NDTV Khabar

संजय राउत का दावा- देश 'खंडित जनादेश' की तरफ बढ़ रहा है, नितिन गडकरी कर रहे हैं इंतजार

शिवसेना सांसद ने कहा, 'मोदी की छवि अब फीकी पड़ गई है. राहुल गांधी  का नेतृत्व मोदी के जितना बड़ा नहीं है, लेकिन उसे अब अहमियत मिल रही है क्योंकि लोग मौजूदा सरकार से निराश हैं.'

3.1K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
संजय राउत का दावा- देश 'खंडित जनादेश' की तरफ बढ़ रहा है, नितिन गडकरी कर रहे हैं इंतजार

मोदी सरकार में मंत्री हैं नितिन गडकरी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. संजय राउत का बयान
  2. देश बढ़ रहा है खंडित जनादेश की ओर
  3. इसके जिम्मेदार पीएम मोदी हैं
नई दिल्ली:

बीजेपी के सहयोगी दल शिवसेना के सांसद संजय राउत ने रविवार को दावा किया कि देश 'खंडित जनादेश' की तरफ बढ़ रहा है और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरीऐसी स्थिति का 'इंतजार' कर रहे हैं. शिवसेना के मुखपत्र 'सामना' के कार्यकारी संपादक राउत ने अखबार में अपने रविवारी आलेख में लिखा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कद घटा है जबकि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का कद बढ़ा है. राउत ने कहा, 'देश खंडित जनादेश की तरफ बढ़ रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसके लिए जिम्मेदार हैं.' उन्होंने कहा कि 2014 में मोदी को मिला पूर्ण बहुमत 'बर्बाद गए मौके' की तरह था. राउत ने लिखा था कि 2014 में मोदी के समर्थन में लहर थी, क्योंकि वोटरों ने तय कर लिया था कि कांग्रेस को हराना है, लेकिन 'आज तस्वीर बदल गई है.' 

नितिन गडकरी बोले- हर किसी को नौकरी नहीं मिल सकती, बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या


शिवसेना सांसद ने कहा, 'मोदी की छवि अब फीकी पड़ गई है. राहुल गांधी  का नेतृत्व मोदी के जितना बड़ा नहीं है, लेकिन उसे अब अहमियत मिल रही है क्योंकि लोग मौजूदा सरकार से निराश हैं.' राउत ने कहा, 'भाजपा के कई वरिष्ठ नेता आगामी चुनावों में पार्टी के संभावित खराब प्रदर्शन को लेकर चिंतित हैं, लेकिन नितिन गडकरी के बयान इस बात के संकेत हैं कि हवा किस तरफ बह रही है. गडकरी जैसे नेता की आरएसएस और भाजपा नेताओं के बीच बराबर स्वीकार्यता है.' उन्होंने दावा किया कि गडकरी को भाजपा अध्यक्ष के तौर पर दूसरा कार्यकाल नहीं मिले, इसके लिए 'राजनीतिक साजिशें' रची गईं थीं.

Exclusive: देश में हाईवे बनाने में हुआ करोड़ों का खेल, कई अफसरों पर हुई कार्रवाई

गौरतलब है कि इससे पहले बीजेपी के दिग्गज नेता संघप्रिय गौतम ने कहा कि केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को डेप्युटी पीएम बना देना चाहिए और गृहमंत्री राजनाथ सिंह को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाना चाहिए. संघप्रिय गौतम ने साथ ही  कहा कि अमित शाह को राज्यसभा में कमान संभालनी चाहिए, जबकि राष्ट्रीय अध्यक्ष की बागडोर शिवराज सिंह चौहान को सौंपी जानी चाहिए. इस बदलाव से बीजेपी कार्यकर्ताओं में विश्वास बढ़ेगा.

TOP NEWS @ 8 AM: नितिन गडकरी के बयान से मचा सियासी घमासान​

 

टिप्पणियां

इनपुट : भाषा

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement