श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने मोदी सरकार की इस योजना की तारीफ की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका के अपने समकक्ष महिंदा राजपक्षे से सोमवार को कहा कि गंगा नदी भारतीय सभ्यता, हमारी संस्कृति और आर्थिक जीवनरेखा के केंद्र में है.

श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने मोदी सरकार की इस योजना की तारीफ की

श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे पांच दिवसीय भारत यात्रा पर हैं

नई दिल्ली :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका के अपने समकक्ष महिंदा राजपक्षे से सोमवार को कहा कि गंगा नदी भारतीय सभ्यता, हमारी संस्कृति और आर्थिक जीवनरेखा के केंद्र में है. राजपक्षे द्वारा वाराणसी की अपनी यात्रा के बारे में किये गये पोस्ट के जवाब में मोदी ने यह ट्वीट किया. राजपक्षे ने ट्वीट किया, "वाराणसी से रवाना होने से पहले मुझे पवित्र गंगा नदी जाने का सम्मान प्राप्त हुआ." उन्होंने ट्विटर पर लिखा, "मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नमामि गंगे प्रयास की प्रशंसा करता हूं, केवल इसलिए नहीं कि इसका आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक महत्व है बल्कि इसलिए भी क्योंकि यह करीब 40 फीसदी भारतीय आबादी को समेटे हुए भी है."

Newsbeep

जवाब में मोदी ने कहा, "गंगा हमारी सभ्यता के केंद्र में है। यह हमारी सांस्कृतिक एवं आर्थिक जीवनरेखा है." उन्होंने ट्विटर पर लिखा, "मुझे खुशी है कि आपने वाराणसी में समय बिताया और गंगा भी गये. अनुभव बड़ा शानदार रहा होगा." नमामि गंगे कार्यक्रम गंगा को स्वच्छ बनाने और उसके प्रवाह में सुधार लाने के लिए 2014 में शुरू किया गया था.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बता दें कि श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे पांच दिवसीय यात्रा भारत के तहत रविवार को वाराणसी पहुंचे थे. महिंदा राजपक्षे एयरपोर्ट से काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे जहां उन्होंने विधि-विधान से पूजा-अर्चना की. बाबा दरबार में पूजन के बाद वह श्री काल भैरव मंदिर में दर्शन करने पहुंचे और आरती में शामिल हुए. इसके बाद राजपक्षे शाम को सारनाथ गए जहां उन्होंने स्तूप और पुरातात्विक संग्रहालय के अवलोकन के साथ ही बौद्ध मंदिर में दर्शन पूजन भी किया.