प्रियंका गांधी की एंट्री से लेकर अरविंद केजरीवाल के काम काज तक, क्या कहा दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित ने

एनडीटीवी के खास कार्यक्रम 'हम लोग' में दिल्ली की पूर्व सीएम ने देश से लेकर दिल्ली तक की राजनीति पर बात की.

खास बातें

  • दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित का इंटरव्यू
  • नगमा शहर के कार्यक्रम 'हम लोग' में दी बेबाक राय
  • देश से लेकर दिल्ली तक में कांग्रेस की वापसी की जताई उम्मीद
नई दिल्ली:

तीन बार दिल्ली की मुख्यमंत्री रह चुकीं और हाल ही में दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष बनाई गईं शीला दीक्षित की वापसी से राजधानी में सियासी चहलकदमी तेज हो गई है. एनडीटीवी के खास कार्यक्रम 'हम लोग' में दिल्ली की पूर्व सीएम ने देश से लेकर दिल्ली तक की राजनीति पर बात की. राजनीति में इतने दिनों तक सक्रिय रहने के बाद मिला करीब 2-3 साल का ब्रेक और फिर वापसी. इस पर उन्होंने कहा कि करीब 16-17 साल के बाद आराम करने का मौका मिला था और इस दौरान उस दुनिया से मिलने का मौका मिला, जिनसे मैं दूर हो गई थी. दिल्ली की राजनीति में वापसी के बाद मिली जिम्मेदारी पर शीला दीक्षित ने कहा कि मैं पूरी तरीके से तैयार हूं, ऐसा कहना सही नहीं होगा. उन्होंने कहा कि तैयारी समय के साथ बदलती रहती है. मुझसे जब जिम्मेदारी के बारे में पूछा गया तो मैं हां कह दिया. लेकिन यह कहना आसान नहीं था और न ही बहुत मुश्किल. मुझे नए कामों को करने और चुनौतियों का सामना करने में मजा आता है. 

प्रियंका गांधी
शीला दीक्षित ने कहा कि प्रिंयका जी के आने से कांग्रेस काफी उत्साहित है. पहले वो अपनी मां के संसदीय क्षेत्र में काम करती थीं. लेकिन वो एक सीमित दायरा था. अब यह दायरा बड़ा हो गया है. शीला दीक्षित ने कहा कि वह काफी परिपक्व हैं और इससे कांग्रेस को काफी फायदा मिलेगा और देश के लिए भी अच्छा कदम होगा. दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तर प्रदेश की राजनीति में प्रियंका के आने से फर्क पड़ेगा. लोग उनको पहले से जानते थे और अब वो कार्यकर्ताओं और जनता से सीधे बात करेंगी तो अंतर दिखाई देगा. पीएम मोदी और सीएम योगी के उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी की राजनैतिक पारी पर उन्होंने कहा कि प्रियंका गांधी किसी से डरने वालों में से नहीं हैं.

शीला दीक्षित बोलीं- प्रधानमंत्री बनने में सक्षम में हैं राहुल गांधी, अब दिखने लगी परिपक्वता

राहुल गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा में तुलना 
दोनों के काम करने के तरीके और तुलना के सवाल पर उन्होंने कहा भाई-बहन हैं तो दोनों में समानताएं होना लाजमी हैं. इस पर बोलना ठीक नहीं होगा. प्रियंका गांधी की इंदिरा गांधी से तुलना करने पर शीला दीक्षित ने कहा कि यह सब तो टीवी में दिखाया जा रहा है. इंदिरा जी एक शानदार व्यक्तित्व वाली प्रधानमंत्री थीं. हमें उम्मीद है कि प्रियंका गांधी के आने से हमें भी ऊर्जा मिलेगी. 

राजीव और राहुल गांधी दोनों के साथ काम किया 
शीला दीक्षित ने कांग्रेस में राजीव गांधी की अगुवाई में भी काम किया और राहुल गांधी की. दोनों के काम करने के तरीके पर सवाल पर कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की बात करते हुए शीला दीक्षित ने कहा कि राजीव गांधी महान राजनेता थे, वह हमेशा देश के लिए सही कदम उठाने के लिए जोर देते थे. राहुल गांधी में भी ऐसा ही भाव रहा है. राहुल गांधी को लेकर अब लोग बोलते हैं कि वह निखर कर आ रहे हैं तो अच्छा लगता है. 

NDTV Exclusive : शीला दीक्षित ने कहा- थोड़ा वक्त दीजिए, फिर देखिएगा कि मेरी उम्र मेरे रास्ते में आती है या नहीं

उत्तर प्रदेश में कांग्रेस 
उत्तर प्रदेश की राजनीति में मची हलचल पर शीला दीक्षित ने कहा कि एक विश्वास हो गया है कि कांग्रेस का दायरा बढ़ेगा. उत्तर प्रदेश में पिछली बार हमारी सिर्फ दो सीटें हीं आईं थी. इस बार उम्मीद है कि यह संख्या बढ़ेगी क्योंकि लोगों में विश्वास भी बढ़ा है. 

गठबंधन से अलग 
उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया अध्ययन करेंगे फिर तय करेंगे कि क्या करना है और क्या नहीं. देश को इस पार्टी ने सबसे ज्यादा संभाला है. सपा-बसपा भी हार रहे थे. इसलिए अलग लड़ने से कांग्रेस को फायदा होगा. नुकसान के बारे में क्यों सोचना. 

मोदी लहर 
मोदी लहर के सवाल पर उन्होंने कहा कि मोदी लहर पहले के मुकाबले कम हुई है. लेकिन कितनी कम हुई है ये तो सिर्फ चुनाव बताएगा. चुनाव के जुड़े सर्वे पर बात करते हुए कहा कि यह कहना बड़ी जल्दबाजी होगी. चुनाव के नतीजे बहुत सारी चीजों पर डिपेंड करते हैं. 

पूर्व CM शीला दीक्षित की धमाकेदार वापसी- बनीं कांग्रेस अध्यक्ष, अजय माकन ने ट्वीट कर कही यह बात

भ्रष्टाचार बड़ा मुद्दा होगा 
मोदी सरकार के काम काज और उन पर उठे सवाल को लेकर उन्होंने कहा कि सरकार सवालों का सीधा जवाब नहीं दे पाई. इसका असर उन पर पड़ेगा. राम मंदिर को लेकर शीला दीक्षित ने मोदी सरकार से सवाल पूछा कि किसी दिन जानकारी आती है कि जमीन ले ली गई है, किसी दिन पता चलता है कि सोना-चांदी और करोड़ों रुपये इकट्ठा हो गए. जब सब कुछ हो गया तो वो मंदिर क्यों नहीं बताते हैं. कहां गए वो सोना चांदी और करोड़ों रुपये.      

EVM 
इवीएम पर उठे सवालों पर बात करते हुए शीला दीक्षित ने कहा कि इवीएम पर कुछ शक हो रहा है, पहल शक नहीं होता था. मेरा मानना है कि उस शक को खत्म करना चाहिए नहीं तो लोगों का विश्वास लोकतंत्र पर से खत्म हो जाएगा. 
 
दिल्ली में कांग्रेस 
दिल्ली में कांग्रेस ने साफ कर दिया कि हम जैसे लड़ते रहे हैं वैसे लड़ेंगे. दिल्ली में आम आदमी पार्टी से गठबंधन नहीं होगा. अरविंद केजरीवाल सरकार के काम काज को लेकर उन्होंने कहा कि उनकी किस्मत अच्छी है कि वो हमारे कामों का श्रेय ले रहे हैं. उन्होंने बहुत सारे वादे किए लेकिन किसी को पूरा नहीं किया. शीला दीक्षित ने कहा कि अरविंद केजरीवाल की पार्टी ने कहा था बिजली पानी मुफ्त देंगे. तो क्या उन्होंने ऐसा किया. कुछ भी नहीं किया सरकार ने. अरविंद केजरीवाल का स्टाइल है बोलना ज्यादा और काम कम. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन अवसर पर शीला दीक्षित को आमंत्रित करना चाहिए था : कांग्रेस

बीजेपी के खिलाफ गठबंधन 
देश में बन रहे महागठबंधन की चर्चा पर उन्होंने कहा कि राज्य स्तर पर कोई जरूरत नहीं है और न ही राष्ट्रीय स्तर पर कोई चर्चा हो रही है. राहुल गांधी के प्रधानमंत्री पद के दावेदारी पर बात करते हुए शीला दीक्षित ने कहा कि राहुल गांधी ने ऐसी कोई बात नहीं कही है तो हम भी नहीं कहेंगे.