NDTV Khabar

क्या सीबीआई निदेशक के खिलाफ शिकायत को संस्थान के खिलाफ शिकायत समझा जाना चाहिए : CBI

एजेंसी के उपप्रमुख राकेश अस्थाना ने वर्मा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी और इसे सरकार ने सीवीसी के पास भेज दिया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्या सीबीआई निदेशक के खिलाफ शिकायत को संस्थान के खिलाफ शिकायत समझा जाना चाहिए : CBI

फाइल फोटो

नई दिल्ली: केंद्रीय जांच ब्यूरो के प्रमुख और उनके उप सहकर्मी के बीच अंदरूनी कलह के खराब रुख अख्तियार करने के बीच एजेंसी के सूत्रों ने शनिवार को कहा कि केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) को यह स्पष्ट करना होगा कि सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा के खिलाफ लगे आरोपों को क्या उस संस्था पर लगे आरोप माना जाना चाहिए जिसकी वह अध्यक्षता कर रहे हैं. ये टिप्पणियां सीबीआई की ओर से प्रेस को दिए गए बयान के एक दिन बाद आयी हैं जिनमें 1979 बैच के एजीएमयूटी कैडर के आईपीएस अधिकारी वर्मा के खिलाफ शिकायत की जांच कर रहे (आयोग) सीवीसी को एजेंसी द्वारा सौंपे गए जवाब के विवरण दर्ज थे.

राहुल गांधी के आरोप पर CBI का जवाब: विजय माल्या के खिलाफ 'लुक आउट नोटिस' में बदलाव का फैसला अकेले नहीं, बल्कि...

टिप्पणियां
एजेंसी के उपप्रमुख राकेश अस्थाना ने वर्मा के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी और इसे सरकार ने सीवीसी के पास भेज दिया था. हालांकि एजेंसी ने इन आरोपों को मूर्खतापूर्ण और दुर्भावनापूर्ण बताया था. एजेंसी ने शुक्रवार को मीडिया को एक बयान जारी कर बताया था कि शिकायतकर्ता (अस्थाना) की भूमिका की कम से कम आधा दर्जन मामलों में जांच की जा रही है. सीबीआई के एक सूत्र ने कहा कि सीवीसी को यह स्पष्ट करना होगा कि वर्मा सीबीआई कहलाने वाली संस्था हैं या एक व्यक्तिगत अधिकारी जो सीबीआई के प्रमुख हैं. 

VIDEO: चार्टेड प्लेन से विदेश गया कैश?
उन्होंने कहा कि आयोग से यह भी स्पष्ट करने को कहा गया कि क्या आलोक वर्मा के खिलाफ लगे आरोपों को सीबीआई पर लगे आरोपों के तौर पर देखा जाना चाहिए? खबर के मुताबिक वर्मा पर आरोप है कि उन्होंने पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव की संलिप्तता वाले आईआरसीटीसी घोटाले में आखिरी क्षण में छापेमारी बंद कर दी थी.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement