NDTV Khabar

श्री राम सेना प्रमुख प्रमोद मुत्तालिक समेत मेंगलोर पब हमले के सभी 30 अभियुक्त बरी

इन लोगों पर 24 जनवरी 2009 के दिन दक्षिण कर्नाटक के मंगलौर के एक पब में वहां मौजूद लड़के लड़कियों से मारपटी करने आरोप था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
श्री राम सेना प्रमुख प्रमोद मुत्तालिक समेत मेंगलोर पब हमले के सभी 30 अभियुक्त बरी

अदालत की फाइल फोटो

नई दिल्ली : कर्नाटक की निचली अदालत ने श्री राम सेना के प्रमुख प्रमोद मुत्तालिक समेत कुल 30 लोगों को मेंगलौर पब मामले में सबूतों के अभाव में बरी कर दिया है. गौरतलब है कि इन लोगों पर 24 जनवरी 2009 के दिन दक्षिण कर्नाटक के मंगलौर के एक पब में वहां मौजूद लड़के लड़कियों से मारपटी करने आरोप था. बरी किए गए ज्यादातर लोगों में से कई लोग अभी जेल में थे. अदालत के इस फैसले के फौरन बाद श्री राम सेना प्रमुख प्रमोद मुत्तालिक ने इस फैसले को "न्याय और सच्चाई की जीत" बताया. खास बात यह है कि फैसले के वक़्त प्रमोद मुत्तालिक अदालत में ही मौजूद थे.

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में बीजेपी के विधायक ठुकराल ने महिलाओं को पीटा, मामला दर्ज

अदालत ने फैसला सुनाते हुए कहा कि अभियोजन पक्ष द्वारा पेश के सबूत अभियुक्तों को दोषी करार देने के लिए काफी नहीं हैं. ध्यान हो कि निचली अदालत का यह फैसला तक़रीबन 9 सालों के बाद आया है. 24 जनवरी 2009 को शाम तक़रीबन 4 बजे मेंगलुरु के एक पब में कुछ लोग घुस आए और वहां मौजूद लड़के लड़कियों के साथ मारपीट करने लगे.

यह भी पढ़ें: अस्पताल में महिला की मौत के बाद उसके साथी के फरार होने पर मारपीट

और उस वहां मौजूद लोगों और कुछ लोकल चैनल के कैमरामैनों ने अपने कैमेरे में कैद किया जो उस समय राष्ट्रीय और औन्तर्राष्ट्रीय खबरों की सुर्खियां भी बनी. तब श्री रामसेना ने इस हमले की वजह भारतीय संस्कृति की हिफाज़त बताई थी.  लेकिन एक साल बाद श्री राम सेना प्रमुख प्रमोद मुत्तालिक ने इस हमले को भूल बताया था.

टिप्पणियां
VIDEO: दूसरे दिन भी जारी रहा हड़ताल.


2014 में लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मुत्तालिक बीजेपी  में शामिल हुए. लेकिन जब हंगामा मचा तो कुछ ही घण्टे में उन्होंने पार्टी छोड़ दी .
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement