NDTV Khabar

पुलवामा हमले के बाद हर कार्रवाई का जवाब देने को तैयार थी नेवी, तैनात किए गए थे 60 पोत, 80 विमान और परमाणु पनडुब्बी

नौसेना पहले से ही एक बड़ा अभ्यास कर रही थी लेकिन 14 फरवरी के पुलवामा हमले के बाद पोतों को अभ्यास के बदले कार्रवाई के लिए तैनात कर दिया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुलवामा हमले के बाद हर कार्रवाई का जवाब देने को तैयार थी नेवी, तैनात किए गए थे 60 पोत, 80 विमान और परमाणु पनडुब्बी

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ने पर नौसेना ने उत्तरी अरब सागर में विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य, परमाणु पनडुब्बी चक्र, 60 पोत और करीब 80 विमान तैनात किए थे. नौसेना अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि नौसेना पहले से ही एक बड़ा अभ्यास कर रही थी लेकिन 14 फरवरी के पुलवामा हमले के बाद पोतों को अभ्यास के बदले कार्रवाई के लिए तैनात कर दिया गया. उन्होंने बताया कि नौसेना के करीब 60 पोतों के साथ ही भारतीय तटरक्षक बल के 12 पोतों और करीब 80 विमानों को तैनात कर दिया गया.

टिप्पणियां

मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए चीन को मना रहे हैं अमेरिका, फ्रांस, इंग्लैंड


नौसेना के प्रवक्ता कैप्टन डी के शर्मा ने कहा कि नौसेना ‘ट्रॉपेक्स'' अभ्यास में जुटी थी और इससे उसे जल्दी ही बदलती स्थिति में जवाब देने के लिए पोतों को तैनात करने में मदद मिली. उन्होंने कहा कि सतह, समुद्र के अंदर और हवा में भारतीय नौसेना की श्रेष्ठता के कारण पाकिस्तानी नौसेना की गतिविधियां मकरान तट तक ही सीमित रहीं और वे खुले सागर में नहीं आए. नौसेना प्रमुख एडमिरल सुनील लांबा सोमवार को कोच्चि नौसेना बेस में ट्रॉपेक्स के नतीजों का आकलन करेंगे. नौसेना के प्रवक्ता ने कहा कि कमांडरों के साथ एडमिरल लांबा की दिन भर की समीक्षा का मकसद अभ्यास के संचालन की जांच करना और भारतीय नौसेना की तैयारियों का जायजा लेना है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement