NDTV Khabar

'वन नेशन वन इलेक्शन' पर बैठक से कांग्रेस का किनारा, लेकिन पार्टी के इस कद्दावर नेता ने किया समर्थन

कांग्रेस के कद्दावर नेता और मुंबई इकाई के प्रमुख मिलिंद देवड़ा (Milind Deora) इस प्रस्ताव के पक्ष में खड़े दिखाई दे रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'वन नेशन वन इलेक्शन' पर बैठक से कांग्रेस का किनारा, लेकिन पार्टी के इस कद्दावर नेता ने किया समर्थन

मिलिंद देवड़ा (Milind Deora) 'वन नेशन वन इलेक्शन' प्रस्ताव के पक्ष में खड़े दिखाई दे रहे हैं.

मुंबई:

कांग्रेस भले ही पीएम मोदी द्वारा वन नेशन वन इलेक्शन के मुद्दे पर बुलाई गई बैठक में शामिल नहीं हुई हो, लेकिन पार्टी के कद्दावर नेता और मुंबई इकाई के प्रमुख मिलिंद देवड़ा (Milind Deora) इस प्रस्ताव के पक्ष में खड़े दिखाई दे रहे हैं. मिलिंद देवड़ा ने देश में एक साथ लोकसभा और विधानसभाओं के चुनाव कराने के विचार का बुधवार को समर्थन करते हुए दिखाई दिए और उन्होंने इस मुद्दे पर चर्चा कराये जाने की बात कही. उन्होंने कहा कि निरंतर चुनाव की मुद्रा में रहना सुशासन में अवरोधक है और वास्तविक मुद्दों से नेताओं का ध्यान भटकता है. मिलिंद देवड़ा (Milind Deora) ने ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव' को एक ‘महत्वपूर्ण और मूल्यवान सुधार' बताते हुए कहा कि सरकार को सभी राजनीतिक दलों को साथ लेकर और बुद्धिजीवी वर्ग, चुनाव सुधारों पर काम कर रहे संगठनों तथा छात्रों की राय लेकर इस पर फैसला करना चाहिए.  

सर्वदलीय बैठक के बाद बोले राजनाथ सिंह- 'एक देश एक चुनाव' के लिए PM मोदी बनाएंगे समिति


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को ‘एक राष्ट्र, एक चुनाव'के मुद्दे पर विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रमुखों के साथ विचार-विमर्श किया. देवड़ा (Milind Deora) ने एक बयान में कहा, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भारत का राजनीतिक वर्ग, जिसका मैं एक हिस्सा हूं, तेजी से बहस, चर्चा और संवाद की कला को भूल रहा है. मेरी राय में यह भारत की लोकतांत्रिक प्रकृति के लिए गंभीर खतरा है'. उन्होंने कहा, ‘हमें यह बिल्कुल नहीं भूलना चाहिए कि देश में 1967 तक देश में एक साथ ही चुनाव होते थे'. उन्होंने कहा, ‘पूर्व सांसद होने के नाते मैं मानता हूं कि लगातार होने वाले चुनावों की वजह से सुशासन में परेशानियां आती हैं और राजनेताओं का असल मुद्दों से ध्यान भटकता है'.  

‘एक देश एक चुनाव' का मायावती ने किया विरोध, EVM को भी लोकतंत्र और संविधान के लिए बताया खतरा

टिप्पणियां

आपको बता दें कि देश में एक साथ लोकसभा और विधानसभा का चुनाव कराए जाने के मुद्दे पर पीएम मोदी ने आज सर्वदलीय बैठक की, हालांकि कांग्रेस इस बैठक से दूर रही. कांग्रेस के अलावा ममता बनर्जी, मायावती, अखिलेश यादव भी बैठक में नहीं गए. 3 मुख्यमंत्रियों समेत 8 बड़े नेता बैठक में शामिल नहीं हुए. बैठक के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बताया कि 'एक राष्ट्र, एक चुनाव' के मुद्दे पर विचार करने लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक समिति गठित करेंगे जो निश्चित समय-सीमा में अपनी रिपोर्ट देगी. राजनाथ सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री ने बैठक में कहा कि 'एक राष्ट्र, एक चुनाव' के मुद्दे पर एक समिति गठित की जाएगी. राजनाथ सिंह ने कहा कि देश में एकसाथ चुनाव कराने के मुद्दे पर ज्यादातर दलों ने समर्थन किया, हालांकि कुछ मुद्दों पर वैचारिक मतभेद भी थे. राजनाथ सिंह ने बताया कि हमने देशभर की 40 पार्टियों के अध्यक्षों को आमंत्रित किया था, जिसमें से 21 पार्टियों के प्रमुख आज पहुंचे थे और 3 ने पत्र लिखा था. (इनपुट-भाषा से भी)

VIDEO: वन नेशन वन इलेक्शन पर PM की बैठक



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement