पीएम नरेंद्र मोदी के राजनीतिक गुरु माने जाते थे शंकर सिंह वाघेला, सियासी सफर भी कम दिलचस्प नहीं

शंकर सिंह वाघेला गुजरात में बड़े नेता हैं. वह 'बापू' के नाम से भी मशहूर हैं. वह 40 सालों से भी ज्यादा समय से राजनीति में हैं. कभी उन्हें नरेंद्र मोदी का गुरु माना जाता था.

पीएम नरेंद्र मोदी के राजनीतिक गुरु माने जाते थे शंकर सिंह वाघेला, सियासी सफर भी कम दिलचस्प नहीं

पत्रकारों से बात करते शंकर सिंह वाघेला

नई दिल्ली:

शंकर सिंह वाघेला गुजरात में बड़े नेता हैं. वह 'बापू' के नाम से भी मशहूर हैं. वह 40 सालों से भी ज्यादा समय से राजनीति में सक्रिय हैं. कभी उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राजनीतिक गुरु माना जाता था. वाघेला एकमात्र ऐसे नेता हैं जो बीजेपी और कांग्रेस दोनों के अध्यक्ष रह चुके हैं. अक्टूबर 1996 से अक्टूबर 1997 तक वाघेला गुजरात के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं. वाघेला गुजरात के उन नेताओं में गिने जाते हैं, जिनका अपना जनाधार है. पूरे गुजरात में उनके समर्थक फैले हुए हैं. अपनी इसी छवि के चलते वह चाहते थे कि इस बार के चुनाव में कांग्रेस उनको मुख्‍यमंत्री पद का उम्‍मीदवार घोषित कर दे, लेकिन कांग्रेस ने ऐसा करने से इनकार कर दिया.

मीडिया रिपोर्ट ने मुताबिक कुछ समय पहले गुजरात विधानसभा में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ वाघेला की मुलाकात भी हुई थी. उस मुलाकात के आने वाले विधानसभा चुनावों के लिहाज से राजनीतिक निहितार्थ निकाले जा रहे थे. शंकर सिंह वाघेला ने कुल 6 बार लोकसभा का चुनाव लड़ा था. 3 बार वह सांसद बने थे. गुजरात के दिग्गज नेता वाघेला साल 1977 में पहली बार सांसद बने थे. 1975 में इमरजेंसी के वाघेला जेल भी जा चुके हैं. 
 
यह भी पढ़ें :  

पार्टी नेतृत्व पर बरसे बाघेला, कहा - कुछ नेता मुझे कांग्रेस से बाहर करने के लिए काम कर रहे हैं

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वीडियो देखें : 

वाघेला का सियासी सफ़र

  • आरएसएस और जन संघ से जुड़े
  • 1975: इमरजेंसी के दौरान जेल गए
  • 1977-79: जनता पार्टी से लोकसभा सदस्य
  • 1980-91: गुजरात बीजेपी के महासचिव, अध्यक्ष
  • 1984-89: राज्यसभा सदस्य रहे
  • 1989-96: लोकसभा सदस्य रहे
  • मई 1996: गोधरा से लोकसभा चुनाव हारे
  • 1996: बीजेपी छोड़ी
  • अक्टूबर 1996: राष्ट्रीय जनता पार्टी का गठन
  • अक्टूबर 1996: कांग्रेस के समर्थन से मुख्यमंत्री बने
  • अक्टूबर 1997: मुख्यमंत्री पद से इस्तीफ़ा
  • 1998: राष्ट्रीय जनता पार्टी का कांग्रेस में विलय
  • 1999, 2004: कांग्रेस से लोकसभा चुनाव जीते
  • 2004: केंद्र सरकार में कपड़ा मंत्री रहे
  • 2009, 2014: लोकसभा चुनाव में हारे
  • अभी गुजरात विधानसभा में विपक्ष के नेता