CRPF जवानों के मारे जाने पर खुशी मनाने वालों के साथ अगर दीपिका ने जाना चुना है तो यह उनका अधिकार है : स्मृति ईरानी

एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण के जेएनयू जाने पर अब केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता स्मृति ईरानी भड़क गई हैं. उन्होंने कहा कि दीपिका ने अपना राजनीतिक झुकाव साल 2011 में साफ कर दिया था.

CRPF जवानों के मारे जाने पर खुशी मनाने वालों के साथ अगर दीपिका ने जाना चुना है तो यह उनका अधिकार है : स्मृति ईरानी

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने दीपिका पादुकोण पर निशाना साधा है

खास बातें

  • दीपिका के JNU जाने पर भड़कीं स्मृति ईरानी
  • कहा-2011 में साफ कर दिया था राजनीतिक झुकाव
  • बीजेपी के दूसरे नेताओं ने भी साधा निशाना
नई दिल्ली:

एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण के जेएनयू जाने पर अब केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता स्मृति ईरानी भड़क गई हैं. उन्होंने कहा कि दीपिका ने अपना राजनीतिक झुकाव साल 2011 में साफ कर दिया था. केंद्रीय मंत्री ने आगे कहा कि अगर सीआरपीएफ जवानों के मारे जाने पर खुशियां मनाने वालों को चुनना चाहती हैं तो यह उनका अधिकार है. अगर वह उन लोगों के साथ होना चाहती हैं, जो एक महिला से असमत होने पर उसके प्राइवेट पार्ट में लात मारते हैं, तो ऐसा करना है उनका (दीपिका) का अधिकार हैं. गौरतलब है कि जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में हुई हिंसा के खिलाफ वाम छात्रों ने कैंपस में प्रदर्शन बुलाया था. इस प्रदर्शन में बॉलीवुड अभिनेत्रा दीपिका पादुकोण भी शामिल हुई थीं. वह घायल छात्रों के साथ प्रदर्शन स्थल पर खड़ी दिखीं. हालांकि उन्होंने इस दौरान कोई संबोधन नहीं दिया. इस मौके पर सीपीआई नेता कन्हैया कुमार भी कैंपस में मौजूद थे. दीपिका पादुकोण के करीबियों से मिली जानकारी के अनुसार दीपिका शाम साढ़े सात बजे कैंपस पहुंचीं थी. वह प्रदर्शन में शामिल हुईं और वहां से वापस आने से पहले उन्होंने कुछ वाम छात्र संगठनों के सदस्यों से बात भी की. 

Chhapaak: लखनऊ में सपा कार्यकर्ताओं को 'छपाक' दिखाएंगे अखिलेश यादव, बुक करवाया हॉल

दीपिका का जेएनयू में जाना बीजेपी नेताओं को पसंद नहीं आ रहा है. असम के वित्त मंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने जेएनयू में अभिनेत्री दीपिका पादुकोण के दौरे को लेकर उनकी आलोचना करते हुए कहा कि फिल्मी सितारे अशांत जगहों पर जाकर विवाद खड़ा करने की कोशिश करते हैं और अपनी फिल्म की रिलीज से पहले मुफ्त की लोकप्रियता बटोरते हैं. सरमा के साथ अन्य बीजेपी नेताओं ने भी दावा किया कि पादुकोण ने अपनी हालिया फिल्म ‘छपाक' का प्रचार करने के मकसद से जवारलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) का दौरा किया था. सरमा ने कहा, 'मुझे लगता है कि उन्होंने (दीपिका) जेएनयू का दौरा बिना पैसे के चर्चा में आने के लिए किया. फिल्मी सितारों को अशांत जगहों पर जाकर अपनी फिल्म की रिलीज से पहले विवाद पैदा करने की आदत होती है. वे फिल्म की रिलीज से पहले इस प्रकार के प्रचार अभियान करते हैं.'

दीपिका पादुकोण के JNU पहुंचने पर बोले BJP नेता- हिरोइन को तो मुंबई में डांस करना चाहिए, कैम्पस क्यों गईं

दूसरी ओर बॉलीवुड भी इस मामले में खेमों में बंटा आ रहा है. एक खेमा0 दीपिका के साथ खड़ा नजर आ रहा है. इसमें बॉलीवुड एक्टर वरुण धवन का नाम भी शामिल है. NDTV के कार्यक्रम 'जय जवान' के दौरान वरुण धवन ने कहा कि हिंसा को सभी ने गलत ठहराया है. इससे किसी का फायदा नहीं होगा. इसके अलावा दीपिका के JNU में हिंसा के बाद पहुंचने पर उनकी फिल्म के बायकॉट करने की बात को लेकर वरुण धवन ने कहा कि ये लोगों को डराने की कोशिश है. धवन के अनुसार, ''पब्लिक प्रोफेशन होने की वजह से हम लोगों पर हमला बोलना आसान होता है. लोग इसलिए इसके खिलाफ नहीं बोल रहे हैं क्योंकि वो अपने बिजनेस को नुकसान नहीं होने देना चाहते हैं.'' (इनपुट- भाषा से भी) 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

खबरों की खबर: दीपिका का 'स्किल इंडिया' प्रोमो हटने के पीछे वजह क्या?​