सोनिया गांधी ने फिर बोला केंद्र पर हमला, पूछा- जब चीनी घुसपैठ नहीं हुई तो 20 जवानों की जान कैसे और क्यों गई?

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को फिर एक बार केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए पूर्वी लद्दाख में चीनी सेना के घुसपैठ पर सवाल उठाए हैं. कांग्रेस की ओर से जारी किए गए इस वीडियो में सोनिया गांधी ने घुसपैठ को लेकर आरोप लगाया कि मोदी सरकार स्पष्ट जवाब नहीं दे रही है.

सोनिया गांधी ने फिर बोला केंद्र पर हमला, पूछा- जब चीनी घुसपैठ नहीं हुई तो 20 जवानों की जान कैसे और क्यों गई?

सोनिया ने चीनी घुसपैठ पर फिर बोला केंद्र पर हमला.

खास बातें

  • सोनिया ने फिर चीनी घुसपैठ पर उठाए सवाल
  • कहा- केंद्र सरकार देश को विश्वास में ले
  • 'बताए कि क्या चीन ने देश की अखंडता का उल्लंघन किया है क्या'
नई दिल्ली:

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शुक्रवार को फिर एक बार केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए पूर्वी लद्दाख में चीनी सेना के घुसपैठ पर सवाल उठाए हैं. कांग्रेस की ओर से जारी किए गए इस वीडियो में सोनिया गांधी ने घुसपैठ को लेकर आरोप लगाया कि मोदी सरकार स्पष्ट जवाब नहीं दे रही है. उन्होंने पूछा कि क्या सरकार इस मामले में स्थिति साफ कर देश को विश्वास में लेगी?

सोनिया गांधी ने इस वीडियो में कहा, 'आज कांग्रेस और देश के नागरिक हमारे 20 जवानों के शहादत को श्रद्धांजलि देते हुए सलाम दिवस मना रहे हैं. गलवान घाटी में वीरगति को प्राप्त करने वाले इन सैनिकों के प्रति देश हमेशा आभारी रहेगा.' उन्होंने कहा कि कांग्रेस और पूरा देश सेना और सैनिकों के साथ खड़ा है, ऐसे में इस संकट की स्थिति में सरकार अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हट सकती है. 

उन्होंने कहा, 'प्रधानमंत्री कहते हैं कि हमारे देश में कोई घुसपैठ नहीं हुई है, लेकिन रक्षामंत्री और विदेश मंत्रालय कई बार बड़ी संख्या में चीनी घुसपैठ की चर्चा करते हैं. फौज के जनरलों, रक्षा एक्सपर्ट और समाचारपत्र भी सैटेलाइट तस्वीरें दिखाकर चीनी घुसपैठ की पुष्टि कर रहे हैं.'

सोनिया ने पूछा, 'आज जब हम शहीदों को नमन कर रहे हैं, ऐसे में देश जानना चाहता है कि अगर प्रधानमंत्री के मुताबिक, घुसपैठ नहीं हुई है तो हमारे 20 सैनिकों की शहादत कैसे और क्यों हुई? चीन की सेना की लद्दाख में गुस्ताखी के बाद कब्जा की गई जमीन को सरकार कैसे वापस लेगी? क्या चीन गलवान घाटी और पेंगांग्त्सो इलाके में बंकर बनाकर हमारी भूभाग अखंडता का उल्लंघन कर रहा है?' उन्होंने आखिर में कहा कि क्या सरकार इस विषय पर पूरे देश को विश्वास में लेगी? सोनिया ने कहा कि आज पूरा देश सेना और सैनिकों के साथ अडिग रूप से खड़ा है, ऐसे में केंद्र सरकार को चाहिए कि सेना को पूरा सहयोग, समर्थन और ताकत दे यही सच्ची देशभक्ति है.

15 जून की रात को पूर्वी लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल के पास स्थित गलवान घाटी में भारत और चीन के जवानों में हिंसक झड़प हो गई थी, जिसमें 20 भारतीय जवानों ने अपनी जान गंवा दी थी. इसमें भारतीय सेना के सूत्रों के अनुसार, चीनी सेना के 43 सैनिकों के हताहत होने की खबर आई थी, वहीं एक चीनी कर्नल मारा गया था. इस घटना से दोनों देशों के बीच में तनाव बहुत बढ़ गया है, जिसे दोनों ही देश बातचीत करके सुलझाने में लगे हुए हैं. 


VIDEO: गलवान घाटी की नई सैटेलाइट तस्वीरों में दिखा चीनी सैनिकों का बड़ा जमावड़ा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com