NDTV Khabar

बीएचयू विवाद पर शिवसेना ने साधा पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना, कहा - आप कब तक मौन रहेंगे

लोग अचरज में हैं कि क्या वहां सरकार है भी. वे संशय में हैं कि कानून व्यवस्था का राज है या गुंडाराज है.

22 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीएचयू विवाद पर शिवसेना ने साधा पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना, कहा - आप कब तक मौन रहेंगे

बीजेपी अध्यक्ष के साथ उद्धव ठाकरे.

खास बातें

  1. शिवसेना ने एक बार फिर बीजेपी पर हमला बोला है.
  2. इस बार शिवसेना ने बीएचयू प्रकरण को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधा
  3. पीएम मोदी से मुद्दे पर कुछ बोलने को कहा.
मुंबई: महाराष्ट्र और केंद्र में बीजेपी के साथ सत्ता का सुख भोगने वाली शिवसेना लगातार विपक्ष की भूमिका भी निभाती आ रही है. अब एक बार फिर बीजेपी की सहयोगी शिवसेना ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्य प्रदर्शन को लेकर उन पर तीखा हमला बोला और उनसे पूछा कि क्या बीएचयू छात्राओं पर पुलिस लाठीचार्ज उनका ‘सौभाग्य’ है जिन्होंने बड़ी आकांक्षाओं के साथ उन्हें प्रधानमंत्री चुना है. सत्तारूढ़ राजग में सहयोगी रहते हुए भी केंद्र और महाराष्ट्र सरकार पर अकसर निशाना साधने वाली शिवसेना ने दरअसल प्रधानमंत्री की कल की टिप्पणी पर चुटकी ली जिसमें मोदी ने दिसंबर 2018 तक उन चार करोड़ से अधिक घरों में बिजली पहुंचाने के लिए 16 हजार करोड़ रुपये की ‘सौभाग्य’ योजना की शुरूआत की थी, जहां अभी तक रोशनी नहीं पहुंची है.

यह भी पढ़ें : शिवसेना ने बीजेपी के खिलाफ उगला ज़हर, सामना में लिखा- 'महाराष्ट्र में गदहों का शतरंज जारी'

शिवसेना के मुखपत्र ‘दोपहर का सामना’ में प्रकाशित संपादकीय में पार्टी ने लिखा है, ‘‘महंगाई दानव बन गयी है और आप मौन हैं. पेट्रोल और डीजल के दाम आसमान पर हैं और आप मौन हैं. व्यवस्था में सुधार के नाम पर लोग असहाय हैं और आप मौन हैं.’’ पार्टी ने कहा, ‘‘देश की बेटियों पर लाठीचार्ज किया जा रहा है और आप मौन हैं. आपके पार्टी कार्यकर्ता उत्पात मचा रहे हैं. आप कब तक मौन रहेंगे?’’ संपादकीय के अनुसार, ‘‘क्या यही आपके संसदीय क्षेत्र की बेटियों का सौभाग्य है, जिन्होंने इतनी आकांक्षाओं के साथ आपको शीर्ष पर पहुंचाया.’’ बीएचयू में छेड़छाड़ की कथित घटना के बाद छात्र-छात्राओं के प्रदर्शन के दौरान लाठीचार्ज में बड़ी संख्या में विद्यार्थी और दो पत्रकार घायल हो गये थे.

शिवसेना ने सवाल किया है, ‘‘छात्रों ने केवल यह मांग की थी कि बीएचयू परिसर में सीसीटीवी कैमरे लगाये जाएं और आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए. क्या उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करना सही था?’’ पार्टी ने प्रधानमंत्री के लिए कहा, ‘‘आपने सही से दो बार सोचे-समझे बिना ऐसे कदम उठाये जिनसे देश में तूफान आ गया, लेकिन जहां तक जनता की चिंताओं की बात है तो आपने केवल ‘जुमले’ गढ़े.’’ शिवसेना के मुताबिक, ‘‘आपने अपने कार्यकर्ताओं से कहा कि सत्ता खुशी के लिए नहीं है बल्कि जनता की सेवा के लिए है. लेकिन अगर वे आपसे पूछते हैं कि आपने पिछले तीन साल में क्या सेवा की है तो आपका क्या जवाब होगा.’’ पार्टी ने उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘जहां तक उत्तर प्रदेश सरकार की बात है तो वहां रहने वाले लोग भी नहीं जानते कि कौन सत्ता में है.’’
VIDEO: शिवसेना का प्रदर्शन

संपादकीय कहता है, ‘‘लोग अचरज में हैं कि क्या वहां सरकार है भी. वे संशय में हैं कि कानून व्यवस्था का राज है या गुंडाराज है. इस रहस्य को सुलझाने के लिए अंतरराष्ट्रीय मदद ली जा सकती है.’’ शिवसेना ने यहां तक आरोप लगाया कि केवल उत्तर प्रदेश में नहीं बल्कि मध्य प्रदेश और भाजपा शासित सभी राज्यों में गुंडाराज फैला है. (भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement