Cyclone Fani: तूफान फानी की वजह से ओडिशा में तीन लोगों की मौत, पुरी के कई इलाके जलमग्न

चक्रवाती तूफान फानी (Cyclone Fani) ने भारी बारिश और 175 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की प्रचंड हवाओं के साथ शुक्रवार को सुबह ओडिशा तट पर दस्तक दी.

खास बातें

  • पुरी में साइक्लोन ने मचाई तबाही
  • पुरी के कई इलाके बारिश के बाद जलमग्न
  • पीएम ने कहा- केंद्र राज्यों के संपर्क में
नई दिल्ली :

चक्रवाती तूफान फानी (Cyclone Fani) ने भारी बारिश और 175 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार की प्रचंड हवाओं के साथ शुक्रवार को सुबह ओडिशा तट पर दस्तक दी. तूफान (Cyclone Fani) के कारण काफी पेड़ उखड़ गए और झोपड़ियां तबाह हो गईं. अभी तक इसकी वजह से तीन लोगों की मौत होने की खबर है. साथ ही पुरी के कई इलाके जलमग्न हो गए. न्‍यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार तीन अलग-अलग घटनाओं में तीन लोगों की जान चली गई. पुरी में एक किशोर पर पेड़ गिर गया जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई. नयागढ़ में मकान के उड़ते हुए मलबे से टकराने की वजह से महिला की मौत हो गई जबकि केंद्रपाड़ा में एक 65 वर्षीय महिला की तूफान राहत केंद्र में हृदय गति रुक जाने से मौत हो गई. अत्यधिक प्रचंड चक्रवाती तूफान फानी (Cyclone Fani) सुबह करीब आठ बजे पुरी पहुंचा. हालांकि पूर्व चेतावनी के कारण कम से कम 11 तटीय जिलों के निचले एवं संवेदनशील इलाकों से करीब 11 लाख लोगों को बृहस्पतिवार तक हटा लिया गया. दूसरी तरफ, फानी का असर यूपी में भी दिख रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार चक्रवाती तूफान फानी (Cyclone Fani) से प्रभावित राज्यों के साथ संपर्क में है और चक्रवात (Cyclone Fani) प्रभावित राज्यों को अग्रिम राशि जारी कर दी गयी है. राजस्थान के हिंडौन सिटी कस्बे में जनसभा की शुरुआत में मोदी ने कहा,' आज जब हम सब यहां एकत्रित हुए हैं तो उस समय देश के पूर्वी और दक्षिणी तट पर रहने वाले लाखों परिवार भीषण चक्रवात का सामना कर रहे हैं'. 

पीएम ने कहा केंद्र सरकार ओडिशा, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पुद्दुचेरी की सरकारों के साथ लगातार संपर्क में है'. उन्होंने कहा, 'मैं चक्रवात (Cyclone Fani) प्रभावित राज्य सरकारों को और वहां के लोगों को भरोसा देना चाहता हूं कि संकट के समय में केंद्र सरकार हमारे उन सभी परिवारों के साथ हैं जहां चक्रवात की आपदा आई है. बड़ी से बड़ी मुश्किल में हम सभी भारतीयों का एकजुट होकर मुकाबला करना एक भारत, श्रेष्ठ भारत की ही पहचान है' ‘पीएम मोदी ने कहा कि चुनाव की इस आपाधापी के बावजूद उन्होंने हालात की विस्तृत समीक्षा की है. उन्होंने कहा,'‘कल ही हम इस चक्रवात से जूझ रहे राज्यों के लिए 1000 करोड़ रुपये से ज्यादा की अग्रिम राशि जारी कर चुके हैं. एनडीआरएफ, तटरक्षक बल, भारतीय नौसेना और थल सेना पूरी मुस्तैदी के साथ प्रशासन के साथ जुटी हुई है'. 

चक्रवात फानी के दौरान क्या करें और क्या न करें, NDMA ने जारी की लिस्ट

175 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही है हवा
ओडिशा के क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र, भुवनेश्वर के निदेशक एच. आर. बिस्वास ने कहा, ‘चक्रवात (Cyclone Fani Update) सुबह करीब आठ बजे पुरी तट पर पहुंचा और चक्रवात के पहुंचने की प्रक्रिया पूरी होने में करीब तीन घंटे का समय लगेगा'    बिस्वास ने बताया कि चक्रवात का केंद्र करीब 28 किलोमीटर दूर है और वह 30 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है। पुरी और आसपास के इलाकों में 175 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल रही है जो 200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार पर पहुंच सकता है. वहीं, विशेष राहत आयुक्त (एसआरसी) बी. पी. सेठी ने बताया कि चक्रवात के कारण गंजाम, पुरी, खोरधा और गजपति जैसे कई तटीय जिलों में प्रचंड हवा चल रही है. उन्होंने बताया कि करीब 10,000 गांवों और 52 शहरी इलाकों से हटाए गए 11 लाख लोग 4,000 शिविरों में ठहरे हुए हैं जिनमें से विशेष रूप से चक्रवात के लिए बनाए गए 880 केंद्र शामिल हैं. विमान से गिराने के लिए एक लाख से अधिक भोजन के पैकेट तैयार किए गए हैं, इसके लिए दो हेलीकॉप्टर भेजने का अनुरोध किया गया है. 

सड़कों पर गिरे पेड़, तो कइयों के घर हुए तबाह, Photos में देखें फानी चक्रवाती तूफान का कहर

भारतीय तटरक्षक बल ने 34 टीमें की हैं तैनात 
भारतीय तटरक्षक बल ने विशाखापत्तनम, चेन्नई, गोपालपुर, हल्दिया, फ्रासेरगंज और कोलकाता में विभिन्न स्थानों पर 34 आपदा राहत टीमों को तैनात किया है. किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए चार जहाजों को भी तैनात किया है. भारतीय नौसेना ने भी राहत सामग्री और मेडिकल टीमों के साथ तीन जहाजों को भी तैनात किया है ताकि ओडिशा के तट पर चक्रवात (Fani News) के पहुंचने के बाद वह राहत अभियान शुरू कर सकते हैं. नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डी के शर्मा ने बताया कि हवाई सर्वेक्षण के लिए कई विमानों को भी तैयार रखा गया है. कैप्टन शर्मा ने कहा, ‘जरुरत पड़ने पर बचाव अभियान और राहत सामग्री गिराने के लिए हेलीकॉप्टरों को भी तैयार रखा गया है'. 

Cyclone Fani: भारी बारिश, तेज़ हवाएं, बत्ती गुल और अशांत समुद्र, तस्‍वीरों में देखें तूफान फानी का कहर

1999 के बाद का सबसे खतरनाक तूफान 
साइक्लोन फानी को साल 1999 के बाद का सबसे खतरनाक चक्रवाती तूफान (Cyclone Fani)  कहा जा रहा है. साल 1999 के सुपर चक्रवात में 10,000 लोगों की जान चली गई थी और उसने ओडिशा में जमकर तबाही मचाई थी।    ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने चक्रवात के दौरान लोगों से घरों में रहने की अपील की है और कहा कि लोगों की सुरक्षा के लिए सभी प्रबंध कर लिए गए हैं. 11 तटीय जिलों में सभी दुकानें, व्यावसायिक प्रतिष्ठान, निजी और सरकारी कार्यालय एहतियाती तौर पर बंद रहेंगे. वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने चक्रवात फानी (Cyclone Fani News)  के राज्य की ओर बढ़ने पर शुक्रवार को होने वाली अपनी रैलियां रद्द कर दी और लोगों को अफवाहें ना फैलाने तथा घरों के भीतर रहने की सलाह दी है. 

Cyclone Fani : तूफान 'फानी' के असर से यूपी में भी बिगड़ा मौसम, चक्रवात से चार लोगों की 

Newsbeep

223 ट्रेनें रद्द, कोलकाता हवाई अड्डे पर भी असर 
चक्रवाती तूफान 'फानी' (Cyclone Fani)  की वजह से एहतियात के तौर पर, भारतीय रेलवे ने चार मई तक कोलकाता-चेन्नई मार्ग पर ओडिशा तटरेखा के साथ लगे भद्रक-विजयनगरम के बीच 223 ट्रेनों को रद्द कर दिया है. रेल मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, "कोलकाता-चेन्नई मार्ग के भद्रक-विजयनगरम सेक्शन (ओडिशा तटरेखा के साथ लगे) पर 140 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों और 83 यात्री ट्रेनों को चार मई की दोपहर तक रद्द कर दिया गया है". उन्होंने कहा कि नौ ट्रेनों का मार्ग बदला गया है और चार ट्रेनों को कुछ समय के लिए रोका गया है. दूसरी तरफ, ‘फानी' के मद्देनजर कोलकाता हवाईअड्डे से शुक्रवार अपराह्न तीन बजे से शनिवार सुबह तक विमानों का आवागमन बंद रहेगा.  (इनपुट-भाषा और IANS)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


वीडियो- ओडिशा में फानी तूफान की दस्तक, तेज हवाएं और बारिश