AICC की बैठक तक सोनिया गांधी ही रहें कांग्रेस की कार्यकारी अध्‍यक्ष: शत्रुघ्न सिन्हा

पार्टी की बागडोर सोनिया या राहुल गांधी को सौंपने के सवाल पर सिन्हा ने कहा कि दोनों ही काबिल नेता हैं. उन्‍होंने कहा कि सोनिया जी की क्षमता के बारे में देश बखूबी जानता है. दूसरी ओर, राहुल ने भी कांग्रेस का नेतृत्‍व संभालने के बाद मध्‍य प्रदेश, राजस्‍थान और राजस्‍थान में पार्टी को शानदार जीत दिलाई थी.

नई दिल्ली:

कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्‍हा ने उम्‍मीद जताई है कि कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक (CWC) से पार्टी के नेतृत्‍व को लेकर अच्‍छा परिणाम निकलकर आएगा. उन्‍होंने कहा कि पार्टी के लिए यह चुनौतीपूर्ण समय है और मुझे यकीन है कि बैठक से अच्‍छी बातें निकलकर आएंगी जो पार्टी और इसके जुड़े लोगों के लिए बेहतर होंगी. पार्टी की बागडोर सोनिया या राहुल गांधी को सौंपने के सवाल पर सिन्हा ने कहा कि दोनों ही काबिल नेता हैं. उन्‍होंने कहा कि सोनिया जी की क्षमता के बारे में देश बखूबी जानता है. दूसरी ओर, राहुल ने भी कांग्रेस का नेतृत्‍व संभालने के बाद मध्‍य प्रदेश, राजस्‍थान और राजस्‍थान में पार्टी को शानदार जीत दिलाई थी. उनकी क्षमता पर हमें पूरा विश्‍वास है.

''असंतुष्टों के खिलाफ दुर्भावना नहीं'': सोनिया बनी रहेंगी कांग्रेस प्रमुख; 10 बड़ी बातें 

शत्रुघ्न सिन्‍हा ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की इस राय से सहमति जताई कि नया अध्‍यक्ष चुनने के लिए आल इंडिया कांग्रेस कमेटी (AICC)का सेशन बुलाया आए और तब तक सोनिया गांधी कार्यकारी अध्‍यक्ष बनी रहेंगे. उन्‍होंने कहा कि मनमोहन जी बेहद विद्वान व्‍यक्ति हैं पूरी दुनिया उनकी उनकी क्षमता की कायल है. जो उन्‍होंने कहा है उसे हलके में नहीं लिया जाना चाहिए.

CWC में राहुल गांधी की कथित टिप्‍पणी पर कांग्रेस की ओर से आई 'यह' सफाई

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

कांग्रेस में हुई 'लेटरबाजी' को लेकर उन्‍होंने कहा, 'मैं बहुत ज्‍यादा पुराना कांग्रेसी नहीं हूं, इस पार्टी में आए हुए बहुत ज्‍यादा समय नहीं हुआ है.महात्‍मा गांधी, जवाहर लाल नेहरू, लाल बहादुर शास्‍त्री, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की पार्टी है, इसमें कई महान लोग रहे हैं, मैंने देखा है, इस पार्टी में लोकतांत्रिक प्रथा का पूरा निर्वाह होता है. जिन लोगों ने चिट्ठी लिखी, देखना होगा वे कौन हैं. यह पार्टी का अंदरूनी मामला है. यह पार्टी के अंदर की ही बात रही तो मुझे नहीं लगाता इसमेें कुछ गलत  है. क अन्‍य सवाल पर सिन्‍हा ने कहा, 'पत्र लिखा गया तो मैं कहना चाहता हूं कि यह मीडिया के लिए नहीं बल्कि पार्टी के हित में लिखा गया. उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस, इस फैमिली (गांधी/नेहरू) के साथ जुड़ीी रही है निर्भर रही है . वे पार्टी को वोट दिलाने वाले और राष्‍ट्र का निर्माण करने वाले हैं. नेहरू जी के नेतृत्‍व में देश का बहुत विकास हुआ, इसके बाद इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के प्रधानमंत्री काल में भी काफी काम हुआ.