NDTV Khabar

शिवसेना ने बीजेपी को दी 'चेतावनी' - राष्ट्रपति चुनाव के लिए सभी पार्टियों से बात कर रहे हैं उद्धव ठाकरे

10 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिवसेना ने बीजेपी को दी 'चेतावनी' - राष्ट्रपति चुनाव के लिए सभी पार्टियों से बात कर रहे हैं उद्धव ठाकरे

शिवसेना सांसद संजय राउत के मुताबिक, उद्धव ठाकरे कई पार्टियों के साथ संपर्क में हैं...

खास बातें

  1. संजय राउत के मुताबिक, उद्धव ठाकरे कई पार्टियों के साथ संपर्क में हैं
  2. राष्ट्रपति चुनाव के लिए BJP के प्रतिद्वंद्वियों से भी संपर्क साधा
  3. राज्यसभा सांसद संजय राउत ने सहयोगी सांसद रवींद्र गायकवाड़ का भी बचाव किया
नई दिल्ली: अब देश के लिए नया राष्ट्रपति चुनने के लिए चार महीने से भी कम वक्त रह गया है, और केंद्र में सत्तासीन भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की महाराष्ट्र में सहयोगी शिवसेना ने संकेत दिए हैं कि उनके समर्थन को पहले से 'जेब में' नहीं माना जाना चाहिए. NDTV को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में शिवसेना के वरिष्ठ नेता तथा राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे कई पार्टियों के साथ संपर्क में हैं, जिनमें बीजेपी की प्रतिद्वंद्वी पार्टियां भी शामिल हैं.

संसद के उच्च सदन के सदस्य संजय राउत ने कहा, "मेरा कहना है कि जिसे भी समर्थन चाहिए (अपने प्रत्याशी के लिए), उन लोगों को पीआर तथा (उद्धव ठाकरे से) संपर्क बनाने पर काम शुरू कर देना चाहिए... यह राजनीति है... राष्ट्रपति का चुनाव भी राजनीति का ही हिस्सा है, और यह अब निष्पक्ष नहीं रहा है..."

वैसे, संजय राउत ने सभी को हैरान करते हुए राष्ट्रपति पद के लिए शिवसेना की पसंद के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सरसंघचालक, यानी आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का नाम लेकर एक नई बहस छेड़ दी है. उन्होंने अपनी पसंद का बचाव करते हुए कहा, "देश अब हिन्दुत्व की विचारधारा को स्वीकार कर रहा है..." और आरएसएस प्रमुख अच्छे राष्ट्रपति साबित होंगे. उन्होंने दावा किया, "अगर हम (आरएसएस प्रमुख मोहन) भागवत का नाम आगे बढ़ाते हैं, तो पूरा देश हमें समर्थन देगा..."

----- ----- ----- ----- ----- -----
देखें संजय राउत का NDTV को दिया एक्सक्लूसिव इंटरव्यू...

----- ----- ----- ----- ----- ----- ----- -----


संजय राउत ने पांच राज्यों में हुए हालिया विधानसभा चुनावों के नतीजों की ओर भी इशारा किया. उन्होंने कहा कि 'हिन्दू बहुल विचार प्रक्रिया' अब लोकप्रिय होती जा रही है, और चूंकि वे 'विजयी साबित' हो रही हैं, सो, उन पर विचार किया ही जाना चाहिए. संजय राउत ने यह भी कहा, "बीजेपी हो या शिवसेना, हमारी सोच यही है कि हम हिन्दू राष्ट्र के विचार पर काम कर रहे हैं..."

यह पूछे जाने पर कि क्या राष्ट्रपति पद के लिए मोहन भागवत का नाम आगे बढ़ाने से देश की धर्मनिरपेक्ष छवि को नुकसान नहीं होगा, शिवसेना सांसद का कहना था, "धर्मनिरपेक्ष होने का अर्थ यह नहीं होता कि हम हिन्दुत्व के बारे में सोच नहीं सकते, या उसके बारे में बात नहीं कर सकते... उत्तर प्रदेश में मुस्लिमों तक ने बीजेपी को वोट दिया..."

लेकिन उन्होंने साफ कहा कि बीजेपी को शिवसेना से संपर्क साधना ही होगा. संजजय राउत ने याद दिलाया, "उद्धव (ठाकरे) जी हमारी पार्टी के प्रमुख हैं... उनके पास (राष्ट्रपति का चुनाव करने वाले इलेक्टोरल कॉलेज में) लगभग 30,000 वोट हैं..."

उत्तर प्रदेश तथा उत्तराखंड के हालिया विधानसभा चुनावों में बीजेपी को मिली शानदार जीत ने इलेक्टोरल कॉलेज में (केंद्र में सत्तासीन) राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए), जिसमें शिवसेना भी सहयोगी है, के वोटों की गिनती को बढ़ा दिया है, लेकिन उनके पास अब भी 25,000 वोट कम हैं.

संजय राउत ने एयर इंडिया कर्मी को पीटकर पिछले कई दिन से देशव्यापी आलोचना का शिकार हो रहे अपनी पार्टी के सांसद रवींद्र गायकवाड़ का भी बचाव किया. उन्होंने कहा, "दिल्ली पुलिस ने रवींद्र गायकवाड़ के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है... वे मामले की जांच करेंगे... एयरलाइन कंपनियां कौन होती हैं उन्हें प्रतिबंधित करने वाली..."

शिवसेना सांसद ने सवाल किया, "दाऊद इब्राहीम तथा छोटा शकील को विमान के ज़रिये ही हिन्दुस्तान लाया जाएगा... पाकिस्तान के लोग भी विमानों से ही सफर करते हैं... आप लोग उन्हें क्यों नहीं रोकते, लेकिन रवींद्र गायकवाड़ को रोक देते हो..."

यह पूछे जाने पर कि शिवसेना ने उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की, संजय राउत ने कहा, "आप हमें मत बताइए, क्या करना चाहिए... हमें मालूम है, क्या करना है... हम पिछले 50 साल से पार्टी को चला रहे हैं..."


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement