NDTV Khabar

शशि थरूर ने शाह फैसल के इस्तीफे पर किया Tweet, 2019 के लोकसभा चुनाव तक रुक जाते तो...

कांग्रेस नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने कहा कि IAS टॉपर शाह फैसल (Shah Faesal) को 2019 के चुनाव (Lok Sabha Election 2019) तक इंतजार करना चाहिए था.

2.3K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
शशि थरूर ने शाह फैसल के इस्तीफे पर किया Tweet, 2019 के लोकसभा चुनाव तक रुक जाते तो...

कांग्रेस नेता शशि थरूर. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. शाह फैसल के इस्तीफे से मचा सियासी घमासान
  2. शशि थरूर, पी. चिदंबरम का मोदी सरकार पर हमला
  3. थरूर बोले- शाह फैसल 2019 चुनाव तक तो रुक जाते
नई दिल्ली:

IAS अफसर शाह फैसल (Shah Faesal) ने बुधवार को अपनी नौकरी से इस्तीफा दे दिया. शाह फैसल (IAS officer Shah Faesal) ने सिविल सेवा परीक्षा (2010) में टॉप किया था और वे जम्मू-कश्मीर से थे. शाह फैसल (Shah Faesal) ने कश्मीर में कथित हत्याओं और इन मामलों में केंद्र की ओर से गंभीर प्रयास नहीं करने का आरोप लगाते हुए इस्तीफा दिया. शाह फैसल के इस्तीफे के बाद सियासी घमासान मचा हुआ है. कांग्रेस नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने शाह फैसल के इस्तीफे को लेकर मोदी सरकार (Narendra Modi Government) पर हमला बोला. शशि थरूर ने कहा कि शाह फैसल के इस फैसले से वह बेहद निराश हैं. शशि थरूर ने कहा कि शाह फैसल को 2019 के चुनाव (Lok Sabha Election 2019) तक इंतजार करना चाहिए था. 
 

 


कांग्रेस नेता शशि थरूर ने ट्वीट किया, 'IAS टॉपर के इस फैसले से बहुत निराश हूं, जिसपर पूरे देश को गर्व था. मैं वर्तमान सरकार के साथ आपकी निराशा को समझता हूं, जो हममें से कई लोक महसूस करते हैं. लेकिन आपको 2019 चुनाव तक इंतजार करना चाहिए था, जब देश में अधिक मानवीय और सक्रिय सरकार बनेगी. 

 

 

वहीं, वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने कहा कि शाह फैसल का इस्तीफा देना भाजपा सरकार के लिए कलंक है. चिदंबरम ने कहा कि इस कदम से 'दुनिया उनकी पीड़ा और आक्रोश पर ध्यान देगी.' अपने सिलसिलेवार ट्वीट में पूर्व गृह और वित्त मंत्री ने कहा कि प्रथम कश्मीरी आईएएस टॉपर रहे फैसल ने जो कुछ भी कहा है, वह सरकार को दोषी ठहराता है. उन्होंने कहा, 'हालांकि दुखद है, लेकिन मैं आईएएस अधिकारी (अब इस्तीफा दे चुके) शाह फैसल को सलाम करता हूं. उनके बयान का हर शब्द सच है और भाजपा सरकार को दोषी ठहराने वाला है. दुनिया उनकी पीड़ा और आक्रोश पर ध्यान देगी. 'शाह फैसल ने सिविल सेवा अधिकारी पद से इस्तीफा दे दिया है. 

 

 

सोशल मीडिया पर फैसल के इस्तीफे की खबर फैलते ही नेशनल कान्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने उनका राजनीति में स्वागत किया था. उमर ने ट्वीट किया, 'नौकरशाही का नुकसान राजनीति का फायदा बन सकता है. इस तरफ स्वागत है शाह फैसल.' इसके बाद सोशल मीडिया पर दावे किए जाने लगे कि फैसल आगामी दिनों में नेशनल कान्फ्रेंस में शामिल होंगे. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए उमर ने कहा कि उन्होंने फैसल का स्वागत केवल राजनीति में किया है.

 

उन्होंने कहा, 'उनकी भविष्य की सियासी योजनाओं का ऐलान उन्हें करना है.' छह महीने पहले ही जम्मू कश्मीर सरकार ने एक ट्वीट को लेकर फैसल के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की थी. ट्वीट बलात्कार के लगातार सामने आ रहे मामलों पर किया गया था. केंद्र के कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग ने इसे कर्तव्य निभाते हुए पूरी तरह ईमानदारी बरतने में उनकी विफलता माना था. 

टिप्पणियां

शाह फैसल ने इस्तीफे के बाद कहा कि सरकारी सेवा छोड़ने के लिए उन्हें आलोचना और सराहना दोनों मिली है और उन्हें इसकी 'पूरी उम्मीद भी थी.' उन्होंने फेसबुक पोस्ट में लिखा, 'अब मैं सेवा छोड़ चुका हूं. इसके बाद मैं जो कदम उठाऊंगा वह इस पर निर्भर करेगा कि कश्मीरी लोग, खासकर युवा मुझसे क्या चाहते हैं.' फैसल ने अपने भविष्य के बारे में निर्णय करने से पहले लोगों से सुझाव देने के बारे में भी कहा है. उन्होंने कहा अगर आप फेसबुक/टि्वटर से बाहर निकलकर कल (शुक्रवार) श्रीनगर आएं तो हम साथ मिलकर विचार कर सकते हैं. फेसबुक लाइक्स और कमेंट से नहीं बल्कि लोगों से मिलकर राजनीति पर फैसला होगा. 

VIDEO: आईएएस टॉपर शाह फैसल से पीएम से मुलाकात की


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement