अयोध्या पहुंचे महाराष्ट्र के सीएम और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे बोले- बीजेपी से अलग हुए हैं न कि हिंदुत्व से

अयोध्या पहुंचे महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा है कि वह बीजेपी से अलग हुए न कि हिंदुत्व से. उन्होंने कहा कि बीजेपी का मतलब हिंदुत्व नहीं होता है, हिंदुत्व अलग है, बीजेपी अलग है.

अयोध्या पहुंचे महाराष्ट्र के सीएम और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे बोले- बीजेपी से अलग हुए हैं न कि हिंदुत्व से

महाराष्ट्र में सरकार के 100 दिन पूरे होने पर उद्धव ठाकरे अयोध्या पहुंचे थे

खास बातें

  • महाराष्ट्र में सरकार के 100 दिन
  • अयोध्या पहुंचे उद्धव ठाकरे
  • बीजेपी पर भी साधा निशाना
नई दिल्ली:

अयोध्या पहुंचे महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा है कि वह बीजेपी से अलग हुए न कि हिंदुत्व से. उन्होंने कहा कि बीजेपी का मतलब हिंदुत्व नहीं होता है, हिंदुत्व अलग है, बीजेपी अलग है. आपको बता दें कि उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र में सरकार के 100 साल पूरे होने पर अयोध्या पहुंचे हैं. इस मौके पर उन्होंने ऐलान किया कि अपनी तरफ से एक करोड़ रुपए की राशि राम मंदिर निर्माण के ट्रस्ट को देने का फैसला किया. वहीं, अयोध्या आंदोलन के समय महाराष्ट्र से कई कारसेवक आए थे, इसलिए मैं यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के सामने प्रस्ताव रखता हूं कि यहां पर महाराष्ट्र भवन निर्माण कराने के लिए तैयार हैं. ताकि महाराष्ट्र से आए लोगों को यहां रुक सकें. इससे पहले शिवसेना की ओर से कहा गया है कि उसकी विचारधारा में कोई बदलाव नहीं आया है. अपने पूर्व सहयोगी दल बीजेपी पर कटाक्ष करते हुए शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना' में कहा कि भगवान राम और हिंदुत्व किसी एक राजनीतिक दल की संपत्ति नहीं है. शिवसेना ने कहा कि राकांपा और कांग्रेस वाली महा विकास अघाड़ी सरकार ने 100 दिन पूरे कर लिए हैं जो उन लोगों के लिए दुख की बात है जिन्होंने दावा किया था कि यह नयी गठबंधन सरकार 100 घंटे से ज्यादा नहीं चलेगी.

संपादकीय में कहा गया है, ''जिनकी सरकार 80 घंटे ही चल पाई वे दावा कर रहे थे कि ठाकरे सरकार 100 घंटे तक भी नहीं चलेगी. लेकिन इस एमवीए सरकार ने न केवल उन्नति की बल्कि अपने प्रदर्शन से लोगों के मन में भरोसा भी कायम किया.''

शिवसेना देवेंद्र फड़णवीस सरकार के दूसरे कार्यकाल का जिक्र कर रही थी. यह सरकार पिछले साल नवंबर में महज 80 घंटे ही चल पाई थी.  सामना में कहा गया है, 'मुख्यमंत्री ठाकरे के अयोध्या दौरे का स्वागत किया जाना चाहिए क्योंकि वह भगवान श्री राम के चरणकमलों में सरकार द्वारा किए गए कामों के पुष्प अर्पित कर रहे हैं.' संपादकीय में कहा गया है कि ठाकरे की अयोध्या यात्रा को लेकर उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों ने कई सवाल खड़े किए. इसमें कहा गया है, 'कोई भी सरकार का समर्थन कर सकता है लेकिन उद्धव ठाकरे और शिवसेना बाहर तथा अंदर से एक जैसे ही रहेंगे. विचारधारा में कोई बदलाव नहीं आया है. भगवान श्री राम और हिंदुतव किसी एक पार्टी की संपत्ति नहीं है.' 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com