फ्लाईओवर से नीचे सड़क पर गिरी कार, हादसे में 1 की मौत, CCTV में कैद हुए दिल दहला देने वाले फुटेज

990 मीटर लंबा यह फ्लाईओवर शहर के व्यस्त आईटी इलाके में है.  इसका उद्घाटन 4 नवंबर को आईटी मंत्री केटी रामाराव ने किया था.

खास बातें

  • फ्लाईओवर के डिजाइन पर उठाए लोगों ने सवाल
  • 4 नवंबर को आईटी मंत्री केटी रामाराव ने किया था उद्घाटन
  • मेयर ने 3 दिन तक फ्लाईओवर को बंद करने का दिया निर्देश
हैदराबाद:

हैदराबाद में शनिवार को दिल दहला देने वाला सड़क हादसा हुआ. यहां एक फ्लाईओवर से गुजरते वक्त तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर नीचे सड़क पर आ गिरी. इस हादसे में सड़क पर खड़ी एक महिला की दबकर मौत हो गई जबकि कार में सवार ड्राइवर सहित 5 अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. ये घटना सड़कों पर लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई है. इसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. इसमें सड़क पर दिख रही परछाई से अंदाज लगाया जा सकता है कि कार किस तरह हवा में उड़ते हुए नीचे सड़क पर गिरी है. 

यह हादसा शहर के गाचीबोवली इलाके में दोपहर 1 बजे बायोडायवर्सिटी जंक्शन के पास स्थित फ्लाईओवर पर हुआ. यहां फ्लाइओवर पर तेज रफ्तार से आ रही लाल रंग की फॉक्सवैगन कार अनियंत्रित हो गई. इसके बाद ये मोड़ पर रेलिंग तोड़ते हुए नीचे सड़क पर आ गिरी. यहां सड़क पर अपनी बेटी के साथ ऑटो का इंतजार करने के लिए खड़ी एक महिला कार के नीचे दब गई और उसकी मौके पर ही मौत हो गई. कार के गिरते ही आस-पास के लोग भाग खड़े हुए. दुर्घटना में एक पेड़ टूट गया और एक शोरूम के बाहर खड़ी दो कारें भी क्षतिग्रस्त हो गईं. 

कार में तीन लोग सवार थे. इसमें ड्राइवर गंभीर रूप से घायल हो गया है, जिसकी पहचान मिलन के तौर पर हुई है. हालांकि कार के एयर बैग खुल जाने से उसकी जान बच गई.  साइबराबाद पुलिस विभाग ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि कार तय की गई 40 किमी प्रति घंटे की लिमिट से ऊपर 104 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही थी. 

शराब पीकर चला रहा था गाड़ी, सड़क किनारे स्टॉल पर खाना खाते लोगों पर चढ़ाई कार, देखें VIDEO

हैदराबाद के मेयर बोंटू राममोहन ने कहा कि फ्लाईओवर पर स्पीड लिमिट निर्धारित करने के लिए फ्लाईओवर को तीन दिनों के लिए बंद रखा जाएगा. उन्होंने दुर्घटना में मरने वाली महिला के परिवार को 5 लाख रुपये का मुआवजा देने और घायलों को चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराने की घोषणा की है. 

990 मीटर लंबा यह फ्लाईओवर शहर के व्यस्त आईटी इलाके में है.  इसका उद्घाटन 4 नवंबर को आईटी मंत्री केटी रामाराव ने किया था.  उद्घाटन के एक सप्ताह के भीतर ही फ्लाईओवर पर तेज रफ्तार बाइक के कार से टकराने पर दो लोगों की मौत हो गई थी. इस घटना के बाद  कई लोगों ने सोशल मीडिया पर फ्लाईओवर के डिजाइन के बारे में सवाल उठाना शुरू कर दिया. लोगों का कहना है कि फ्लाइओवर में कई मोड़ और घुमाव हैं. 

टोल प्लाजा पर अचानक एक्सीलेटर दबाने की वजह से कार की चपेट में आए कई लोग, देखें VIDEO

केटी रामाराव ने खुद ट्विटर पर इस घटना के लिए चिंता व्यक्त की है. उन्होंने लिखा,  बायोडायवर्सिटी फ्लाईओवर पर हुई आज की दुर्घटना के बारे में सुनकर दुखी हूं.  प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है कि ऐसा ओवर स्पीडिंग की वजह से हुआ है. GHMC (Greater Hyderabad Municipal Corporation) के इंजीनियर-इन-चीफ और साइबराबाद पुलिस कमिश्नर को फ्लाईओवर को बंद करने, गति नियंत्रण और सुरक्षा उपाय करने के साथ ही जांच के लिए स्वतंत्र विशेष समिति गठित करने का निर्देश दे दिया गया है. 

साइबराबाद ट्रैफिक पुलिस ने सलाह दी है कि फ्लाईओवर पर कोई पैदल यात्री नहीं होना चाहिए और न ही उन्हें सेल्फी या किसी अन्य गतिविधि के लिए यहां रुकना चाहिए.  यह यूनिडायरेक्शनल फ्लाईओवर राज्य सरकार की रणनीतिक सड़क विकास योजना (एसआरडीपी) के तहत 69.47 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है. 
 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com