के तौर पर कपिल देव त्रिपाठी को नियुक्त किया. असम-मेघालय कैडर के 1980 बैच के आईएएस (सेवानिवृत्त) अधिकारी त्रिपाठी पीईएसबी के अध्यक्ष हैं. केंद्रीय सतर्कता आयुक्त की नियुक्ति राष्ट्रपति एक चयन समिति की सिफारिश पर करते हैं, जिसके अध्यक्ष प्रधानमंत्री हैं और गृह मंत्री तथा लोकसभा में विपक्ष के नेता इसके सदस्य होते हैं.

सीवीसी प्रमुख का कार्यकाल चार वर्ष का या इसके मौजूदा प्रमुख की 65 वर्ष की आयु होने तक का होता है. सीवीसी में केंद्रीय सतर्कता आयुक्त और दो सतर्कता आयुक्त हो सकते हैं. वर्तमान में सतर्कता आयुक्त शरद कुमार अंतरिम केंद्रीय सतर्कता आयुक्त के तौर पर काम कर रहे हैं. कोठारी की नियुक्ति के बाद भी आयोग में सतर्कता आयुक्त का एक पद रिक्त है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने कहा, 'प्रतिदिन एक लाख टेस्ट होने लगे हैं'



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)