NDTV Khabar

NDTV से बोलीं शीला दीक्षित- हार जीत चलती रहती है, हार इंदिरा जी के समय भी हुई थी, राहुल को हम मनाएंगे

शीला दीक्षित ने बताया, 'हम आज शाम 4 बजे राहुल गांधी के आवास पर जा रहे हैं. हम पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ उनको मनाने जा रहे हैं.'

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
NDTV से बोलीं शीला दीक्षित- हार जीत चलती रहती है, हार इंदिरा जी के समय भी हुई थी, राहुल को हम मनाएंगे

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित.

नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) के नतीजे आने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने पर राहुल गांधी अभी भी अड़े हैं. कांग्रेस (Congress) नेता उन्हें इस्तीफा देने का फैसला वापस लेने के लिए मना रहे हैं, लेकिन उनका कहना है कि पार्टी में बदलाव करना होगा. मैं इस्तीफा वापस लेने का मन नहीं बदलूंगा. दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित (Sheila Dixit) ने एनडीटीवी से बात करते हुए कहा कि हम उनका इस्तीफा बिल्कुल भी मंजूर नहीं करेंगे. हार जीत चलती रहती हैं, पहले भी कांग्रेस की हार हुई है. उन्होंने कहा, 'राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने अच्छा काम किया है. हार जीत चलती रहती है. लड़ना ज़रूरी है. हार हुई है उसकी समीक्षा की जा रही है. गलतियों को सुधारा जाएगा. हार इंदिरा जी के समय भी हुई थी.' साथ ही उन्होंने बताया, 'हम आज शाम 4 बजे राहुल गांधी के आवास पर जा रहे हैं. हम पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ उनको मनाने जा रहे हैं.

इस्तीफे पर अड़े राहुल गांधी से सहयोगी दल द्रमुक तथा पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने उनसे अपना निर्णय वापस लेने का आग्रह किया. मंगलवार को इस बीच, कांग्रेस में बैठकों और मुलाकातों का दौर भी जारी रहा.  पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने राहुल से मुलाकात कर उनके रूख पर मंत्रणा की. कई दूसरे नेता भी राहुल गांधी के आवास पर पहुंचे. सूत्रों के मुताबिक प्रियंका, कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने गांधी से मुलाकात की. कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि गांधी इस्तीफा देने के अपने रुख पर अड़े हुए हैं . हालांकि पार्टी के नेता उन्हें मनाने की कोशिश में जुटे हैं.


राजस्थान कांग्रेस में आंतरिक संकट के बीच गहलोत कैंप का पलटवार- जारी की मुख्यमंत्री की सभाओं की LIST

इस बीच, यह भी जानकारी सामने आई है कि बुधवार को कुछ प्रदेशों में कांग्रेस की कार्यकारिणी की बैठक हैं जिनमें प्रस्ताव पारित कर राहुल गांधी से यह अपील की जा सकती है कि वह अध्यक्ष पद पर बने रहें. द्रमुक के अध्यक्ष एम के स्टालिन ने भी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से अपने पद से नहीं हटने का अनुरोध किया और कहा कि उनकी पार्टी भले ही आम चुनाव हार गयी लेकिन राहुल ने लोगों का दिल जीता है. द्रमुक ने कहा कि राहुल के पद छोड़ने पर अड़े रहने की खबरों के बीच स्टालिन ने कांग्रेस के शीर्ष नेता से फोन पर बात की और उनसे पार्टी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा देने का विचार छोड़ने की अपील की.

तीन महीने में कांग्रेस के नए अध्यक्ष पर फैसला, कांग्रेस संगठनों का भी होगा पुनर्गठन: सूत्र

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भी गांधी को इस्तीफे का फैसला वापस लेने के लिए मनाने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं. वहीं केरल की तिरुवनंतपुरम लोकसभा सीट से लगातार तीसरी बार कांग्रेस के टिकट पर जीत दर्ज करने वाले शशि थरूर ने कहा कि गांधी ने आगे रहकर पार्टी का नेतृत्व किया और उन्हें अभी पार्टी के लिए बहुत कुछ करना है. कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने राहुल गांधी से मुलाकात के बाद कहा, ‘उन्हें इस्तीफा देने के बजाय सभी स्तर पर नेताओं के इस्तीफे मांगने चाहिए और संगठन में बदलाव करने चाहिए.' कांग्रेस नेता एम वीरप्पा मोइली ने इस हार को ‘गुजरता हुआ एक दौर' करार दिया. गांधी को पार्टी के लिए प्रेरणास्रोत बताते हुए मोइली ने कहा कि उनका पद छोड़ना सही नहीं होगा.

टिप्पणियां

इस्तीफे पर अड़े कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने की यह अपील 

Video: पक्ष-विपक्ष: राहुल गांधी के इस्तीफे से दुविधा



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement