कुलकर्णी को कालिख पोतने पर बोली शिवसेना- यह हिंसा नहीं, हम विरोध पर कायम

कुलकर्णी को कालिख पोतने पर बोली शिवसेना- यह हिंसा नहीं, हम विरोध पर कायम

संवाददाताओं को संबोधित करते सुधींद्र कुलकर्णी और पाक के पूर्व मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी

मुंबई:

पाकिस्तान के पू्र्व विदेश मंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी की पुस्तक के विमाचन का कार्यक्रम रद्द करने से इनकार पर बीजेपी के पूर्व सलाहकार सुधींद्र कुलकर्णी के चेहरे पर स्याही पोतने को लेकर मचे गुस्से के बीच शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने साफ किया है वह कार्यक्रम का विरोध करती रहेगी।

'स्याही मलना लोकतांत्रिक विरोध का बहुत नरम तरीका'
संजय राउत ने इस घटना को लेकर भड़के गुस्से के बाद संवाददाता सम्मेलन कर कहा, कुलकर्णी पर हुआ हमला हिंसा नहीं है। उनकी पार्टी कसूरी के विरोध पर कायम है और वह पुस्तक विमोचन कार्यक्रम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करती है।

इससे पहले इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने कहा, 'स्याही मलना लोकतांत्रिक विरोध प्रदर्शन का बहुत नरम तरीका है।' राउत ने कहा, 'हम नहीं जानते कि स्याही मली गई या तारकोल। कोई भी यह पहले से नहीं बता सकता कि जनता का गुस्सा किस तरह से फूटेगा।'

खबर है कि कुलकर्णी पर हुए हमले को लेकर बढ़ते गुस्से के बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से बात की थी। इससे पहले सूत्रों ने बताया था कि सीएम के दखल के बाद शिवसेना के रुख नरमी आई है और वह अब विरोध नहीं करेगी। हालांकि राउत ने इन अटकलों को विराम दे दिया।

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सीएम फडणवीस ने जताया सख्त ऐतराज
इस घटना पर सीएम फडणवीस ने सख्त ऐतराज जताया था। उन्होंने कहा कि सभी विदेशी नागरिकों, राजनयिकों और गणमान्य लोगों को सुरक्षा देना सरकार का कर्तव्य है। उन्होंने साथ ही कहा कि ऐसे किसी कार्यक्रम के जरिये भारत विरोधी कोई प्रोपेगैंडा बर्दाश्त नहीं किया जाएगा, अगर ऐसा पाया गया तो आयोजकों की जवाबदेही होगी। (पढ़ें- शिवसैनिकों ने  क्यों पोती सुधींद्र कुलकर्णी पर स्याही)

लोकतंत्र के लिए ये घटनाएं ठीक नहीं
केंद्र और राज्य की सत्ता पर आसीम पार्टी बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी ने इस घटना की निंदा की है। उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में ऐसी घटनाएं बढ़ी हैं और ये लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं। कुलकर्णी के आडवाणी का करीबी माना जाता है।