उम्मीद है कि फडणवीस ने बतौर CM जो गलतियां की उन्हें नहीं दोहराएंगे: शिवसेना

शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के एक संपादकीय में कहा कि भाजपा ने वह चेहरा खो दिया है जिसे लोग पसंद करते थे. उन्हें 80 घंटों बाद ही इस्तीफा देना पड़ा था. इसमें दावा किया गया कि लोगों ने भाजपा से दूरी बना ली है.

उम्मीद है कि फडणवीस ने बतौर CM जो गलतियां की उन्हें नहीं दोहराएंगे: शिवसेना

शिवसेना प्रमुख और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे

खास बातें

  • विपक्ष के नेता के तौर पर देवेंद्र फडणवीस गलतियों को नहीं दोहराएंगे
  • फडणवीस के आनन-फानन में सीएम की शपथ लेने पर शिवसेना में फिर हमला बोला
  • शिवसेना ने कहा कि भाजपा ने वह चेहरा खो दिया है जिसे लोग पसंद करते थे
मुंबई:

शिवसेना ने सोमवार को उम्मीद जताई कि महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता के तौर पर देवेंद्र फडणवीस उन गलतियों को नहीं दोहराएंगे जो उन्होंने राज्य का मुख्यमंत्री रहते हुए की थीं. फडणवीस के आनन-फानन में 23 नवंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने पर एक बार फिर हमला बोलते हुए शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना' के एक संपादकीय में कहा कि भाजपा ने वह चेहरा खो दिया है जिसे लोग पसंद करते थे. उन्हें 80 घंटों बाद ही इस्तीफा देना पड़ा था. इसमें दावा किया गया कि लोगों ने भाजपा से दूरी बना ली है. शिवसेना ने कहा, 'भाजपा के पास जो मौजूदा समर्थन है (अपने खुद के विधायकों एवं निर्दलीय विधायकों का) वह संभवत: पार्टी के साथ नहीं रहेगा. पार्टी के साथ जो कुछ भी हो रहा है वह उसके पूर्व के कर्मों का नतीजा है.'

मुंबई : उद्धव ठाकरे ने की घोषणा, आरे कार्यकर्ताओं के खिलाफ मामले वापस लिए जाएंगे

बता दें, प्रदेश भाजपा विधायक दल के नेता फडणवीस को रविवार को विधानसभा में विपक्ष का नेता घोषित किया गया. इस पर शिवसेना ने कहा, 'फडणवीस को याद रखना चाहिए कि इतिहास में उन्हें ऐसे व्यक्ति के रूप में याद किया जाएगा जिसने हर किसी को अंधेरे में रख कर और बहुमत के बिना अवैध तरीके से शपथ ली थी.'

BJP सांसद का दावा, 40 हजार करोड़ रुपये ट्रांसफर करने के लिए देवेंद्र फडणवीस बने थे 80 घंटे के लिए सीएम

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पार्टी ने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा कि वह उस पद (मुख्यमंत्री) पर महज “80 घंटों” के लिए रहे. अगर वह अपनी इस छवि से बाहर निकलना चाहते हैं तो उन्हें नेता प्रतिपक्ष के तौर पर नियमानुसार काम करना होगा और भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं विधायक दल के पूर्व नेता एकनाथ खड़से से ट्यूशन लेनी चाहिए.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)