कोरोना से जिंदगी की जंग हारे बीजद विधायक प्रदीप महारथी, लगातार सात बार से पिपली के थे MLA

उनके परिवार में पत्नी पवित्रा के अलावा बेटा रुद्र प्रताप और  बेटी पल्लवी है. महारथी 14 सितंबर को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे.

कोरोना से जिंदगी की जंग हारे बीजद विधायक प्रदीप महारथी, लगातार सात बार से पिपली के थे MLA

प्रदीप महारथी ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत पुरी के एससीएस कॉलेज से छात्र नेता के तौर पर शुरू की थी. (फाइल फोटो)

भुवनेश्वर:

बीजू जनता दल ( Biju Janata Dal) के विधायक प्रदीप महारथी का आज (रविवार, 04 अक्टूबर) निधन हो गया. वो कोरोना से पीड़ित थे और 65 साल के थे. महारथी सात बार से पुरी जिले की पिपली विधान सभा सीट से विधायक चुने गए थे. भुवनेश्वर के एक प्राइवेट अस्पताल में रविवार की अहले सुबह उन्होंने आखिरी सांस ली. उनके परिवार में पत्नी पवित्रा के अलावा बेटा रुद्र प्रताप और  बेटी पल्लवी है. महारथी 14 सितंबर को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे.

इलाज के बाद महारथी को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी लेकिन शुक्रवार को अचानक उनकी तबियत बिगड़ने लगी. तब आनन-फानन में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. शुक्रवार से ही ही उनकी स्थिति नाजुक बनी हुई थी. उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था. रविवार सुबह उनका निधन हो गया.

Newsbeep

महारथी ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत पुरी के एससीएस कॉलेज से छात्र नेता के तौर पर शुरू की थी. 1985 में उन्होंने जनता दल ज्वाइन किया था. इसके बाद वो पिपली विधान सभा सीट से पहली बार विधायक चुने गए थे. देश में इमरजेंसी के दौरान महारथी मीसा एक्ट के तहत गिरफ्तार हुए थे. साल 2000 में उन्होंने बीजद ज्वाइन कर लिया था। सीएम नवीन पटनायक ने उनके निधन पर दुख प्रकट किया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


2011 में महारथी नवीन पटनायक सरकार में मंत्री बनाए गए थे. उन्हें कृषि, मछली पालन, पंचायती राज और पेयजल मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गई थी. इनके कार्यकाल के दौरान ही ओडिशा को लगातार चार बार कृषि कर्मण पुरस्कार मिला था.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)