क्या बच सकती थी सैकड़ों जिंदगियां? हमलों से 2 घंटे पहले भारत ने किया था श्रीलंका को आगाह

Sri Lanka Bobm Blast: ईस्टर के मौके पर हुए सीरियल बम ब्लास्ट को लेकर भारतीय खुफिया अधिकारियों ने श्रीलंका की खुफिया अधिकारियों को पहले ही आगाह कर दिया था.

क्या बच सकती थी सैकड़ों जिंदगियां? हमलों से 2 घंटे पहले भारत ने किया था श्रीलंका को आगाह

श्रीलंका में बम धमाकों को लेकर भारत ने किया था आगाह.

नई दिल्ली:

ईस्टर के मौके पर श्रीलंका में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों ने न सिर्फ 300 लोगों की जानें लीं, बल्कि पूरी दुनिया को सहम कर दिया. मगर अब इस धमाके को लेकर हर दिन नए खुलासे सामने आ रहे हैं. ईस्टर के मौके पर हुए सीरियल बम ब्लास्ट को लेकर भारतीय खुफिया अधिकारियों ने श्रीलंका की खुफिया अधिकारियों को पहले ही आगाह कर दिया था. इस मामले के तीन जानकार सूत्रों ने कहा कि भारतीय इंटेलीजेंस ने कोलंबो सीरियल ब्लास्ट के इनपुट 2 घंटे पहले ही श्रीलंकन इंटेलीजेंस के अधिकारियों को दे दी थी.

श्रीलंका विस्फोट: चर्च में घुसने से पहले आत्मघाती हमलावर ने एक बच्ची के सिर पर रखा हाथ और फिर... देखें VIDEO

हमलावरों ने ईस्टर के मौके पर भीड़भाड़ वाले जगहों को निशाना बनाया. आत्मघाती हमलावरों ने रविवार को तीन गिरिजाघरों और चार होटलों में विस्फोट किया, जिसमें 321 लोगों की मौत हो गई और 500 से अधिक घायल हो गए. बता दें कि शीत युद्ध के बाद यह श्रीलंका का सबसे खुनी वाला दिन था. श्रीलंका में हुए इन आत्मघाती हमलों की जिम्मेदारी मंगलवार को आतंकी संगठन आईएसआईएस ने ली. हालांकि, इन हमलों को लेकर उसने दावे भले ही किए हों, मगर कोई सबूत पेश नहीं किया. 

आतंकी संगठन ISIS ने ली श्रीलंका में हुए बम धमाकों की जिम्मेदारी, 300 से ज्यादा लोगों की हुई थी मौत, सामने आया हमलावर का VIDEO

एक श्रीलंकाई रक्षा सूत्र और एक भारत सरकार के सूत्र ने कहा कि भारतीय खुफिया अधिकारियों ने पहले विस्फोट से करीब 2 घंटे पहले अपने श्रीलंकाई समकक्षों से संपर्क किया था और हमले को लेकर आगाह किया था. उन्होंने साफ तौर पर कहा था कि हमलावर विशेष तौर पर गिरिजाघरों पर हमला कर सकते हैं. 

श्रीलंका सीरियल ब्लास्ट में 31 विदेशी नागरिकों ने गवाई जान, सबसे ज्यादा भारतीय

एक अन्य श्रीलंकाई रक्षा स्रोत ने कहा कि पहले हमले से 'कुछ घंटे पहले' एक चेतावनी आई थी. श्रीलंका के एक और सूत्र ने कहा कि शनिवार रात को भारतीय अधिकारियों  की ओर से एक चेतावनी भी भेजी गई थी. एनडीटीवी से बातचीत में उन्होंने माना कि खुफ़िया रिपोर्ट मिली थीं और उसके हिसाब से कदम उठाने में चूक हुई. 

Newsbeep

श्रीलंका के उप रक्षामंत्री का दावा : न्यूजीलैंड के 'क्राइस्टचर्च का बदला' लेने के लिए हुए कोलंबो में बम धमाके

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


भारत सरकार के सूत्र ने कहा कि इसी तरह के संदेश 4 अप्रैल और 20 अप्रैल को श्रीलंका के खुफिया एजेंटों को दिए गए थे. श्रीलंका के राष्ट्रपति और भारतीय विदेश मंत्रालय दोनों ने इस टिप्पणी पर जवाब नहीं दिया है. वहीं, श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने कहा है कि अभी भी कुछ लोग विस्फोटकों के साथ फरार हैं जिससे और हमलों का ख़तरा है.