उद्धव ठाकरे पर सोनिया गांधी का नहीं कोई सियासी दबाव, कांग्रेस अध्यक्ष की चिट्ठी पर बोले संजय राउत 

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पिछले दिनों 14 दिसंबर को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को खत लिखकर कॉमन मिनिमम प्रोग्राम में वर्णित कुछ मुद्दों पर काम पेंडिंग रहने पर ध्यान खींचा था.

उद्धव ठाकरे पर सोनिया गांधी का नहीं कोई सियासी दबाव, कांग्रेस अध्यक्ष की चिट्ठी पर बोले संजय राउत 

शिव सेना प्रवक्ता और सांसद संजय राउत ने कहा है कि उद्धव सरकार पर किसी भी गठबंधन दल का कोई दबाव नहीं है.

खास बातें

  • उद्धव सरकार पर सोनिया गांधी का कोई सियासी दबाव नहीं- संजय राउत
  • शिव सेना प्रवक्ता ने कहा, महाविकास अघाड़ी सरकार बनाने में उनका बड़ा रोल
  • सोनिया गांधी ने 14 दिसंबर को उद्धव ठाकरे को लिखी थी चिट्ठी
नई दिल्ली:

शिव सेना (Shiv Sena) प्रवक्ता और सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा है कि महाराष्ट्र की महाविकास अघाड़ी (Mahavikas Aghadi) सरकार पर किसी भी गठबंधन दल का कोई दबाव नहीं है. उन्होंने स्पष्ट किया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) सरकार पर कोई दवाब नहीं बना रहीं. राउत ने कहा कि सोनिया गांधी UPA की अध्यक्ष हैं और उन्होंने महाविकास आघाड़ी की सरकार बनाने में शरद पवार के साथ महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है.

सोनिया गांधी द्वारा उद्धव ठाकरे को पत्र लिखे जाने पर राउत ने कहा कि महाविकास आघाडी की सरकार बनते समय हमने कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाया था इसी को लेकर लेटर लिखा गया है. शिव सेना प्रवक्ता ने कहा कि कॉमन मिनिमम प्रोग्राम में जो मुद्दे थे, उनसे जुड़े कई काम कोरोना की वजह से पेंडिंग में पड़े हैं. उन्हीं कामों के बारे में पत्र में जिक्र किया गया है.

राउत ने स्पष्ट किया कि कांग्रेस के साथ हम गठबधंन में हैं और कांग्रेस हम पर कोई दबाव की राजनीति  नहीं कर रही. उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी ने राज्य में अनुसूचित जाति-जनजाति के कल्याण से जुड़े कार्यक्रमों का जिक्र  अपनी चिट्ठी में किया है और इसका स्वागत किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि राज्य के लोगों की भलाई के लिए आने वाले हर सुझाव का महाविकास अघाड़ी सरकार स्वागत करेगी.


NCP सुप्रीमो के सपोर्ट में आए राउत, बोले- 'छोटे नेताओं' ने अटकाया पवार की राह में रोड़ा, मिलना चाहिए था PM बनने का मौका

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com