NDTV Khabar

सभी पक्षों के सौहार्द से जल्द बनेगा राम मंदिर : श्रीश्री रविशंकर

वह यहां दिल्ली-आगरा राजमार्ग पर कोसीकलां कस्बे में स्थित स्थानीय आश्रम पर देशी-विदेशी भक्तजनों के साथ होली का पर्व मनाने के लिए आए थे. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
सभी पक्षों के सौहार्द से जल्द बनेगा राम मंदिर : श्रीश्री रविशंकर

श्री श्री रविशंकर (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. आपसी सहमति बनाकर सुलझा लिया जाएगा मुद्दा
  2. पूरी उम्मीद है अयोध्या में राम मंदिर निर्माण होगा
  3. मथुरा में होली का पर्व मनाने के लिए आए थे
मथुरा: ‘आर्ट ऑफ लिविंग’ के संस्थापक एवं आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर ने कहा है कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का मुद्दा सभी पक्षों में आपसी सहमति बनाकर सुलझा लिया जाएगा और मंदिर निर्माण का रास्ता प्रशस्त हो जाएगा. वह यहां दिल्ली-आगरा राजमार्ग पर कोसीकलां कस्बे में स्थित स्थानीय आश्रम पर देशी-विदेशी भक्तजनों के साथ होली का पर्व मनाने के लिए आए थे. 

उन्होंने कल कहा, ‘मुझे पूरा विश्वास है कि राम मंदिर मसला शीघ्र सुलझा लिया जाएगा. इसके लिए वह देश के कोने-कोने में जाकर दोनों संबंधित समुदायों के बीच सौहार्द स्थापित करने के प्रयास जारी रखेंगे. सब कुछ सही दिशा में चल रहा है. लोग एक-दूसरे के करीब आ रहे हैं. यह अच्छी बात है.’ 

उन्होंने कहा, ‘मैं दोनों पक्षों के बीच समझौते के प्रयास में लगा हूं. सुलह-समझौते की कोशिशों को पूरे देश से समर्थन मिल रहा है. सभी पक्षों से बातचीत का क्रम बरकरार रखते हुए प्रयास आगे भी जारी रहेगा. उम्मीद है अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का रास्ता जल्द खुल जाएगा.’ 

इससे पहले, प्रदेश सरकार में संस्कृति, धर्मार्थ कार्य, अल्पसंख्यक एवं वक्फ मामलों के मंत्री चौधरी लक्ष्मी नारायण के साथ उन्होंने आधे घण्टे अकेले में मंत्रणा की जो मंदिर से सभी पक्षों के सहमति, सौहार्द बनाए रखने व मंदिर निर्माण की बाधाएं दूर करने पर केंद्रित रही. 

टिप्पणियां
मंत्री ने बताया, ‘रविशंकर मथुरा में एक ऐसा विद्यालय स्थापित करने के प्रयास में हैं जहां वह अपने संगठन के उद्देश्यों के अनुरूप बच्चों को शिक्षित व सुसंस्कृत कर सकें.’ 

उन्होंने बताया, ‘श्रीश्री ने इस कार्य के लिए अपेक्षित भूमि उपलब्ध कराने का आग्रह किया है जिसके लिए प्रयास किए जाएंगे. यदि वह यहां ऐसा विद्यालय स्थापित करना चाहते हैं तो यह इस क्षेत्र के विकास की एक नई राह खोलने का माध्यम बन सकता है.’


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement