NDTV Khabar

20 नवंबर को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक, राहुल को अध्यक्ष बनाने पर फैसला संभव

राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जाने की अटकलें लंबे समय से चल रही हैं और कई नेता उन्हें अध्यक्ष बनाने की वकालत कर चुके हैं.  

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
20 नवंबर को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक, राहुल को अध्यक्ष बनाने पर फैसला संभव

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. लंबे समय से चल रही है राहुल को अध्यक्ष बनाने की अटकलें
  2. पार्टी के कई नेता राहुल को अध्यक्ष बनाने की कर चुके हैं वकालत
  3. सीडब्ल्यूसी में विचार के बाद आंतरिक चुनाव पर लगेगी मुहर
नई दिल्ली: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने पर 20 नवंबर को फैसला हो सकता है. दरअसल 20 नवंबर को कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की बैठक है और इसमें राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने पर फ़ैसला लिया जाएगा. राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जाने की अटकलें लंबे समय से चल रही हैं और कई नेता उन्हें अध्यक्ष बनाने की वकालत कर चुके हैं.   
यह भी पढ़ें : इन पांच वजहों से राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाना चाहिए...

सूत्रों के हवाले से खबर है कि 20 नवंबर को सीडब्ल्यूसी में विचार विमर्श के बाद आंतरिक चुनाव कार्यक्रम पर मुहर लगेगी. इसके बाद अध्यक्ष पद के लिए नामांकन भरे जाएंगे. सूत्रों के मुताबिक़ कांग्रेस के सेंट्रल इलेक्शन ऑथोरिटी ने जो प्रस्ताव रखा है उसके हिसाब से नामांकन की अंतिम तारीख़ 24 नवंबर हैं. राहुल के अलावा कोई और नामांकन नहीं आने पर इसी दिन मामला साफ़ हो जाएगा. राहुल गांधी के अलावा किसी और के भी नामांकन आने की स्थिति में नाम वापसी की अंतिम तारीख 1 दिसंबर है. अगर कोई और नामांकन करता भी है पर नाम वापस ले लेता है तो राहुल निर्विरोध चुन लिए जाएंगे.

VIDEO : राहुल को अध्यक्ष बनाने पर 20 को होगा फैसला


टिप्पणियां
राहुल के सामने मैदान में किसी के होने की हालत में 8 दिसंबर को चुनाव होगा और वोटों की गिनती 11 दिसंबर को होगी. हालांकि इसकी संभावना न के बराबर है कि राहुल के खिलाफ कोई नामांकन दाखिल होगा. पार्टी सूत्रों का कहना है कि अध्यक्ष पद के लिए राहुल के अकेले उम्मीदवार रहने की संभावना है.

पार्टी नेताओं का कहना है कि वैसे अध्यक्ष पद के चुनाव के कार्यक्रम की मंजूरी के लिए सीडब्लयूसी की औपचारिक बैठक बुलाने की जरूरत नहीं है, लेकिन सोनिया गांधी ने पार्टी की निर्णय करने वाली सर्वोच्च संस्था की मंजूरी लेने का फैसला किया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement