उद्धव ठाकरे की पार्टी के दिग्गज नेता का बड़ा बयान- फिर साथ आ सकते हैं शिवसेना-BJP लेकिन इस बारे में...

महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व मुख्यमंत्री और शिवसेना (Shiv Sena) के वरिष्ठ नेता मनोहर जोशी (Manohar Joshi) ने मंगलवार को कहा कि उनकी पार्टी और भाजपा निकट भविष्य में फिर साथ आ सकते हैं.

उद्धव ठाकरे की पार्टी के दिग्गज नेता का बड़ा बयान- फिर साथ आ सकते हैं शिवसेना-BJP लेकिन इस बारे में...

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • पूर्व CM और शिवसेना नेता मनोहर जोशी का बड़ा बयान
  • महाराष्ट्र में फिर साथ आ सकते हैं शिवसेना और BJP
  • उद्धव ठाकरे इस मुद्दे पर उचित समय पर लेंगे निर्णय
मुंबई:

महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व मुख्यमंत्री और शिवसेना (Shiv Sena) के वरिष्ठ नेता मनोहर जोशी (Manohar Joshi) ने मंगलवार को कहा कि उनकी पार्टी और भाजपा निकट भविष्य में फिर साथ आ सकते हैं. जोशी ने पत्रकारों से कहा कि शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) इस मुद्दे पर उचित समय पर निर्णय लेंगे. उन्होंने कहा, 'छोटे मुद्दों पर लड़ने की जगह बेहतर है कि कुछ बातों को बर्दाश्त किया जाए. जिन मुद्दों को आप दृढ़ता के साथ महसूस करते हैं, उसे साझा करना अच्छा है. अगर दोनों दल साथ में काम करते हैं तो यह दोनों के लिए बेहतर होगा.'

नागरिकता बिल पर उद्धव ठाकरे के यू-टर्न से बीजेपी की नाराजगी आई सामने, शिवसेना को याद दिलाया 'हिंदुत्व एजेंडा'

जोशी ने कहा, 'ऐसा नहीं है कि शिवसेना अब कभी भी भाजपा के साथ नहीं जाएगी. उद्धव ठाकरे सही समय पर सही निर्णय लेंगे.' वरिष्ठ शिवसेना नेता का यह बयान ऐसे समय पर आया है, जब दोनों दलों के बीच हाल में मुख्यमंत्री पद को लेकर सहमति नहीं बन पाने के चलते अलगाव हो गया था. इसके बाद शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस ने मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाई थी.

शिवसेना का मोदी सरकार पर निशाना- अर्थव्यवस्था के सर्वनाश के लिए नेहरू तथा इंदिरा गांधी को जिम्मेदार नहीं ठहरा सकते

बता दें कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) और शिवसेना (Shiv Sena) ने महाराष्ट्र में साथ मिलकर चुनाव लड़ा था और दोनों को बहुमत भी मिला था. हालांकि बाद में शिवसेना ने तीन दशक से अधिक समय तक अपने सहयोगी दल भारतीय जनता पार्टी (BJP) से 50:50 फॉर्मूले पर सहमति नहीं बनने के बाद नाता तोड़ लिया था.

Newsbeep

आखिर क्‍यों महाराष्‍ट्र में देवेंद्र फडणवीस ने अजित पवार पर कर लिया था भरोसा...

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


शिवसेना की मांग थी कि ढाई साल शिवसेना (Shiv Sena) का मुख्यमंत्री होगा और ढाई साल बीजेपी का मुख्यमंत्री बनेगा. बीजेपी (BJP) ने शिवसेना (Shiv Sena) की इस मांग को सिरे से खारिज कर दिया था कि इस तरह के किसी भी समझौते पर सहयोगी दल के साथ कोई चर्चा नहीं की गई. इसके बाद केंद्र सराकर में शामिल शिवसेना का एकमात्र मंत्री अरविंद सावंत ने इस्तीफा दे दिया था.