NDTV Khabar

गुजरात में जीत के लिए 'पीएम मोदी के साथ-साथ EVM को भी माला पहनानी चाहिए', जानिए शिवसेना ने ऐसा क्यों कहा?

शिवसेना ने अब गुजरात चुनाव के नतीजों को लेकर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) से छेड़छाड़ होने की ओर इशारा किया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुजरात में जीत के लिए 'पीएम मोदी के साथ-साथ EVM को भी माला पहनानी चाहिए', जानिए शिवसेना ने ऐसा क्यों कहा?

गुजरात चुनाव के नतीजे आने के बाद शिवसेना लगातार बीजेपी पर निशाना साध रही है.

खास बातें

  1. गुजरात नतीजों के बाद लगातार हमलावर है शिवसेना
  2. शिवसेना ने ईवीएम में छेड़छाड़ की आशंका जताई
  3. एक दिन पहले भी कहा था कि गुजरात मॉडल चरमरा गया है
मुंबई: गुजरात चुनाव के परिणाम आने के बाद शिवसेना लगातार बीजेपी पर हमला बोलते हुए दिख रही है. एक दिन पहले ही उसने अपने मुखपत्र 'सामना' में लिखे गए एक संपादकीय में कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पाटीदार नेता हार्दिक पटेल को 'बंदर' कहकर उनका मजाक उड़ाया गया, लेकिन 'इन बंदरों ने शेर को तमाचा जड़ दिया'. अब उसने गुजरात चुनाव के नतीजों को लेकर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) से छेड़छाड़ होने की ओर इशारा किया.

यह भी पढ़ें : गुजरात नतीजे पर शिवसेना का तंज, कहा-'बंदरों ने शेर को तमाचा जड़ दिया'

शिवसेना ने कहा, 'अगर हार्दिक पटेल ने जो कुछ कहा वह सही है तो 'भाजपा को गुजरात में मिली जीत के लिए मोदी के अलावा ईवीएम को भी माला पहनानी चाहिए'. पार्टी ने सोमवार को चुनाव नतीजे आने के बाद मुंबई भाजपा कार्यकर्ताओं के पटाखे जलाने का जिक्र करते हुए कहा, 'गुजरात में भाजपा के 100 का आंकड़ा पार करने में नाकाम रहने के बावजूद कुछ लोग मुंबई में जीत का जश्न मना रहे हैं. हम कह सकते हैं कि उन्होंने इस जीत का सही मतलब नहीं समझा.' पार्टी ने कहा कि गुजरात चुनाव से जाहिर होता है कि सत्तारूढ़ पार्टी चुनाव जीतने के लिए किसी भी स्तर तक जा सकती है.

यह भी पढ़ें : गुजरात चुनाव परिणाम से पता चलता है कि लोग भाजपा से खुश नहीं हैं : शिवसेना

शिवसेना ने दावा किया, 'मोदी ने कहा था कि भाजपा 151 सीटें जीतेगी, जबकि भाजपा प्रमुख अमित शाह ने कहा था कि 150 से अधिक सीटें जीतना उनकी असली जीत होगी. हालांकि, गुजरात के लोगों ने उन्हें 100 सीटें भी नहीं दी.' पार्टी ने दावा किया कि शहरी वर्ग का रुझान भाजपा की ओर था, लेकिन असली हिन्दुस्तान गांवों में बसता है, जहां किसानों और श्रमिकों की समस्या अनसुलझी बनी हुई है. शिवसेना ने एक दिन पहले भी भाजपा पर हमला बोलते हुए दावा किया था कि गुजरात मॉडल चरमरा गया है.

VIDEO : शिवसेना बीजेपी को एक साल के अंदर छोड़ देगी : आदित्य ठाकरे


टिप्पणियां
गौरतलब है कि गुजरात चुनाव में भाजपा ने 99 सीटें हासिल कर सत्ता पर कब्जा बरकरार रखा है. पिछली बार इसने 115 सीटें हासिल की थी. वहीं, कांग्रेस की सीटों की संख्या 2012 की 61 सीटों से बढ़ कर इस बार 77 हो गई है. 

(इनपुट : भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement