शाहीन बाग प्रदर्शन: चौथे दिन बातचीत के लिए पहुंचीं साधना रामचंद्रन, एक तरफ की सड़क खोलने के लिए प्रदर्शनकारियों ने रखी शर्त

प्रदर्शनकारी चाहते हैं कि उन्हें 24 घंटे सुरक्षा मुहैया कराई जाए और सुप्रीम कोर्ट इस संबंध में आदेश जारी करे.

शाहीन बाग प्रदर्शन: चौथे दिन बातचीत के लिए पहुंचीं साधना रामचंद्रन, एक तरफ की सड़क खोलने के लिए प्रदर्शनकारियों ने रखी शर्त

शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों से बातचीत करती साधना रामचंद्रन

खास बातें

  • वार्ताकार साधना रामचंद्रन सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर शाहीन बाग पहुंची
  • प्रदर्शनकारियों ने कहा, मीडिया और पुलिस पर भरोसा नहीं
  • प्रदर्शनकारी ने कहा, वे एक तरफ की सड़क खोलने के लिए तैयार हैं
नई दिल्ली:

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में पिछले दो महीनों से ज्यादा समय से प्रदर्शन चल रहा है. प्रदर्शन के कारण बंद रास्ते को खुलवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्त वार्ताकार साधना रामचंद्रन शनिवार को चौथे दिन शाहीन बाग में प्रदर्शकारियों से बातचीत करने पहुंचीं. बातचीत के दौरान, प्रदर्शनकारियों ने एक तरफ की सड़क खोलने के लिए कुछ शर्तें या मांगें रखी हैं.   

प्रदर्शनकारियों की मांग है कि उन्हें 24 घंटे सुरक्षा मुहैया कराई जाए और सुप्रीम कोर्ट इस संबंध में आदेश जारी करे. प्रदर्शनकारियों ने कहा, "उन्हें मीडिया और पुलिस पर भरोसा नहीं है, हम चाहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट हमारी सुरक्षा की जिम्मेदारी ले."  

प्रदर्शनकारियों की मांग है कि शाहीन बाग और जामिया के लोगों के खिलाफ दर्ज केस और नोटिस को वापस लिया जाए. इसके साथ ही जामिया में हुई हिंसा में पुलिस की भूमिका की भी जांच हो. प्रदर्शन शाहीन बाग पर ही चलता रहे. शाहीन बाग पर भद्दी टिप्पणी करने वाले नेताओं पर कार्रवाई हो. वे चाहते हैं कि प्रदर्शन स्थल की सुरक्षा के लिए स्टील शीट का उपयोग किया जाए. 

शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों से लगातार तीसरे दिन वार्ताकारों ने की बातचीत, कहा- आपकी बातें सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचाएंगे

वार्ताकार साधना रामचंद्रन सुबह 10 बजकर 30 मिनट पर शाहीन बाग पहुंची थीं और उन्होंने करीब डेढ़ घंटे प्रदर्शन स्थल पर बिताए और प्रदर्शकारियों से बातचीत की. कोर्ट ने रास्ता खुलवाने के लिए प्रदर्शकारियों से बातचीत के लिए वकील संजय हेगड़े और साधना रामचंद्रन को वार्ताकार बनाया था. 

इससे पहले, शुक्रवार को हेगड़े और साधना रामचंद्रन ने प्रदर्शनकारियों से बातचीत करते हुए कहा था कि हम सब देख रहे हैं और आपकी बात कोर्ट में उठाएंगे. वार्ताकारों ने प्रदर्शनकारियों से कहा कि आप सड़क खोल दें फिर देखिए कितने रास्ते खुल जाएंगे. 

शाहीन बाग प्रदर्शन की वजह से बंद नोएडा-फरीदाबाद सड़क को कुछ देर के लिए खोला गया

इस बीच,सीएए को लेकर हो रहे प्रदर्शन की वजह से बंद नोएडा-फरीदाबाद सड़क को शुक्रवार को कुछ देर के लिए खोला गया था. हालांकि कुछ देर बाद इसे फिर बंद कर दिया गया.

वीडियो: शाहीन बाग में कब निकलेगा रास्ता?

  

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com