NDTV Khabar

लगभग एक महीने से नजरबंद जम्मू कश्मीर के पूर्व CM उमर अब्दुल्ला से मिलीं उनकी बहन

जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) से उनकी बहन ने सोमवार को मुलाकात की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
लगभग एक महीने से नजरबंद जम्मू कश्मीर के पूर्व CM उमर अब्दुल्ला से मिलीं उनकी बहन

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला बीते एक महीने से नजरबंद हैं. (फाइल फोटो)

श्रीनगर:

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah) से उनकी बहन ने सोमवार को मुलाकात की. कश्मीर में उमर की नजरबंदी का आज 29वां दिन था जब उनके किसी रिश्तेदार ने उनसे मुलाकात की. यह जानकारी अधिकारियों ने दी और बताया कि कुछ नजरबंद नेताओं को अब इसकी इजाजत दी जा रही है कि उनके परिवार के सदस्य उनसे मिल सकते हैं. अधिकारियों ने बताया कि उमर की बहन सफिया ने अपने भाई से पांच अगस्त से अब तक दूसरी बार मुलाकात की. पांच अगस्त को ही जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त किया गया था. उमर के पिता एवं जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला भी नजरबंद हैं. अधिकारियों ने बताया कि उमर अब्दुल्ला की नजदीकी रिश्तेदार सुरैया मट्टू ने भी उनसे मुलाकात की.

उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती को अपने परिवार-रिश्तेदारों से मिलने की अनुमति मिली- सूत्र


अधिकारियों ने कहा कि ऐसे में जब विभिन्न नेता अभी भी नजरबंद हैं जम्मू कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों फारूक, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के साथ ही अन्य नेताओं को इसकी इजाजत दी गई है कि उनके रिश्तेदार जेल नियमों के तहत उनसे संक्षिप्त मुलाकात कर सकते हैं. जम्मू कश्मीर के तीन बार के मुख्यमंत्री रहे फारूक अब्दुल्ला को उनके गुपकर रोड आवास में नजरबंद किया गया है, जबकि उनके पुत्र उमर को मुश्किल से 500 मीटर दूर एक सरकारी गेस्टहाउस हरि निवास में नजरबंद किया गया है.

 कश्मीर के हालात पर सरकारी सूत्रों का बड़ा खुलासा- हिरासत में 40 नेता और 1000 से ज्यादा पत्थरबाज

महबूबा को राज्यपाल निवास राजभवन के पास चश्मेशाही के पास नजरबंद किया गया है. 28 अगस्त को पीडीपी प्रमुख महबूबा की मां और बहन ने उनसे मुलाकात की थी. अधिकारियों ने कहा कि गत सप्ताह के दौरान इन नेताओं में से कुछ के रिश्तेदारों को इनसे दो बार मुलाकात करने दिया गया है. यह मुलाकात करीब 15 मिनट के लिए रही. मुलाकातों के बारे में कोई जानकारी सार्वजनिक नहीं की गई. महबूबा की पुत्री इल्तिजा ने कहा कि उन्हें भी इसकी जानकारी नहीं कि मुलाकातें कैसी रहीं.

उमर अब्दुल्ला से केंद्र के संपर्क की खबरों को नेशनल कॉन्फ्रेंस ने बताया निराधार

उन्होंने सवाल किया, 'मेरी नानी और आंटी को मेरी मां से तब मिलने दिया गया जब मैंने मीडिया से बात करने का निर्णय किया. उन परिवारों का क्या जिनके सदस्यों को आगरा जेल में बंद किया गया है? उन्हें जवाब कौन देगा? क्या उन्हें जानने का अधिकार नहीं है?' पांच अगस्त से सरकार ने 140 व्यक्तियों को उत्तर प्रदेश की विभिन्न जेलों में स्थानांतरित किया है. इनमें अधिकार कार्यकर्ता, पथराव करने वाले और राजनीतिक कार्यकर्ता शामिल हैं.

महबूबा मुफ्ती की बेटी ने गृहमंत्री को लिखा खत- पशुओं की तरह किया कैद, मीडिया से बात करने पर परिणाम भुगतने की दी धमकी

टिप्पणियां

इल्तिजा ने कहा कि करीब एक महीने से उनके राज्य के 80 लाख लोगों को दंडित किया गया है. उन्होंने यह बताने से इनकार कर दिया कि वह इस समय कहां हैं. उन्होंने कहा कि राज्य में 'अभूतपूर्व और दमनकारी पाबंदी' है. उन्होंने कहा, 'यदि पूर्व मुख्मंत्रियों और निर्वाचित प्रतिनिधियों से इस तरह का व्यवहार किया जा रहा है तो कोई भी उन पार्टी कार्यकर्ताओं की स्थिति के बारे में सोचकर कांप उठेगा, जिन्होंने अपने जीवन की कीमत पर यह सुनिश्चित किया कि घाटी में लोकतंत्र अंकुरित हो.'

VIDEO: जम्मू-कश्मीर में कब तक रहेगी फोर्स?



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement