राज्यसभा चुनाव से पहले शिवसेना में असंतोष, प्रियंका चतुर्वेदी की उम्मीदवारी का इस वरिष्ठ नेता ने किया विरोध...

आगामी राज्यसभा चुनाव में शिवसेना द्वारा महाराष्ट्र से प्रियंका चतुर्वेदी को उम्मीदवार बनाये जाने से पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं औरंगाबाद से पूर्व सांसद चंद्रकांत खैरे नाराज नजर आ रहे हैं.

राज्यसभा चुनाव से पहले शिवसेना में असंतोष, प्रियंका चतुर्वेदी की उम्मीदवारी का इस वरिष्ठ नेता ने किया विरोध...

प्रियंका चतुर्वेदी (फाइल फोटो)

खास बातें

  • प्रियंका चतुर्वेदी के उम्मीदवारी का विरोध
  • पूर्व सांसद चंद्रकांत खैरे नेतृत्व से हुए नाराज
  • पिछले साल शिवसेना में शामिल हुई थी प्रियंका चतुर्वेदी
औरंगाबाद:

आगामी राज्यसभा चुनाव में शिवसेना द्वारा महाराष्ट्र से प्रियंका चतुर्वेदी को उम्मीदवार बनाये जाने से पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं औरंगाबाद से पूर्व सांसद चंद्रकांत खैरे नाराज नजर आ रहे हैं. चतुर्वेदी की उम्मीदवारी की घोषणा के बाद खैरे ने पार्टी नेतृत्व पर निशाना साधते हुए कहा कि आदित्य ठाकरे की शिवसेना को शायद उनके जैसे पुराने नेताओं की जरूरत नहीं है. महाराष्ट्र में राज्यसभा की सात सीटों के लिए 26 मार्च को चुनाव होना है. खैरे ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘आदित्य ठाकरे की शिवसेना को अब मेरे जैसे पुराने सहकर्मियों की जरूरत नहीं रह गई है.''

देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता और प्रियंका चतुर्वेदी के बीच Twitter पर फिर हुई नोकझोंक, जानें पूरा मामला

उन्होंने शिवसेना नेतृत्व पर तंज कसते हुए यह भी कहा कि चतुर्वेदी अच्छी अंग्रेजी और हिंदी बोलती हैं, वह संसद में कहीं अधिक प्रभावी तरीके से मुद्दों को रख सकेंगी. उल्लेखनीय है कि चतुर्वेदी कांग्रेस छोड़ कर अप्रैल 2019 में शिवसेना में शामिल हुई थी. उस वक्त शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने कहा था कि शिवसेना कार्यकर्ता को चतुर्वेदी के रूप में एक अच्छी बहन मिल गई है. शिवसेना नेता खैरे ने कहा कि वह दो दशक तक सांसद रहे हैं. चार बार सांसद रहे और पिछले लोकसभा चुनाव में औरंगाबाद सीट पर एआईएमआईएम के इम्तियाज जलील से पराजित हुए खैरे ने कहा, ‘‘राज्यसभा के लिए मेरी उम्मीदवारी मराठवाड़ा क्षेत्र की मांग थी और यदि मुझे उम्मीदवार बनाया जाता तो पार्टी को इस क्षेत्र में कहीं अधिक मजबूती मिलती.''

शिवसेना में शामिल होते ही प्रियंका चतुर्वेदी का 'प्रमोशन', पार्टी ने 'उपनेता' नियुक्त किया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

उन्होंने कहा, ‘‘मेरी पार्टी आलाकमान से बात हुई थी और शिवसेना के नेताओं ने भी पार्टी नेतृत्व से कहा था कि राज्यसभा उम्मीदवार मुझे बनाया जाना चाहिए. लेकिन आदित्य ठाकरे ने चतुर्वेदी के नामांकन पर जोर दिया.'' उन्होंने कहा, ‘‘मैं शुरूआत से शिवसैनिक रहा हूं और पार्टी के संस्थापक बाल ठाकरे तथा पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे के साथ काम किया है. मैं अपनी अंतिम सांस तक पार्टी के लिए काम करता रहूंगा.''

VIDEO: चुनाव इंडिया का : कांग्रेस छोड़ अब शिवसेना के साथ प्रियंका चतुर्वेदी